बिजली का अविष्कार किसने किया – बजली कैसे बनती है

इस Article की मदद से हम जानेंगे की Bijli Ka Avishkar Kisne Kiya और Bijli Kaise Banta Hai की पूरी जानकारी इस पोस्ट में विस्तार से जानेंगे.

Bijli Ka Avishkar Kisne Kiya और Bijli Kaise Banta Hai

तो चलिए शुरू करते है Bijli Ka Avishkar Kisne Kiya पढने से….

Bijli Ka Avishkar Kisne Kiya

बिजली प्रकृति में है अत इसका अविष्कार नही किया गया है बल्कि इसकी खोज की गई है. और बिजली को उत्पन्न किया जाता है. बिजली की खोज महान यूनानी  दार्शनिक और भौतिक वैज्ञानिक थेल्स द्वारा किया गया है. एम्बर (चिड के पेड़ के छाल का सडा हुआ रस या गोंद ) को कपडे पर रगड़ने से यह सूखे पत्तो आदि को आकर्षित करने की क्षमता रखता है.

एम्बर को ग्रीक भाषा में इलेक्ट्रोन कहा जाता था इसलिए थेल्स ने इसका नाम विधुत रखा और आगे जाकर  यह शब्द  बिजली के लिए उपयोग किया जाने लगा.

1930 में कई दार्शनिको ने ताबे के बर्तन पाये जो बैटरी बनाने के लिए उपयोग किये जाते थे. और प्राचीन रोमन स्थानों को रोशन करते थे. ऐसा उपकरण बदाद में खुदाई के दौरान मिला था, माना जाता है की इसका इस्तेमाल बैटरी के लिए किया जाता था.

उसके बाद 17  वी शताब्दी में बिजली से जुडी कई खोज हो चुकी थी. जैसे जनरेटर, बिजली में सकारात्मक और नकारात्मक,कंडक्टर, इंसुलेटर आदि.

इसके बाद 1800 में  इटली के भौतिक वैज्ञानिक एलेसेंड्रडो वोल्टा ने एक प्रयोग में पाया की विशेष रासायनिक अभिक्रियाओ की मदद से  बिजली बना सकते है. और उन्होंने 1800 में वोल्टाई पाईल का अविष्कार किया जो लगातार बिजली पैदा कर सकता है.

Bijli Ki Khjo Kisne Ki

बिजली उर्जा का एक रूप है. और उर्जा प्रकृति में पहले से मौजूद अत उर्जा का अविष्कार नही किया गया है बल्कि इसकी खोज की गयी है. कई प्रयोगों की मदद से प्रकाश और बिजली के बिच सम्बन्ध बनाया गया. लेकिन इसे खोजने का श्रेय बेंजामिन फ्रेंकलीन को दिया जाता है.

1831 में जब माइकल फैराडे ने इलेक्ट्रिक डायनेमो का अविष्कार किया तो बिजली का प्रयोग तकनीक के क्षेत्र में किया जाने लगा. इससे बिजली पैदा करने की समस्या दूर हो गई.

बिजली क्यों कड़कती है

वास्तव में हवा में प्रवाहित विधुत धरा से भुत अधिक गर्मी पैदा होती है. हवा में गर्मी आने से यह बहुत तेजी से फैलती है, और इसके लाखो करोडो अणु आपस में टकराते है. इन अणुओं के आपस में टकराने से ही गरज की आवाज उत्पन्न होती है. और प्रकाश की गति अधिक होने से बिजली की चमक हमें पहले दिखाई देती है. इस प्रक्रिया को हम बिजली का कडकना कहते है.

Bijli Kaise Banta Hai

बिजली इस प्रकार से बनता है जब किसी तार के चारो तरफ चुम्बक रख के बहुत तेजी से घुमाया जाता है तब चुम्बकीय बल रेखाए काटने लगती है और उस तार में करेंट उत्पन्न होता है और टरबाईन के साफ्ट को इससे जोड़ दिया जाता है. जब  टरबाईन घूमेगा तो यह तार भी घूमेगा जिससे बिजली उत्पन्न हो जाती है.

Bijli Kyu Chamakti Hai

बिजली इसलिए चमकती है क्योकि  हवा में प्रवाहित होने वाली विधुत धारा में बहुत अधिक गर्मी पैदा होती है. हवा में गर्मी आने से यह तेजी से फैलती है जिससे इसमे मौजूद लाखो करोडो अणु आपस में टकराते है. और इन अणुओं के आपस में टकराने से ही गरज की आवाज आती है. लेकिन बिजली की चमक हमें पहले दिखाई देती है क्योकि प्रकाश की गति बहुत अधिक होती है.

बिजली कैसे पैदा होता है

बिजली पैदा करने के बहुत से स्रोत है. ऐसे बहुत से साधन है जिनके माध्यम से बिजली पैदा की जा सकती है और वर्तमान में की जा रही है. आइये देखते है उन साधनों से बिजली कैसे पैदा की जाती है –

  1. पानी से बिजली पैदा करना – पानी से बिजली पैदा करने के लिए नदियों में बांध बनाकर पानी को जमा किया जाता है. फिर उचाई से उसे टरबाई में गिराया जाता है और उससे जो बिजली बनती है उसे तारो के माध्यम से दुसरे स्थानों पर पहुचाया जाता है.
  2. कोयले द्वारा बिजली पैदा करना – जहा नदियों पर बांध नही बनाया जा सकता है वहा कोयले द्वारा पानी को गर्म कर के उसके भाप को तेजी से टरबाईन में डाला जाता है, जिससे बिजली पैदा होती है.
  3. पवन चक्की के द्वारा बिजली उत्पन्न करना – जिन स्थानों पर साल भर तेज हवा चलती है वहा पवन चक्की के द्वारा बिजली उत्पन्न की जाती है. लोहे के बड़े बड़े खम्भों पर बड़े बड़े पंखे लगाये जाते है. हवा चलने पर ये पंखे घूमते है और टरबाईन को भी घुमाते है जिससे बिजली उत्पन्न होती है.
  4. डीजल के द्वारा बिजली उत्पन्न करना – डीजल के द्वारा इंजन शुरू किया जाता है. और ये इंजन चुम्बको के बिच स्थित कुंडली को घुमाता है, जिससे बिजली पैदा होती है.जनरेटर का उपयोग किया जाता है और ये जनरेटर डीजल के माध्यम से चलता है.
  5. सौर उर्जा के द्वारा बिजली उत्पन्न करना – सूर्य के द्वारा बिजली उत्पन्न करने की प्रक्रिया को सौर उर्जा कहा जाता है. सोलर प्लेट पर सीधे सूरज की किरने पड़ने पर बिजली पैदा होती है. इस बिजली को बैटरी के द्वारा जमा कर के घरेलु उपकरणों को चलने में उपयोग किया जाता है.

Bijli Kaise Chamakti Hai

बिजली का चमकना एक प्रक्रिया है. जिसमे पहले हवा में बहने वाले विधुत में बहुत तेज गर्मी पैदा होती है और हवा में गर्मी तेजी से फ़ैल जाती है. जिसके परिणामस्वरूप हवा में गर्मी से उत्पन्न करोडो अणु आपस में टकराते है, जिससे गरज की आवाज उत्पन्न होती है. चुकी प्रकाश की गति बहुत तेज होती है इसलिए पहले हमे बिजली की चमक दिखाई देती है.

Sapne Me Bijli Girte Dekhna

सपने में बिजली गिरते देखना अच्छा नही मानते है. इसे अशुभ माना जाता है.ज्योतिश विज्ञानं के अनुसार ये सपना परेशानियों का संकेत देता है. अगर आप अपने परिवार के साथ सुख शांति के साथ जीवन व्यतीत कर रहे है और सपने में आकाशीय बिजली गिरते देखते है तो यह इस बात का संकेत है की आने वाले समय में आपकी आपके परिवार के साथ अनबन हो सकती है. इसके आलावा यह सपना आपके आर्थिक परेशानी का करण भी बन सकता है. हो सकता है की आपको गरीबी देखनी पड़े. और हो सकता है की आपको अपने व्यसाय में समस्याओ का सामना करना पड़े.

बिजली विभाग हेल्पलाइन नंबर Up

यूपी में किसी भी प्रकार के बिजली से जुडी समस्या के लिए कुछ टोल फ्री नंबर बिजली विभाग द्वारा जारी किये गये है. जो इस प्रकार है – 1912 और 18001804334

Bijli Connection Kaise Le

बिजली का कनेक्सन लेने के लिए अपने क्षेत्र के बिजली विभाग में जाये और आवेदन करे. आवेदन करने के लिए एक फॉर्म भरना पड़ता है जिसके साथ अपना पहचान पत्र के रूप में वोटर कार्ड, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट, पैन कार्ड और राशन कार्ड की फोटो कापी लगनी होती है. और अज कल घर बैठे विभाग के टोल फ्री नंबर पर फोन कर के भी बिजली कनेक्सन के लिए आवेदन कर सकते है. आवेदन करने के बाद विभाग द्वारा आपके घर पर आकर मीटर लगाया जायेगा. और उसके कुछ चार्ज लिया जायेगा.

Bijli Office Complaint Number

बिजली आफिस में शिकायत दर्ज करने के लिए एक नंबर 1912 , इसके अलावा अलग अलग क्षेत्रके लिए अलग अलग नंबर  है. जैसे छतीसगढ़ में ये नंबर हैं –

  • गोल बाजार बिलासपुर7 7 5 2 4 0 3 5 8 6
  • तिफरा7 7 5 2 4 2 7 0 4 4
  • सी एस इ बी7 7 5 2 4 2 7 0 9 1
  • ट्रांसपोर्ट नगर7 5 8 7 2 9 8 6 8 4  आदि

Bijli Office Helpline Number

बिजली आफिस का हेल्पलाईन नंबर है 1912

इसके अलावा कुछ क राज्लियों के लिए  ये नंबर भी उपलब्ध है –

  • अन्द्रप्रदेश –  1 8 0 0 4 2 5 1 5 5 3 3 3
  • आसाम –  3 6 1 2 3 1 3 0 6 9
  • बिहार –  1 8 0 0 3 4 5 6 1 9 8
  • छत्तीसगढ़ –  1 8 0 0 2 3 3 4 6 8 7
  • दादरा और नगर हवेली –  2 6 0 2 4 0 6 5 0 0
  • दमन और दिव –  1 8 0 0 2 7 0 5 5 5 1
Bijli Toll Free Number

बिजली के लिए ये रहे टोल फ्री नंबर –

  • गोवा – 9 1 8 3 2 2 4 9 0 8 0 0
  • गुजरात – 1 8 0 0 2 3 3 3 0 0 3
  • हरयाणा – 1 8 0 0 1 8 0 1 5 5 0
  • उत्तर हरियाणा – 1 8 0 0 1 8 0 4 3 3 4
  • हिमाचल प्रदेश – 1 8 0 0 1 8 0 8 0 6 0
  • झारखण्ड – 1 8 0 0 1 2 3 8 7 4 5

Bijli Ghar Ka Number

बिजली घर का नंबर ये रहे –

  • कर्नाटक – 1 9 1 2
  • केरल – 4 7 1 2 5 5 5 5 4 4
  • मध्यप्रदेश – 1 8 0 0 2 3 3 1 9 1 2
  • महारास्ट्र – 1 8 0 0 1 0 2 3 4 3 5
  • मणिपुर –  1 9 1 2
  • मेघालय – 1 9 1 2
  • मिजोरम – 3 8 9 2 3 2 1 6 5 0
Bijli Office Ka Number

बिजली आफिस का नंबर

  • नागालेंड – 3 7 0 2 2 4 0 1 7 8
  • न्यू दिल्ल्ली – 1 8 0 0 1 0 3 9 7 0 7
  • ओड़िसा – 6 7 4 2 3 9 1 1 1 0
  • पांडिचेरी – 1 9 1 2
  • पंजाब – 1 9 1 2

Bijli Chori Ka Jurmana

बिजली अधिनियम 2 0 0 3  में बिजली चोरी करने वालो के लिए सजा का प्रावधान है. बिजली अधिनियम 2 0 0 3  की धारा 135 और 138 के अनुसार बिजली चोरी करने वालो को दंडित किया जाता है.

धारा 135 में बिजली चोरी और धारा 138 में बिजली चोरी के इरादे से मीटर के साथ छेड़ छाड़ करना आता है. और ऐसा करने पर सजा और जुर्माना दोनों का प्रावधान है.

अगर कोई घरेलु उपभोक्ता बिजली चोरी करते पाया जाता है तो उसके ऊपर 1 किलोवाट के हिसाब से 4000 रूपए का शुल्क लगता है. वही कनेक्सन 2 किलोवाट का है तो 8000 का जुर्माना देना होता है.

Bijli Helpline Number

बिजली हेल्पलाईन  नंबर

  • राजिस्थान – 1 8 0 0 1 0 2 1 9 1 2
  • सिक्किम – 9 9 3 3 0 1 8 2 6 8
  • तमिलनायडू – 9 4  4 5 8 5  0 8 2 9
  • तेलंगाना – 4 0 2 3 4 3 1 1 7 8
  • त्रिपुरा – 3 8 1 2 3 5 3 5 0 2
  • उतराखंड – 1 8 0 0 4 1 9 0 4 0 5
  • उत्तर प्रदेश – 1 8 0 0 1 8 0 0 4 4 0
  • वेस्ट बेंगोल – 1 9 1 2

उम्मीद करते है आपको हमारी यह पोस्ट Bijli Ka Avishkar Kisne Kiya और Bijli Kaise Banta Hai पसंद आई होगी.

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर कर दीजिए और इस आर्टिकल से जुड़ा कोई भी सवाल हो तो उसे आप नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर के पूछ सकते है.

Questions & Answer:
Silai Machine Ka Avishkar Kisne Kiya और सिलाई मशीन के अंगों के नाम

Silai Machine का आविष्कार किसने किया – सिलाई मशीन के अंगों के नाम

Avishkar
Pan Card Se Kya Hota Hai और Pan Card Kaise Banaye Mobile Se

Pan Card से क्या होता है – मोबाइल से कैसे बनाए, बनाने के लिए डाक्यूमेंट्स

Kya Kaise
Keyboard Ka Avishkar Kisne Kiya और Keyboard Ke Bare Mein Bataiye

Keyboard का आविष्कार किसने किया – कीबोर्ड के बारे में बताइये

Avishkar
Author :
प्रिये पाठक, आपका हमारी वेबसाइट Lipibaddh.com पर स्वागत है, इस वेबसाइट का काम लोगों को हिंदी भाषा में देश, विदेश एवं दैनिक जीवन में काम आने वाली जरुरी चीजों के बारे में जानकरी देना है.
Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *