BSc Computer Science से क्या होता है – बीएससी कंप्यूटर साइंस के बाद क्या करे

इस पोस्ट में हम जानेंगे की BSc Computer Science Se Kya Hota Hai और BSc Computer Science Ke Baad Kya Kare साथ ही जानेंगे बीएससी कंप्यूटर साइंस क्या होता है और कैसे करें.

BSc Computer Science Se Kya Hota Hai और BSc Computer Science Ke Baad Kya Kare

साथ ही पोस्ट में जानेंगे की बीएससी कंप्यूटर साइंस के सब्जेक्ट, इसके बारे में जानकारी और बीएससी कंप्यूटर साइंस करने के फायदे क्या है. इन सब के बारे में इस पोस्ट में विस्तार से जानेंगे.

BSc Computer Science Kya Hota Hai

बीएससी कंप्यूटर साइंस बैचलर डिग्री कोर्स है। जिसकी अवधि 3 साल होती है। इस कोर्स में एडमिशन के लिए कैंडिडेट को पीसीएम सब्जेक्ट के साथ 12वीं पास होना चाहिए। आजकल अनेक कॉलेज में Bsc Computer science कोर्स संचालित किया जा रहा है। जंहा से आप इस कोर्स को कम्प्लीट कर सकते हैं।

BSc Computer Science Kaise Kare

इस कोर्स में एडमिशन हेतु कैंडिडेट को पीसीएम विषय के साथ 12वीं पास होना आवश्यक होता है। आजकल अनेक कॉलेज में Bsc Computer science  के कोर्स संचालित हो रहे है। जंहा से आप इस कोर्स को कर सकते हैं। इसकी फीस लगभग 60 हजार से 1 लाख प्रतिबर्ष तक हो सकती है। इस कोर्स को पूरा करने के बाद आप Computer Science के क्षेत्र में आसानी से कैरियर बना सकते हैं।

BSc Computer Science Ke Subject

बीएससी कंप्यूटर साइंस सब्जेक्ट 

कंप्यूटर विज्ञान के भीतर अध्यन के प्रमुख क्षेत्रो में computer system, artificial intelligence, network, database, human computer interaction, numeric analysis, software engineering, vision & graphics और computer theory जैसे विषय शामिल किए जाते है.

BSc Computer Science Me Kya Hota Hai

यह एक बैचलर डिग्री प्रोग्राम है , जो तीन वर्षों के लिए होता है | यह एक टेक्नोलॉजी आधारित प्रोग्राम होता है | जिसमें इंजीनियरिंग सेक्टर के लोगों के लिए बहुत अच्छे जॉब के अवसर होते हैं, जिसमें आप आईटी, टेलीकम्युनिकेशन, डेटाबेस मैनेजमेंट, वेब डिजाइनिंग, सॉफ्टवेयर डिजाइनिंग, मल्टीमीडिया, एम्बेडेड सिस्टम, एप डेवलपमेंट, गेमिंग इंडस्ट्री, हार्डवेयर एंड नेटवर्किंग में  नॉलेज हो  सकती  हैं |

कंप्यूटर साइंस के द्वरा सेही हम उस algorithm का उपयोग कर पाते है, जिसके द्वारा digital information के साथ ह (manipulate), संचार (communication) और उसको store करना सम्भव हो सका है. ये  कम्प्यूटर साइस  का सबसे महत्वपूर्ण पहलू समस्या समाधान है|

यहां विभिन्न प्रकार के business, scientific और social context में होने वाली समस्याओं को हल करने के लिए उपयोग किये जाने वाले software और hardware का design, development और उनका  प्रयोग एव analysis किया जाता है.

BSc Computer Science Se Kya Hota Hai

आज का आधुनिक दौर  पूरी तरह से कंप्यूटर युग हो चुका है। आप किसी भी क्षेत्र को ले लें। हर क्षेत्र में Computer और IT का ही ज़्यादतर इस्तेमाल हो रहा है। इसलिए Computer Science Engineering में कैरियर काफी उज्ज्वल नजर आता है। जिन स्टूडेंट्स की रुचि कंप्यूटर साइंस और इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी में है, वे लोग इस क्षेत्र में काफी उचाईयों पर जा सकते हैं और इस क्षेत्र में उनके लिए सुनहरे मौके हैं।

इसलिए इस क्षेत्र में IT एक्सपर्ट और Computer Science Engineer की काफी मांग बढती जा रही है। लेकिन आज भी कहीं न कहीं अच्छे आईटी एक्सपर्ट की काफी कमी है।  परंतु धीरे-धीरे  कंप्यूटर साइंस का  प्रयोग भी  बढ़ रहा है। इसी कारण Computer Science Engineer की डिमांड भी तेजी से बढ़ रही है। इसलिए स्टूडेंट्स का पिछले कुछ सालों कंप्यूटर साइंस की ओर रुझान भी बढ़ रहा है.

BSc Computer Science Ke Baad Kya Kare

बीएससी कंप्यूटर साइंस करने के बाद आप आईटी, टेलीकम्युनिकेशन, डेटाबेस मैनेजमेंट, वेब डिजाइनिंग, सॉफ्टवेयर डिजाइनिंग, मल्टीमीडिया, एम्बेडेड सिस्टम, एप डेवलपमेंट, गेमिंग इंडस्ट्री, हार्डवेयर एंड नेटवर्किंग आदि में जॉब कर सकते हैं।

इन क्षेत्रों में रोजगार के काफी अच्छे विकल्प होते हैं। इसलिए स्टूडेंट्स का पिछले कुछ सालों कंप्यूटर साइंस की ओर रुझान भी बढ़ रहा है। Bsc in Computer Science करने के बाद यंहा पर कुछ आकर्षक एवं उपयुक्त कैरियर विकल्प मौजूद हैं जो निम्न हैं –

Hardware Engineer, Software Engineer, Database Adminstrater, System Analyst & Networking Engineer आदि सब उपयुक्त पद हैं.

BSc Computer Science Ke Baad Job

कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में जाब के बहुत अच्छे अवसर हैं। Bsc in Computer Science करने के बाद आप आईटी, टेलीकम्युनिकेशन, डेटाबेस मैनेजमेंट, वेब डिजाइनिंग, सॉफ्टवेयर डिजाइनिंग, मल्टीमीडिया, एम्बेडेड सिस्टम, एप डेवलपमेंट, गेमिंग इंडस्ट्री, हार्डवेयर एंड नेटवर्किंग आदि में जॉब कर सकते हैं। इस क्षेत्र में जॉब से संबंधित कुछ जानकारियां निम्नलिखित हैं-

Job Profile in Bsc Computer Science

  • सॉफ्टवेयर डेवलपर
  • नेटवर्किंग इंजीनियर
  • एप डेवलपर
  • डाटाबेस एडमिनिस्ट्रेटर
  • कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियर
  • कंप्यूटर नेटवर्क आर्किटेक्ट
  • कंप्यूटर सिस्टम एनालिस्ट
  • वेब डेवलपर
  • कंप्यूटर एंड इन्फॉर्मेशन रिसर्च साइंटिस्ट
  • इन्फॉर्मेशन सिक्योरिटी एनालिस्ट
  • आईटी प्रोजेक्ट मैनेजर
  • कंप्यूटर एंड इन्फॉर्मेशन सिस्टम मैनेजर
  • ई कॉमर्स स्पेशलिस्ट
  • कंप्यूटर प्रोग्रामर
BSc Computer Science Ke Fayde

BSc Computer Science के फायदे

आज कल हर एक फील्ड में बीएससी छात्रों की डिमांड बढ़ती ही जा रही हैं चाहें सरकारी हो या गैर सरकारी किसी भी क्षेत्र में साइंस के महत्व को हम  नकार नहीं  सकते इसलिए ही आज हर माता पिता यही चाह्ते है कि उसका बच्चा साइंस से पढ़ाई करें क्योंकि बीएससी कम्प्यूटर साइंस करने से हमे बहुत सारे फायदे होते है-

  • अगर आप बीएससी करते हैं तो निश्चित तौर पर जिसका फ़ायदा आपको सरकारी परीक्षाओं को पास करने के लिए भी होगा।
  • साइंस साइड से ग्रेजुएशन करने के बाद हमारी पर्सनालिटी भी काफी डेवेलोप हो जाती हैं औऱ हमारे अंदर एक स्मार्टनेस आ जाती हैं।
  • बीएससी कर लेने के बाद हमारे लिए प्राइवेट सेक्टर में भी जॉब के लिए बहुत से अवसर उपस्थित रहते हैं ऐसे में अगर हम सरकारी नौकरी नहीं भी मिले तो हम प्राइवेट नौकरी करके आसानी से एक सुखी और समृद्ध जिंदगी जी सकते हैं।
  • हम अगर आर्ट्स से अपना ग्रेजुएशन करने वाले लोग  बिना ट्यूशन के भी अपनी पढ़ाई अच्छे से मेन्टेन कर सकते हैं लेकिन अगर साइंस के छात्रों को ट्यूशन की जरूरत पड़ती है ऐसे में अगर हम बीएससी करने के बाद अगर एमएससी या और कोई बड़ा कोर्स कर ले तो हम साइंस के स्टूडेंस को ट्यूशन देकर अच्छी कमाई कर सकते हैं और यह काम हम नौकरी के साथ भी कर सकते हैं।
BSc Computer Science – FAQs 
बीएससी कंप्यूटर साइंस की जानकारी

बीएससी कंप्यूटर साइंस तीन साल की बेचलर डिग्री है जिसे आप 12 वी कक्षा उत्तीर्ण करने के बाद बड़ी ही आसानी से कर सकते है. इस कोर्स को आप किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से कर सकते है. इस पोस्ट में इससे जुडी कई तरह की जानकारी दी गयी है. जानकारी के लिए इस पोस्ट को पूरा पड़े.

BSc Computer Science Ke Baad Konsa Course Kare

कंप्यूटर के क्षेत्र में आगे बढ़ने वाले स्टूडेंट्स को BSc या BCA के बाद MCA कोर्स करना होता है। यह भी एक पोस्ट ग्रैजुएट कोर्स होता है। इस कोर्स के लिए ग्रेजुएशन में 55% अंक होने चाहिए।

उम्मीद करते है आपको हमारी यह पोस्ट BSc Computer Science Se Kya Hota Hai और BSc Computer Science Ke Baad Kya Kare पसंद आई होगी.

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर कर दीजिए और इस आर्टिकल से जुड़ा कोई भी सवाल हो तो उसे आप नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर के पूछ सकते हैं.

Questions & Answer:
Angur Khane Se Kya Hota Hai और  काले अंगूर खाने के फायदे और नुकसान

Grapes – काले अंगूर खाने से क्या होता है – फायदे, नुकसान, समय, Vitamins, तासीर

Kya Kaise
Coffee Ka Avishkar Kisne Kiya और Coffee Me Kya Hota Hai

Coffee का आविष्कार किसने किया – कॉफ़ी में क्या होता है

Avishkar
Steam Lene Se Kya Hota Hai - Steam Lene Ke Fayde or Nuksaan

Steam लेने से क्या होता है – Steam लेने के फायदे और नुक्सान

Kya Kaise
Author :
प्रिये पाठक, आपका हमारी वेबसाइट Lipibaddh.com पर स्वागत है, इस वेबसाइट का काम लोगों को हिंदी भाषा में देश, विदेश एवं दैनिक जीवन में काम आने वाली जरुरी चीजों के बारे में जानकरी देना है.
Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *