Giloy पीने से क्या होता है – गिलोय का उपयोग कैसे करें, गिलोय से गठिया का इलाज

आज इस पोस्ट में जानेंगे की Giloy Peene Se Kya Hota Hai और Giloy Ka Upyog Kaise Karen साथ ही जानेंगे की गिलोय जूस कब पीना चाहिए और गिलोय पीने के फायदे क्या है.

Giloy Peene Se Kya Hota Hai और Giloy Ka Upyog Kaise Karen

साथ ही पोस्ट में जानेंगे की गिलोय किसे नहीं खाना चाहिए और गिलोय से गठिया का इलाज कैसे किया जाता है. इन सब के बारे में इस पोस्ट में विस्तार से जानेंगे.

Giloy Peene Se Kya Hota Hai

गिलोय एक ऐसी आयुर्वेदिक औषधि है जो आपके लिए हर प्रकार से फायदेमंद होती है. इसे पीने से इम्युनिटी पॉवर मजबूत होती है जिससे बीमार होने का खतरा बहुत कम हो जाता है, साथ ही अन्य बीमारियों के इलाज में भी यह फायदेमंद होती है.

कोरोना के आने के बाद से ही लोग अपनी इम्युनिटी पॉवर बढाने पर ध्यान देने लग गए, क्योकि कोरोना से लड़ने में स्ट्रोंग इम्युनिटी ही सबसे कारगर इलाज थी. गिलोय इम्युनिटी पॉवर को बढाने में फायदेमंद होती है, जिस वजह से कोरोना काल में इसका इस्तेमाल भी काफी बड गया.

यह आपके आँखों और कानो के लिए भी बहुत फायदेमंद होती है. इसके अलावा यह अन्य बीमारियों और परेशानियों जैसे: कब्ज, गठिया, पीलिया, बवासीर, बुखार, कैंसर, टीबी, लीवर आदि के इलाज में और इनके नियंत्रण में भी फायदेमंद होती है.

Giloy Ka Upyog Kaise Karen

आयुर्वेद में किसी भी प्रकार की औषधि का सेवन का एक समय, तरीका और उसकी मात्रा निर्धारित होती है. अगर उसे उसी तरह से लिया जाए या उसका सेवन किया जाए तभी उसका फायदा मिलता है वरना उसका दुष्परिणाम भी देखने को मिल सकता है.

अगर आपको बुखार या अन्य मौसमी बीमारी है तब गिलोय का काढ़ा बनाकर पीना फायदेमंद होगा. हमेशा खाली पेट ही इसका सेवन करन चाहिए, तभी इसका बेहतर फायदा देखने को मिलेगा. आप काढ़ा बनाने के लिए इसकी पत्तियों या तने का भी उपयोग कर सकते है.

आप अगर चाहे तो इसके तने को उबाल कर उसमे कुछ जरुरी चीजे जैसे तुलसी, लौंग आदि डालकर भी इसका काढ़ा बनाकर पी सकते है.

Giloy Peene Ke Fayde

गिलोय न केवल बुखार, सर्दी-जुखाम बल्कि अन्य कई रोगों में भी फायदेमंद होती है.

  • इम्युनिटी बढाने में कारगर
  • मोटापा कम करने में
  • पाचन संबंधी समस्याएं जैसे: कब्ज, गैस और एसिडिटी में फायदेमंद
  • बुखार, सर्दी जुखाम के इलाज में
  • पीलिया में
  • लीवर सम्बंधित समस्याओं में
  • गठिया के इलाज में
  • कैंसर और टीबी जैसी घातक बीमारियों में
Giloy Ke Juice Ke Fayde | गिलोय जूस कब पीना चाहिए

गिलोय जूस को कुछ भी खाने से पहले या भूखे पेट ही पीना चाहिए, तभी इसका बेहतर परिणाम देखने को मिलेगा. इसे पीने से कई फायदे होते है जैसे: गठिया के इलाज में, डाइजेशन को मजबूत करने में, डाइबिटीज में, पीलिया एवं अन्य रोगों में आराम मिलता है.

गिलोय से गठिया का इलाज

गठिया के दर्दनाक बीमारी होती है. अगर आपको भी गठिया की समस्या है तो आपको अक्सर आपके शरीर में दर्द की अनुभूति होती होगी. इस रोग के कारण इंसान ठीक से उठ-बैठ भी नहीं पाता. गठिया होने से पुरे शरीर पर सुजन आ जाती है और शरीर मोटा और भारी हो जाता है.

पर इस बिमारी का इलाज संभव है. गिलोय एक ऐसी औषधि होती है जो इम्युनिटी को मजबूत करने के साथ-साथ गठिया, पीलिया एवं अन्य बिमारियों के इलाज में भी फायदेमंद  होती है. चलिए जानते है गिलोय गठिया के इलाज में किस तरह फायदेमंद होती है और इससे इस बीमारी का इलाज कैसे किया जाता है:

  • गिलोय में सुजन को कम करने वाले कुछ गुण होते है जिनसे गठिया में थोडा आराम मिलता है.
  • गिलोय के रस को अरंडी के तेल के साथ पीने से गठिया में आराम मिलता है.
  • गठिया में गिलोय का काढ़ा और गिलोय चूर्ण के सेवन से भी आराम मिलता है.
  • गिलोय की नियमित ताजा पत्तियों के सेवन और इसके तने का जूस बनाकर पीने से भी गठिया में बहुत आराम मिलता है.

नोट: इसका सेवन करने से पहले किसी आयुर्वेदिक विशेषज्ञ से इसकी पूरी जानकारी प्राप्त करें. उनके द्वारा आपको इसका सही तरीका, सही समय और सही खुराक का पता चल पाएगा.

गिलोय किसे नहीं खाना चाहिए

जिस किसी इंसान को डायबिटीज होती है और उसका शुगर लेवल लो रहता है, उस इंसान को गिलोय के सेवन से बचना चाहिए. क्योकि इसके सेवन से शुगर का लेवल और  कम हो जाता है.

इसके अलावा गर्भवती महिलाओं को भी गिलोय का सेवन नहीं करना चाहिए.

बुखार में गिलोय का सेवन कैसे करें

बुखार होने पर एक बर्तन में पानी ले लीजिये जितना पी सके. अब उसमे गिलोय की पत्तियों को पीस कर रात भर के लिए रख दे. सुबह इस पानी को छान कर पियेंगे तो फायदा होगा. ध्यान रहे दिन में तीन बार इस पानी को पीना है वह भी 20 ml, इससे आपका बुखार बहुत जल्द सही हो जाएगा.

गिलोय कितने दिन तक पीना चाहिए

अगर आपको किसी तरह का बुखार है या अन्य परेशानी है तो आप जब तक आप ठीक न हो जाए इसे प्रतिदिन पी सकते है. आप इसे रोजाना भी पी सकते है.

पर ध्यान देने वाली बात यह की अगर आप इसे नियमित पीते है तो एक ग्लास से ज्यादा इसका सेवन न करें. इसका ज्यादा सेवन आपको नुक्सान भी पंहुचा सकता है.

Giloy – FAQs
Giloy Ka Vaigyanik Naam | Giloy Ka Botanical Name

गिलोय का वैज्ञानिक नाम टीनोस्पोरा कार्डीफोलिया (Tinospora Cordifolia) है.

Giloy Ras Ke Fayde

लीवर में, सर्दी-जुखाम में, कैंसर में, टीबी में, गठिया आदि.

Giloy Ki Taseer Kaisi Hoti Hai

गिलोय की तासीर गरम होती है. यह प्राक्रतिक रूप से ही गर्म मानी जाती है. इसीलिए किसी भी तरह के बुखार एवं सर्दी-जुखाम में इसका सेवन फायदेमंद होता है.

गिलोय कितने रुपए किलो है

कोरोना से पहले गिलोय आपको 15 से 20 रुपये किलो मिल जाती थी पर कोरोना में इसके दाम बड गए थे. अब यह आपको 30 से 35 रुपये किलो मिल सकती है यह कीमत इससे कम या ज्यादा भी हो सकती है.

गिलोय और एलोवेरा के फायदे

गिलोय और एलोवेरा के सेवन से आपका पाचन तंत्र मजबूत होता है, रोगप्रतिरोधक क्षमता बढती है, त्वचा पर चमक आती है, वजन कम होता है. इसके अलावा भी कई सारे फायदे होते है.

उम्मीद करते है आपको हमारी यह पोस्ट Giloy Peene Se Kya Hota Hai और Giloy Ka Upyog Kaise Karen पसंद आई होगी.

अगर पोस्ट पसंद आई है तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगो के साथ share करे दीजिए और इस पोस्ट से जुड़ा आपका कोई भी सवाल हो तो आप नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते है.

Questions & Answer:
Fatty Liver Se Kya Hota Hai और Fatty Liver Hone Ke Lakshan

Fatty Liver से क्या होता है – फैटी लीवर कैसे दूर करें, होने के कारण,क्या खाना चाहिए

HealthKya Kaise
Jamun Khane Se Kya Hota Hai और जामुन के फायदे और नुकसान

Jamun खाने से क्या होता है – जामुन के फायदे और नुकसान, तासीर, वैज्ञानिक नाम

Kya Kaise
Gul Khane Se Kya Hota Hai - Khane Ke Nuksan, Arth,

गुल खाने से क्या होता है – खाने के नुकसान, अर्थ पूरी जानकारी

Kya Kaise
Author :
प्रिये पाठक, आपका हमारी वेबसाइट Lipibaddh.com पर स्वागत है, इस वेबसाइट का काम लोगों को हिंदी भाषा में देश, विदेश एवं दैनिक जीवन में काम आने वाली जरुरी चीजों के बारे में जानकरी देना है.
Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *