Dengue क्या है – Dengue कैसे होता है डेंगू के घरेलु उपाय

आज आप इस पोस्ट में जानेंगे की Dengue Kya Hai और Dengue Kese Hota Hai, डेंगू के लक्षण, डेंगू कैसे होता है, डेंगू के कारन, डेंगू के घरेलु उपाय, डेंगू की दवाई एवं यदि आप डेंगू से सबंधित और कोई जानकारी चाहते है तो इस पोस्ट में पढ़ सकते है.

Dengue Ke Gharelu Upay - डेंगू का घरेलू इलाज
Dengue क्या है – Dengue कैसे होता है डेंगू के घरेलु उपाय

Dengue Kya Hai

डेंगू एक तरह का बुखार या आम संचारी बीमारी होती है, जिसमे शरीर दर्द, तेज बुखार, सर दर्द जैसी बीमारी काफी होती है. यह एक एसी बीमारी है जो लोगो को ज्यादा होती है. इस बीमारी ने कई बार महामारी का रूप भी लिया है.

बड़े लोगो के मुकाबले बच्चो में यह बीमारी तेजी से फैलती है.यह बीमारी काफी लोगो को प्रभावित करती है और प्रतिवर्ष पुरे विश्व में लगभग 2 करोड़ से ज्यादा लोगो में यह बुखार होता है.

Dengue Kaise Hota Hai

डेंगू चार वायरस के कारण होता है, जिसे DENV 1, DENV 2, DENV 3 और DENV 4 कहते है. जब कोई सामान्य मच्छर किसी डेंगू सक्रमित व्यक्ति को कटता है तो वह मच्छर भी संक्रमित हो जाता है,

और यदि वही मच्छर किसी स्वस्थ व्यक्ति को कटता है तो उसके कीटाणु उस व्यक्ति की बॉडी के अन्दर प्रवेश कर जाते है जिससे वह व्यक्ति भी संक्रमित हो जाता है.

Dengue Ke Lakshan

डेंगू के लक्षण

  • डेंगू बीमारी में व्यक्ति को ठंड लगती है एवं उसे 104 फारेनहाइट डिग्री का बुखार होता है.
  • उस व्यक्ति को सिर दर्द जैसी समस्या होती है.
  • व्यक्ति की मांसपेशियों, हड्डी और जोड़ो में दर्द होता है.
  • उस व्यक्ति को आँखों में दर्द होता है.
  • उसका जी मिचलाता है.
  • मुँह का स्वाद ख़राब हो जाता है गले में हल्का सा दर्द होता है
  • डेंगू में व्यक्ति को उल्टी होती है.
  • ग्रंथियों में सुजन आ जाती है.
  • त्वचा में लाल चकते हो जाते है.
Dengue Kaise Hota Hai

डेंगू में तीन प्रकार के बुखार होते है, जैसे हल्का डेंगू बुखार(साधारण), डेंगू शोक सिंड्रोम(DSS) और डेंगू रक्तस्त्रावी बुखार(DHF). इनसे किसी भी व्यक्ति को खतरा हो सकता है. इतना की उस व्यक्ति की जान भी जा सकती है.

हल्का डेंगू बुखार में व्यक्ति को मच्छर के काटने के एक हफ्ते बाद डेंगू के लक्षण दिखाई देते है इसमें उस व्यक्ति को गंभीर समस्याओ का सामना करना पढता है, डेंगू रक्तस्त्रावी बुखार के लक्षण हल्के होते है

लेकिन यह कुछ दिनों में गंभीर हो जाते है. डेंगू शोक सिंड्रोम एक गंभीर समस्या होती है जिसके कारन व्यक्ति की मौत भी हो सकती है.

Dengue Ke Karan

डेंगू वायरस (विषाणु) द्वारा होता है जिसके चार विभिन्न प्रकार होते है. डेगू को आम भाषा में हड्डी तोड़ बुखार कहा जाता है क्योकि इसकी बजह से शरीर में बहुत तेज दर्द होता है. डेंगू की बीमारी मलेरिया की तरह ही मच्छर के काटने से फैलती है

इन मच्छरो को एडीज मच्छर कहा जाता है. भारत में यह बीमारी बरसात के मौसम में तथा उसके तुरंत बाद वाले महीने में होती है जैसे जुलाई, अक्टूबर.

डेंगू बुखार से पीड़ित व्यक्ति के खून में डेंगू वायरस की काफी मात्रा होती है जब कोई एडीज मच्छर डेंगू पीड़ित किसी व्यक्ति को कटता है तो उसके वायरस उस मच्छर में आ जाते है वह मच्छर जब किसी स्वस्थ व्यक्ति का खून चूसता है

डेंगू वायरस उस मच्छर से किसी व्यक्ति के शरीर में पहुच जाता है इस तरह व्य व्यक्ति डेंगू वायरस से संक्रमित हो जाता है तथा कुछ दिनों बाद उस व्यक्ति में बुखार के लक्षण दिखने लगते है

Dengue Ke Upay

डेंगू के बुखार से राहत पाने के लिए कई तरह के घरेलु उपाए होते है, जो इस प्रकार है.

  • डेंगू बुखार होने पर रोगी को नारियल पानी का सेवन ज्यादा करना चाहिए नारियल पानी शरीर में पानी की कमी को पूरा करता है इसमें एलेक्‍ट्रोलाइट्स और मिनरल्स पाया जाता है जो शरीर के लिए अच्छा होता है.
  • तुलसी के पत्तो को गरम पानी में उबाल कर पिने से भी रोगी को बहुत फायदा मिलता है क्युकी तुलसी में रोग प्रतिरोधक क्षमता होती है जिसके सेवन से व्यक्ति को बहुत लाभ होता है इसके दिन में 3 से 4 बार पीने से उसे कुछ ही दिनों में इसके फायदे दिखने लगते है.
  • तुलसी के पत्ते काली मिर्च को पानी में उबाल कर पीने से शरीर का इम्यून सिस्टम मजबूत होता है एवं यह एंटी बैक्टैरियल की तरह काम करता है.
  • डेंगू के बुखार में उस व्यक्ति को मैथी के पत्ते गरम पानी में डालकर पीना चाहिए मैथी में एसे गुण होते है जो शरीर से विषाक पदार्थ को बाहर निकलने में मदद करता है और उस व्यक्ति के शरीर से डेंगू का वायरस दूर हो जाता है.

डेंगू का घरेलू इलाज

डेंगू के उपचार में नीम की पत्ती एक कारगर उपचार है इसमें नीम की कुछ पत्तियों और पानी को उबाले और इसका काड़ा बनाकर बच्चो या किसी भी बीमार व्यक्ति को पिलाये जो डेंगू से पीड़ित हो.

इससे उसे लाभ होगा एवं इसके साथ ही आप मच्छरो को भगाने के लिए नीम की पत्तियों का छिड़काव भी कर सकते है.

नीम की पत्तियों के रस और पपीते की पतियों के रस को साथ में मिलाकर इस्तेमाल करने से भी इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है.

Dengue Ka Desi Ilaj

डेंगू के देशी इलाज में हम हल्दी का इस्तेमाल भी कर सकते है. हल्दी में किसी भी बीमारी को जल्द ही रिकवर करने का गुण पाया जाता है. डेंगू बीमारी को फेलने से रोकने के लिए यह एक कारगर और असरकारी उपाए है.

हल्दी में करक्यूमिन पाया जाता है जो डेंगू के वायरस को शरीर में फैलने से रोकता है. बच्चो को हल्दी बाला दूध पिलाना एक बेहतरीन उपाए है इससे छुटकारा पाने का.

मैथी दाना डेंगू के बुखार को कम करने में मदद करता है. और यह शरीर में हो रहे दर्द को भी दूर करता है. मैथी दाने के पानी को बच्चो को देने से उसे नींद अच्छी आती है. मैथीदाने को रातभर पानी में डालकर रख दे और सुबह इसका पानी बच्चो को पिलाये.

Dengue Ka Treatment

एक स्वस्थ व्यक्ति के शरीर में 1.5 लाख से लेकर 4 लाख तक ब्लड प्लेटलेट्स होनी चाहिए. यदि किसी भी व्यक्ति के शरीर में 50 हजार से निचे ब्लड प्लेटलेट्स चली जाती है तो उस व्यक्ति की जान को खतरा हो सकता है. आप कुछ घरेलु नुस्खो की मदद से इन ब्लड प्लेटलेट्स को रिकवर कर सकते है.

पपीते के पत्तो का रस, जौ का रस, चुकंदर का रस, कद्दु का रस, अनार का रास, कीवी और गिलोय के पत्ते का रस ये सब पीकर आप अपने शरीर की ब्लड प्लेटलेट्स बड़ा सकते है इसके साथ ही साथ आपको पानी भी ज्यादा पीना चाहिए.

Dengue Ki Dawai

Dengue होने पर doctor को दिखाए और उसकी सलाह पर दवाईयों का सेवन करे साथ ही आप कुछ घरेलु नुस्खे भी अपना सकते है जिससे आप जल्द ही ठीक हो सकते है.

परन्तु डेंगू होने पर सबसे पहले आपको doctor की सलाह पर दवा और उनके बताए गए निर्देशों का पालन करना चाहिए.

Dengue Ko Kaise Thik Kare

डेंगू को ठीक करने के लिए आप doctor के पास जाये या कुछ घरेलु नुस्खो का इस्तेमाल भी कर सकते है जो ऊपर बताए गए है और इन नुस्खो में बताई गई सभी तरह की सामग्री आपको अपने रसोई घर में भी मिल सकती है.

डेंगू बुखार में doctor मरीज को राहत दिलाने के लिए एंटी बायोटिक और एसिडिटी के इंजेक्शन लगाते है. डेंगू बुखार में शरीर में ब्लड प्लेटलेट्स की संख्या कम होती है. इन्हें बढाने के लिए डॉक्टर रोगी को ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थ सेवन करने की सलाह देता है.

डेंगू की रोकथाम के उपाय
  • डेंगू बुखार की रोकथाम के लिए हमे मच्छरो को बढ़ने से रोकना चाहिए
  • सभी लोगो को अपने आस – पास की जगहों की साफ – सफाई रखनी चाहिए.
  • बाहर का ज्यादा नहीं खाना चाहिए.
  • साफ पानी का सेवन करे.
  • गंदगी बाली जगह से दूर रहे.
  • बारिस को पानी को जमा होने से रोके.
Dengue Kaise Pata Chalta Hai
  • डेंगू बुखार में हड्डी तोड़ बुखार होता है.
  • डेंगू के बुखार से रोगी के जोड़ो में तेज दर्द होता है.
  • रोगी को बार – बार चक्कर आते है.
डेंगू से सबंधित – FAQ
डेंगू क्या होता है.

डेंगू एक संक्रमित बुखार होता है जो डेंगू वायरस की वजह से फेलता है.

डेंगू कितने दिन रहता है.

डेंगू बुखार 3 दिन से लेकर 14 दिन तक रह सकता है.

डेंगू की दवा

डेंगू इलाज के लिए अभी तक कोई दवा नहीं बनी है डेंगू बुखार कम करने के लिए उसे पैरासिटामाल दवाई दी जाती है.

Dengue Kaise Thik Hota Hai

Dengu को ठीक करने के कई उपाए है जैसे आयुर्वेदिक दवा, घरेलु उपचार, डॉक्टर से एलाज करवाना आदि.

Dengue Ko Kya Kahate Hain

डेंगू को हड्डीतोड़ बुखार कहते है इसे अंग्रेजी भाषा में Breakbone Fever कहा जाता है.

Dengue Kiske Karan Hota Hai

Dengu एडिस या संक्रमित मच्छर के काटने से होता है.

इस पोस्ट में यह जाना कि Dengue Kya Hai और Dengue Kese Hota Hai अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें. अगर आपके मन में कोई Question है जो आप पूछना चाहते है तो comment करे.

Questions & Answer:
Jukam Khansi Ke Gharelu Upay - Jukam Ke Liye Kya Karna Chahie

जुकाम खासी के घरेलु उपाय – Jukam में क्या करना चाहिए, Teblet, दवा

Health
Wi Fi Se Kya Hota Hai और Wi Fi Ki Range Kitni Hoti Hai 

Wi Fi से क्या होता है – वाईफाई की रेंज कितनी होती है, वाईफाई की खोज किसने की

Internet
Aalu Khane Se Kya Hota Hai और Aalu Khane Ke Fayde Aur Nuksan

Aalu खाने से क्या होता है – आलू खाने के फायदे और नुकसान, आलू का वैज्ञानिक नाम

Health
Author :
प्रिये पाठक, आपका हमारी वेबसाइट Lipibaddh.com पर स्वागत है, इस वेबसाइट का काम लोगों को हिंदी भाषा में देश, विदेश एवं दैनिक जीवन में काम आने वाली जरुरी चीजों के बारे में जानकरी देना है.
Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.