Arjun Ki Chhal से क्या होता है – अर्जुन की छाल की तासीर गर्म होती है या ठंडी

आज इस पोस्ट में हम जानेंगे Arjun Ki Chhal Se Kya Hota Hai और अर्जुन की छाल की तासीर गर्म होती है साथ ही जानेंगे अर्जुन की छाल का पाउडर और अर्जुन की छाल का उपयोग कैसे करते हैं.

Arjun Ki Chhal Se Kya Hota Hai और अर्जुन की छाल की तासीर गर्म होती है

साथ ही पोस्ट में जानेंगे अर्जुन की छाल किस काम में आती है और अर्जुन की छाल के फायदे और नुकसान बताइए. इन सब के बारे में हम इस पोस्ट में विस्तार से जानेंगे.

Arjun Ki Chhal Se Kya Hota Hai

अर्जुन के पेड़ की छाल में कई औषधीय गुण होते हैं जिसके कारण यह मानव शरीर के लिए बहुत उपयोगी एवं फायदेमंद होता है.

अर्जुन के पेड़ की छाल से बना काढ़ा पीने से हमारा हृदय एवं स्वास्थ्य हेल्थी बना रहता है. यह एसिडिटी एवं कब्ज की समस्या में भी लाभकारी होता है.

आप चाहे तो अर्जुन की छाल का पाउडर बनाकर भी इसका इस्तेमाल कर सकते हैं. यह हार्ट अटैक और हार्ट फेल होने देती हृदय संबंधी बीमारियों के इलाज में भी फायदेमंद होता है.

इसके अलावा अर्जुन की छाल छय, पित्त, कफ, सर्दी-जुखाम, खासी, अधिक कोलेस्ट्रॉल और मोटापे जैसी कई बीमारियों को रोकने और उनका इलाज करने में उपयोगी होती है.

अर्जुन की छाल की तासीर गर्म होती है या ठंडी

आयुर्वेद में अर्जुन की छाल की तासीर ठंडी बताई गई है, इसके नियमित सेवन से आपको कभी भी मुंह में छाले की समस्या नहीं होती है. साथ ही यह ब्लड को पतला करने में भी कारगर होती है.

Arjun Ke Ped Ki Chhal

अर्जुन की छाल अर्जुन नामक पेड़ से निकाली जाती है. अर्जुन का पेड़ 70 से 80 फ़ीट ऊंचा होता है, इसके पत्ते अमरूद के पत्ते जैसे ही होते हैं पर थोड़े लंबे और नुकीले होते हैं.

अर्जुन के पेड़ की छाल हमारे शरीर के लिए फायदेमंद होती है. यह कई तरह की बीमारियों से लड़ने और उन्हें कम करने में औषधि के रूप में काम आती है.

Arjun Ki Chhal Kis Kam Mein Aati Hai

अर्जुन की छाल औषधि के रूप में काम आती है. इसकी छाल का पाउडर, काढ़ा और चाय बना कर इसका सेवन किया जाता है. इससे  हमारी इम्यूनिटी पावर भी बढ़ती है.

यह पाचन तंत्र को ठीक करने, पेट की समस्या को दूर करने, कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने के लिए, कील मुहांसों को दूर करने के लिए, डायबिटीज और कैंसर जैसी बीमारियों के इलाज में भी काम आती है.

Arjun Ki Chhal Ka Upyog

अर्जुन की छाल औषधि के रूप में काम आती है, इसका कई तरह से उपयोग किया जा सकता है:

  • अर्जुन की छाल का काढ़ा बनाकर पीने से हार्ट संबंधी परेशानियों को कम करने में फायदा होता है.
  • अर्जुन की छाल और दालचीनी का काढ़ा कोलेस्ट्रोल को कम कर हृदय को स्वस्थ बनाता है.
  • अर्जुन की छाल और दालचीनी की चाय भी बनाई जा सकती है जो डायबिटीज जैसी बीमारी के इलाज में फायदेमंद होती है.
  • अर्जुन की छाल का पाउडर बना कर भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है. यह पाउडर कब्ज एवं पेट संबंधित समस्याओं के इलाज में लाभकारी होता है.
  • अर्जुन की छाल का उपयोग पिंपल्स को दूर करने में भी किया जाता है और यहां सूजन को कम करने में भी फायदेमंद होती है.
  • अर्जुन की छाल हड्डियों को जोड़ने के साथ-साथ इन्हें मजबूत करने में भी उपयोगी होती है.
  • बुखार एवं सर्दी खांसी को कम करने में भी अर्जुन की छाल का उपयोग किया जाता है.
अर्जुन की छाल के फायदे और नुकसान बताइए

अर्जुन की छाल के फायदे:

  • कान में दर्द होने पर अर्जुन के पत्ते का रस कान में डालने से कान के दर्द में आराम मिलता है.
  • अर्जुन की छाल हृदय को स्वस्थ रखने और हृदय से संबंधित बीमारियों के निवारण में फायदेमंद होता है.
  • पेट में गैस, एसिडिटी एवं कब्ज की समस्या होने पर इसका काढ़ा बनाकर पीने से फायदा मिलता है.
  • अर्जुन की छाल और नीम की छाल का काढ़ा बनाकर पीने से डायबिटीज में फायदा मिलता है.
  • इसकी छाल कील मुहांसों को दूर करने के साथ-साथ सूजन को कम करने में भी कारगर होती है.
  • अर्जुन की छाल सर्दी खांसी में तो आराम दिलाती है इसके अलावा यह बुखार उतारने में भी फायदेमंद होती है.

अर्जुन की छाल के नुकसान:

अर्जुन की छाल के अधिक सेवन से कुछ नुकसान भी देखने को मिल सकते हैं:

  • इसके अधिक सेवन से आपको कमजोरी भी महसूस हो सकती है.
  • अर्जुन की छाल के ज्यादा सेवन से जी मचलने या उल्टी की समस्या भी हो सकती है.
  • अर्जुन की छाल का अधिक सेवन करने से सिर दर्द और शरीर के अन्य हिस्सों में दर्द हो सकता है.
  • कुछ लोगों को अनिद्रा की समस्या भी हो सकती है.
  • कुछ मामलों में कुछ लोगों को इसके सेवन से पेट दर्द और कब्ज की समस्या भी हो सकती है.

अर्जुन की छाल कैसे लेनी चाहिए

अर्जुन के पेड़ की छाल को हम कई तरह से उपयोग कर सकते हैं. अर्जुन की छाल को बारीक पीसकर इसका पाउडर बनाकर दूध और पानी के साथ लिया जा सकता है.

इसकी छाल को पानी में उबालकर और फिर इस पानी को छानकर भी इसका सेवन किया जा सकता है. अर्जुन की छाल और दालचीनी का काढ़ा और चाय बना कर भी इसे इस्तेमाल कर सकते हैं.

Arjun Ki Chhal Ka Powder

अर्जुन की छाल का पाउडर कई रोगों को कम करने और उनका निवारण करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है. इसके पाउडर का नियमित सेवन करने से शरीर को कई तरह के फायदे होते हैं.

इसका पाउडर हड्डी जोड़ने में मदद करता है, कुष्ठ रोग में भी फायदेमंद होता है, गैस की समस्या को कम करता है, हृदय संबंधित बीमारियों को रोकने और उनके इलाज करने में भी कारगर है, कील मुहांसों को कम करने में फायदेमंद है.

इसके अलावा बुखार और टीबी एवं अन्य बीमारियों से लड़ने और उनमें आराम दिलाने में भी फायदेमंद होता है.

Arjun Ki Chaal for Fatty Liver

अर्जुन की छाल फैटी लीवर को कम करने में भी फायदेमंद होती है. इसके लिए आप अर्जुन की छाल और दालचीनी की चाय बना कर पी सकते हैं इससे आपको फायदा होगा

इसके अलावा यह लीवर की समस्या, लीवर के आसपास दर्द और सूजन की समस्या के निवारण मैं भी फायदेमंद होता है.

अर्जुन की छाल ब्लड प्रेशर

अर्जुन की छाल ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में मदद करती है क्योंकि इसमें ट्राइग्लिसराइड मौजूद होता है जो ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करता है. यह ब्लड शुगर को भी कंट्रोल करने में कारगर होता है.

अर्जुन की छाल से ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के लिए आप सबसे पहले इसे बारीक पीसकर इसका पाउडर बना लें. अब इस पाउडर को दूध या पानी में डालकर इसका नियमित सेवन करने से ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है.

Arjun Ki Chhal Ki Chai Kaise Banaen

अर्जुन की छाल की चाय बनाने के लिए आप नीचे बताई गई इस टेप को फॉलो कर सकते हैं:

  • सबसे पहले एक बर्तन में थोड़ा पानी ले लीजिये और इसे उबलने के लिए गैस पर रख दीजिये
  • अभी इस पानी में अर्जुन की छाल या छाल का पाउडर दाल दीजिये
  • अब इसमें चाय पत्ती और मिठास के लिए शुगर की जगह शहद या मिश्री का उपयोग करें
  • जब चाय अच्छी तरह उबाल जाए तो इसे छान लीजिये 
  • आपकी गर्मागर्म अर्जुन की छाल की चाय तैयार है, आप इसे पी सकते है. 

Arjun Chhal Ki Chai Peene Ke Fayde

अर्जुन की छाल की चाय पीने के कई फायदे होते है जिनमे से कुछ निम्न है:

  • अर्जुन छाल की चाय हार्ट संबंधित बीमारियों में फायदेमंद होती है.
  • अर्जुन की छाल की चाय पीने से कफ की समस्यां भी दूर होती है.
  • इसकी चाय पीने से सर्दी जुखाम और बुखार में भी आराम मिलता है.
  • लिवर सम्बंधित बिमारियों के इलाज में भी अर्जुन छाल की चाय फायदेमंद होती है.
  • इसमें कैल्शियम भी भरपूर होता है अतः यह हड्डियों के लिए भी उपयोगी होती है.
Arjun Ki Chhal Aur Dalchini Ka Kadha Kaise Banaen

अर्जुन की छाल का काढ़ा बनाने के लिए आपको सबसे पहले एक चम्मच अर्जुन की छाल का पाउडर और आधा चम्मच दालचीनी का पाउडर ले. 

अब दोनों मिश्रण को एक गिलास पानी में मिलाएं और इसे गैस पर रखकर उबलने देना है. इसने अपनी जरूरत के मुताबिक इसमें अन्य तत्व भी मिला सकते है.

जब पानी अच्छी तरह उबल जाए और आधा रह जाए तो इसे छान ले. आपका काढ़ा तैयार है जिसे आप पी सकते है.

Arjun Ki Chhal Aur Dalchini Peene Ke Fayde

अर्जुन की छाल और दालचीनी पीने के फायदे निम्नलिखित हैं:

  • दालचीनी और अर्जुन की छाल कैंसर को रोकने वाले गुणों से युक्त होती है, जिसकी वजह से यहां के लोगों के लिए भी फायदेमंद है. इसके अलावा यह कैंसर के खतरे को भी काम करती है.
  • अर्जुन की छाल और दालचीनी ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में भी फायदेमंद होती है. इसके अलावा यह डायबिटीज के रोगियों के लिए भी फायदेमंद होती है.
  • अर्जुन की छाल और दालचीनी के सेवन से इम्युनिटी भी बढ़ती है.
  • दोनों मिश्रण के सेवन से ब्लड सर्कुलेशन भी बेहतर होता है.
  • दालचीनी और अर्जुन की छाल का मिश्रण मोटापे को काम करने में भी फायदेमंद होती है.
Arjun Ki Chhal : FAQs
Arjun Ki Chhal Ke Nuksan

अर्जुन की छाल के अधिक उपयोग से कुछ साइड इफेक्ट और नुकसान भी देखने को मिल सकते हैं जैसे कमजोरी महसूस होना, उल्टी, सिर दर्द, बदन दर्द और कई बार अनिद्रा की समस्या भी हो सकती है.

Arjun Ki Chhal Ki Taseer

अर्जुन की छाल की तासीर ठंडी होती है.

Arjun Ki Chhal Ka Ped

अर्जुन का पेड़ 70 से 80 फ़ीट ऊंचा होता है, इसके पत्ते अमरूद के पत्ते जैसे ही होते हैं पर थोड़े लंबे और नुकीले होते हैं

अर्जुन की छाल साइड इफेक्ट्स

उल्टी, सिर दर्द, बदन दर्द, कमजोरी महसूस होना, घबराहट आदि.

Arjun Ki Chaal Kaise Leni Chahiye

अर्जुन की छाल को पीस कर उसका पाउडर बनाकर इसे पानी या दूध में मिलाकर भी पीया जा सकता है. इसके अलावा आप चाहे तो अर्जुन की छाल को उबाल कर भी इसे पी सकते हैं.

Arjun Ki Chhal Kaisi Hoti Hai

अर्जुन की छाल दिखने में बाहर की तरफ से सफ़ेद, अंदर की और से चिकनी, मोटी और हलकी गुलाबी रंग की होती है. इसका स्वाद कड़वा और तीखा होता है.

Arjun Ki Chhal Ka Kya Upyog Hai

अर्जुन की छाल हृदय सम्बंधित रोग के इलाज में, पेट की समस्यां में, ब्लड शुगर, मूत्र रोग, ब्लीडिंग, हड्डी जोड़ने, घुटनो के दर्द आदि के इलाज में उपयोग की जाती है.

उम्मीद करते हैं आप को हमारी यह पोस्ट Arjun Ki Chhal Se Kya Hota Hai और अर्जुन की छाल की तासीर गर्म होती है पसंद आई होगी.

अगर इस पोस्ट से कुछ नया जानने को मिला और तो अच्छी लगी हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर कर दीजिए और इस पोस्ट से जुड़ा कोई भी सवाल हो तो उसे आप नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं.

Questions & Answer:
Skin Light Lagane Se Kya Hota Hai - Skin Light Lgane Ke Fayde Or Nuksaan

Skin Light लगाने से क्या होता है – लगाने के फायदे और नुक्सान, सही तरीका

Kya Kaise
Hotel Management Course Kaise Karen

Hotel Management Course कैसे करें – 10th – 12th के बाद मैनेजमेंट कोर्स कैसे करे

EducationJob
Aloe Vera Khane Se Kya Hota Hai और Aloe Vera Khane Ke Fayde Aur Nuksan

Aloe Vera खाने से क्या होता है, सही तरीका, तासीर, खाने के फायदे नुकसान

Health
Author :
प्रिये पाठक, आपका हमारी वेबसाइट Lipibaddh.com पर स्वागत है, इस वेबसाइट का काम लोगों को हिंदी भाषा में देश, विदेश एवं दैनिक जीवन में काम आने वाली जरुरी चीजों के बारे में जानकरी देना है.
Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *