Hing से क्या होता है, Use कैसे करें, फायदे नुकसान, इलाज, Rate, पेड़

इस पोस्ट में हम जानेंगे की Hing Se Kya Hota Hai और Hing Ke Fayde साथ ही जानेंगे हींग कैसे बनती है और हींग के बारे में बताइये.

Hing Se Kya Hota Hai और Hing Ke Fayde

साथ ही पोस्ट में जानेंगे की हींग से पीरियड कैसे लाये और हींग और शहद के फायदे बताइये. इन सब के बारे में इस पोस्ट में विस्तार से जानेंगे.

Hing English Meaning

Hing को English में Asafoetida कहते है. Hing का मतलब यह होता है-

Hing एक प्रकार का मसाला होता है जो की भारतीय रसोई में भोजन को स्वादिष्ट बनाने के लिए मुख्य रूप से उपयोग किया जाता है, इसकी थोड़ी सी  मात्रा ही भोजन को स्वादिष्ट बनाने के लिए काफी होती है. ओपचारिक रूप से Hing का उपयोग एक medicine  तौर पर किया जाता है, इसके इस्तेमाल से कई बीमारियों को दूर किया जा सकता है.

Hing एक गोंद की तरह होता है जब इसे पेड़ की जड़ो से चीर कर निकाला जाता है, इस समय यह ताज़ा होता है लेकिन ताज़े  Hing का उपयोग नही किया जाता है इसे सुखाने के बाद ही इसका उपयोग किया जाता है. fresh अवस्था में Hing का रंग Greyish White होता है जो सूखने के बाद Dark Amber रंग का हो जाता है.

Hing Kaise Banti Hai

Hing किसी factory में नही बनाई जाती है और न ही किसी पहाड़  के पत्थरो को पीस कर बनाई जाती है, यह एक प्रकार का पौधे से प्राप्त होती है. Hing पौधे पर लगता नही है और न ही इसके कोई फूल होते है, Hing  उस पौधे की जड़ो से प्राप्त किया जाता है. इसका मतलब यह नही हुआ की इस पौधे की जड़े ही Hing होती है, Hing इस पौधे की जड़ से निकाले गए रस से बनाया जाता है.

Hing बनाने के लिए इस पौधे की जड़ से निकाले गए रस  को एक बर्तन में एकत्रिक किया जाता है और फिर उसे धूप  में सुखाया जाता है. धूप  में सुखाने के बाद एक गोंद जैसा पदार्थ प्राप्त होता है, जिसे Hing कहा जाता है.

Hing मुख्य रूप से दो तरह की होती है- दुधिया सफ़ेद हींग और लाल हींग. इसमें सल्फर की मात्रा ज्यादा होने की वजह से इसकी गन्ध काफी तीक्ष्ण होती है.

Hing Ka Ped

Hing का पौधा शुष्क  वातावरण में लगाया जाता है. Hing का पौधा लगाने के लिए अधिक पानी की आवश्यकता नही होती है, पौधे को सिर्फ नमी चाहिये  इसलिये इसकी मिट्टी में अधिक गीलापन नही होना चाहिये. शुरुआत में इसके बीजों  को घर के गमले में भी लगाया जा सकता है.

Hing के बीज आसानी से नही मिलते है और न ही आसानी से उगते है. Hing का पौधा ऑनलाइन आसानी से प्राप्त किया जा सकता है. Hing एक सदाबहार पौधा है अर्थात यह बारह मास उपलब्ध रहता है. Hing के पौधे की ऊँचाई लगभग 1 से 1 .5 मीटर होती है. इसका तना कोमल होता है और इसमें ढेर सारी डालिया होती है. इस पौधे की जड़े गोंद तथा गंधयुक्त होती है.

Hing Kaise Hota Hai

शुरुआत में Hing  गोंद के रूप में होता है जब इसे जड़ में चीरा लगाकर प्राप्त किया जाता है. इस गोंद को धूप में सुखाया जाता है और सुखाने के बाद इसे चपटे टुकडो में किसी आकार में काट लिया जाता है.

Hing दो तरह की होती है, या तो यह टुकडो के रूप में होती है ( इसमें इन्हें कृत्रिम रूप से कोई आकार दे दिया जाता है ) या तो पाउडर के रूप में. पाउडर के रूप में Hing प्राप्त करने के लिए उन्ही Hing के टुकडो को पीस लिया जाता है. Hing निकालने के लिये हींग का चार साल पुराना पौधा श्रेष्ठ माना जाता है.

Hing Kaise Prapt Hoti Hai

Hing को  एक प्रकार का पौधे से प्राप्त किया जाता है. इस पौधे के बीज आसानी से नही मिलते है, इसे नमी वाले वातावरण में लगाया जाता है. Hing उस  पौधे से लगभग चार साल में तैयार होता है. Hing पौधे पर लगता नही है  और न ही इसके कोई फूल होते है, Hing उस पौधे की जड़ो को चीर कर निकाला जाता है.

Hing बनाने के लिए इस पौधे की जड़ से निकले गए रस  को एक बर्तन में एकत्रिक किया जाता है यह रस गोंद की तरह होता है, और फिर उस रस को  धूप  में सुखाया जाता है. धूप  में सुखाने के बाद जो  पदार्थ प्राप्त होता है, उसे  Hing कहा जाता है.

Hing Ke Bare Mein Bataiye

Hing  मसाले और औषधि दोनों के रूप में उपयोग किया जाता है.

Hing भारतीय रसोईघरो में एक मुख्य मसाले के रुप में  किया जाता है जो की खाने को स्वाद को बढाने में मदद करता है. इसकी कुछ मात्रा ही भोजन के स्वाद को बदल देती है और उसे और भी लजीज बना देती है.

Hing का उपयोग करने से कई बीमारियों से छुटकारा पाया जा सकता है. Hing  खाने से बवासीर, पेट की समस्या, गैस, कब्ज, पथरी आदि में फायदा होता है. यह शरीर की चर्बी को कम करता है. Hing डायबिटीज रोगियों की लिये भी अच्छी होती है. साथ ही साथ यह मासिक धर्म में होने वाले दर्द से भी छुटकारा दिलाने में भी मदद करता है.

Hing Kaise Khaye

Hing को सीधे भी खाया जा सकता है और Hing को पानी में मिलाकर भी खाया जाता है. Hing को किसी भी तरह से खा सकते है केवल हमे इस बात पर ध्यान देना की Hing की मात्रा सही हो क्योकि भोजन या आयुर्वेदिक किसी भी इलाज में Hing की सही मात्रा न होने पर यह शरीर को नुकसान पंहुचा सकती है.

Hing Se Kya Hota Hai

Hing एक आयुर्वेदिक औषधि है, इसका उपयोग कई बीमारियों के इलाज के लिए किया जाता है Hing  को आयुर्वेद में पाचन में सुधार करने वाली जड़ी-बूटी कहा जाता है,  क्योकि Hing पाचन तंत्र से सभी हानिकारक टोक्सिन को बाहर निकालने में मदद करता है.

पाचन के अलावा Hing को दिल, दांत और पेट से जुडी कई समस्याओ के लिए भी उपयोग किया जाता है. Hing का पानी मेटाबोलिज्म को बढाने में मदद करता है जिससे मेटाबोलिज्म दर उच्च होती है. मेटाबोलिज्म दर उच्च होने से वजन घटता है.

साथ ही साथ यह ख़राब कोलेस्ट्रोल को भी नियंत्रित करता है, जिससे ह्रदय स्वस्थ रहता है. Hing एक तीक्ष्ण गन्ध वाला मसाला होता है जो किसी भी व्यंजन के स्वाद को कुछ पल में बदल कर उसे स्वादिष्ट बना  देता है. यह भारतीय व्यंजनों में मुख्य रूप से  उपयोग किया जाता है.

Hing Ke Fayde

  • Hing का  उपयोग करने से  विभिन्न प्रकार की पेट की कई  समस्याओ से निजात पाया जा सकता है. अपच, पेट ख़राब, गैस, पेट में कीड़े, पेट फूलना आदि का इलाज Hing से किया जाता है.
  • Hing मासिक धर्म के दर्द, अनियमित माहवारी और मासिक धर्म के दौरान  भारी रक्त प्रवाह से छुटकारा पाने में मदद करता है.
  • Hing का उपयोग उल्टी, डकार और हिचकी बंद करने के लिए किया जाता है.
  • Hing स्मरण शक्ति को तेज करता है.
  • Hing दांत का दर्द कम करने में सहायक होती है.
  • Hing के सेवन से तेज बुखार में भी राहत होती है.

Hing Ke Nuksan

  • गर्भवती महिलाओ द्वारा  हिंग का अधिक सेवन करने से उनमे  गर्भपात होने का खतरा रहता है.
  • कभी-कभी Hing के बहुत अधिक सेवन से कुछ लोगो के होंठो में सूजन आ जाती है.
  • उच्च रक्तचाप भी Hing के सेवन से सम्बंधित स्थिति है. इसका सेवन  करने से रक्तचाप में उतार-चड़ाव  आ सकता  है.
  • कुछ लोगो को Hing के अधिक उपयोग करने से  साइड इफ़ेक्ट हो जाता है , जिसके तहत त्वचा पर रेशेज, खुजली, जलन जैसी समस्याए हो जाती है.
  • Hing  का अधिक उपयोग से कुछ लोगो को सिरदर्द  और  चक्कर भी आ जाता है.
  • अगर Hing की मात्रा सही नही हो तो इसकी वजह से गैस, दस्त और पेट में जलन जैसी समस्या हो सकती है.
Hing Vati Ke Fayde

Hing Vati  मतलब Hing गोली  या Hing दाना. Hing Vati खाने से बवासीर, पेट की समस्या, गैस, कब्ज, पथरी आदि में फायदा होता है. यह शरीर की चर्बी को कम करता है. Hing  Vati  डायबिटीज रोगियों की लिये भी अच्छी होती है. साथ ही साथ यह मासिकधर्म में होने वाले दर्द से भी छुटकारा दिलाने में भी मदद करता है.

Hing Water Side

Hing  पानी को एक सीमित मात्रा में ही लेना चाहिये. इससे अधिक लेने पर इसके नुकसान भी हो सकते है, इसकी अधिक मात्रा से होने वाले नुकसान में निम्न शामिल है:-

  • Hing पानी का अधिक मात्रा मे लेने से यह एंग्जायटी तथा  सिरदर्द का कारण बन सकता है.
  • इसकी अधिक उपयोग करने से मुँह  में सूजन हो सकती है.
  • कुछ लोगो को इससे पेट फूलने और दस्त जैसी पेट सम्बन्धी समस्याओ का सामना करना पड़ सकता है.
  • pregnancy में समस्या आ सकती है.
  • Skin रेशेस होने की संभावना होती है.
Hing Se Period Kaise Laye

Hing का उपयोग Period के दर्द को दूर करने के लिये  भी  किया जाता है और  Period लाने के लिये भी, यह सब इसकी मात्रा पर निर्भर करता है की हम किस मात्रा में इसका सेवन कर रहे है. Hing एक गरम तासीर का पदार्थ है,  यह शरीर को गर्मी देता है.

यह महिलाओ के शरीर में प्रोजेस्ट्रोन हार्मोन की  मात्रा में मदद करता है. अगर Hing से Period लाना है तो Hing को गुनगुने पानी में मिलाकर कुछ दिनों नियमित रूप से सेवन करे. आपको कुछ दिनों में सामान्य Period आने लग जायेंगे.

Hing Sabji Me Kaise Dale

Hing भारतीय रसोई में एक मुख्य मसाले के रूप में इस्तेमाल किया जाता है. यह एक तीक्ष्ण गन्ध वाला मसाला है. इसकी थोड़ी सी मात्रा ही खाने का स्वाद बदल देती है और खाने को ओर भी ज्यादा स्वादिष्ट बना देती है. सामान्यतः Hing का उपयोग हम किसी भी सब्जी में कर सकते है, Hing की बहुत कम मात्रा का उपयोग किसी भी सब्जी को बनाने में किया जाता है.

इसे सब्जी में कई तरीको से डाला जा सकता है- तड़का लगाते समय तेल या घी में हम Hing की थोड़ी मात्रा डाल  सकते है  या तो Hing को पानी में घोलकर सब्जी में उबालते समय भी डाला जा सकता है.

Hing Ka Use Kaise Kare

Hing के फायदे और नुकसान दोनों इसकी मात्रा पर निर्भर करते है  इसलिए इसका जानना अत्यंत आवश्यक है Hing का उपयोग कैसे करे? अगर Hing की सही मात्रा कई बीमारियों का इलाज कर सकती है तो  इसी तरह  इसकी गलत मात्रा कई बीमारियों का कारण भी बन सकती है.

हम जानते है Hing का उपयोग मसाले और औषधि दोनों की तरह किया जाता है तो चाहे मसाले की रूप में हो या औषधि के रूप में Hing का उपयोग कम मात्रा में ही करना चाहिये. इसकी कम मात्रा भोजन को स्वादिष्ट भी बना सकती है और कई रोगों का इलाज भी कर सकती है इसलिए हमेशा Hing का कम इस्तेमाल करे.

Hing Se Gas Ka Ilaj

गैस की समस्या से राहत पाने के लिये Hing का इस्तेमाल किया जाता है. प्रतिदिन सुबह खाली पेट Hing का सेवन करने से गैस की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है. इसके लिये आधा चम्मच घी या तेल गुनगुना करके उसमे 1 /4  या 1 /2  चम्मच Hing डालकर मिला ले.

इस मिश्रण का प्रतिदिन इस्तेमाल करने से गैस की समस्या जड़ से समाप्त हो जायेगी. Hing पाचन तंत्र की हानिकारक टोक्सिन को बाहर निकालने में मदद करता है जिससे पाचन तंत्र अच्छे से काम करता है जिससे फिर गैस जैसी समस्याओ का सामना नही करना पड़ता.

Sapne Me Hing Dekhna

वास्तविक रूप में देखा जाये तो Hing के कई फायदे होते है. लेकिन ऐसा माना जाता है की अगर कोई व्यक्ति सपने में Hing देखता है या Hing सब्जी में डालने का सपना देखता है तो यह एक अशुभ संकेत है. यह संकेत यह बताता है की आपके साथ कुछ बुरा होनेवाला है. आपको किसी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है, जिसके लिये आपको सावधान होने की जरूरत है.

Hing Ke Pani Ke Fayde

Hing का पानी बहुत आसानी से बनाया जा सकता है . इसे बनाने के लिए विधि:-

  • सर्वप्रथम पानी को हल्का गरम  कर ले.
  • पानी में Hing पाउडर डालकर अच्छी तरह मिला ले.
  • पीने योग्य होने पर उस पानी का सेवन करे.

Hing  पानी के फायदे:-

  • Hing पानी  का  उपयोग करने से  विभिन्न प्रकार की पेट की कई  समस्याओ से निजात पाया जा सकता है. अपच, पेट ख़राब, गैस, पेट में कीड़े, पेट फूलना आदि का इलाज Hing पानी  से किया जा सकता  है.
  • Hing पानी मासिक धर्म के दर्द, अनियमित माहवारी और मासिक धर्म के दौरान  भारी रक्त प्रवाह से छुटकारा पाने में मदद करता है.
  • Hing पानी का उपयोग उल्टी , डकार  और हिचकी बंद करने के लिए किया जाता है.
  • Hing पानी वजन कम करने में सहायता करता है.
  • Hing पानी सिरदर्द  में भी आराम देता है.
  • Hing पानी श्वसन सम्बधी समस्याओ को  दूर रखता है और सर्दी – जुकाम से बचाता है.
Hing Chana Khane Ke Fayde

कुछ आयुर्वेदिक विद्वानों के अनुसार Hing चना में अच्छी मात्रा में प्रोटीन और फाइबर होता है जो हमारे शरीर को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है. यह एक उत्तम नाश्ता है. Hing चना वजन कम करने में भी मदद करता है .

इसका उपयोग  कोलेस्ट्रोल को कम करने में भी किया जाता है  जिससे हमारा ह्रदय स्वस्थ बना रहता है. Hing चना डायबिटीज  को भी नियंत्रित करता है और साथ ही साथ यह पेट सम्बन्धी बीमारियों जैसे बवासीर, गैस, कब्ज, पथरी आदि जैसी बीमारियों में भी सहायक है.

Hing Aur Shahad  Ke Fayde

Hing ना केवल खाने के स्वाद में जान डाल देता है बल्कि यह सेहत के लिए भी कई तरह से लाभदायक  है. Hing  पेट से जुड़ी कई समयाओं को दूर करता है. Hing  से पेट दर्द और अपच में काफी आराम मिलता है.

वहीं शहद की बात की जाए तो इसमें कई प्राकृतिक गुण पाए जाते हैं जैसे आयरन(Fe), कैल्शियम(Ca), सोडियम(Na), क्लोरिन(Cl), पोटेशियम(K) और मैग्नीशियम(Mg) आदि.

इसमें कई तरह के विटामिन्स, मिनरल्स और एंजाइंम्स भी पाए जाते हैं, जो हमें कई बीमारियों से बचाता है. वहीं अगर दोनों को साथ में लिया जाए तो यह हमारे शरीर के लिए बेहद ही फायदेमंद है जिन्हें हम निम्न विन्दुओं से समझ सकते है-

  • सुबह खाली पेट Hing और शहद का सेवन करने से वजन कम होता है.
  • अगर सुबह एक चम्मच Hing के साथ शहद मिला कर लिया जाये तो यह सूजन को कम करने में मदद करता है.
  • इनका इस्तेमाल करने से अपच की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है.

Hing Ke Fayde Ling Ke Liye

भोजन में Hing को शामिल करने से लिंग और सेक्स हेल्थ में भी कई फायदे होते है. 2009  में publish हुए एक शोध के अनुसार, प्राचीन कल से ही अरब देशो में Hing को एक प्राकृतिक कामोत्तेजक पदार्थ माना जाता है. लिंग के ढीलेपन की समस्या के इलाज में इसका उपयोग किया जाता है.

Hing सेक्स के समय लिंग में रक्त संचार को बढाता है. इसके अतिरिक्त Hing शुक्राणुओ  की कमी और वीर्य जल्दी गिरने की समस्या से भी छुटकारा दिलाने में मदद करता है. लगभग 40  दिनों तक नियमित रूप से 6  सेंटीग्राम Hing का सेवन करने से सेक्स ड्राइव में सुधार हो सकता है.

Hing Ki Dibbi

Hing दो तरह से हो सकता है या तो पाउडर के रूप में या तो चूर्ण के रूप में. मार्केट में Hing की डिब्बी मिलती है जिसमे या तो Hing टुकडो  के रूप में होता है या फिर पाउडर के रूप में. यह सामान्य किराना दुकानों पर आसानी से मिल जाती है साथ ही साथ इसे ऑनलाइन भी मंगाया जा सकता है.

Hing Recepes

Hing का उपयोग कई व्यंजनों में किया जाता है क्योकि Hing के उपयोग से भोजन का स्वाद कई गुना बढ़ जाता है. निचे कुछ व्यंजन बताये गए है जिनमे Hing का उपयोग कर उनका स्वाद बढाया गया है-

  • बाजरा – मूंग दाल खिचड़ी
  • गुजराती कढ़ी
  • Hing – धनिया के आलू
  • आम अचार
  • दाल – बाटी
  • आलू – मेथी की सब्जी
  • गुजराती उन्धियु
  • राजमा ब्राउन राइस
  • चना दाल बड़ा
  • चिवड़ा
  • सेव पूरी
  • चावल का चीला
  • मूंग दाल और प्याज के पराठे
  • इडली
  • मैथी – मूंग sprouts
  • चकली
Hing Dhaniya Ke Aloo

Hing धनिया के आलू बनाने की सामग्री :-

  • 1 किलोग्राम आलू, मीडियम
  • 30 मिली. सरसों का तेल
  • 1 टी स्पून जीरा
  • 1 टी स्पून हींग
  • 1 टी स्पून धनिया पाउडर
  • 1/2 टी स्पून हल्दी पाउडर
  • 1 टी स्पून पीली मिर्च पाउडर
  • 2 टी स्पून भुना मसाला
  • 1 अदरक, टुकड़ों में कटा हुआ
  • 4 हरी मिर्च
  • नमक
  • काला नमक
  • 2 नींबू का रस
  • 1 टी स्पून धनिया के बीज
  • 1 टी स्पून काली मिर्च, बारीक कटा हुआ
  • 1 bunch धनिया पत्ती

विधि :-

1.  सर्वप्रथम आलू को उबालकर छील लें.

2. अब  इसे आधा काट लें.

3. इसके बाद कढ़ाही में सरसों का तेल गर्म करके जीरा और हींग का तड़का लगाएं। अब इसमें धनिया पाउडर, हल्दी पाउडर, पीली मिर्च पाउडर, भुना मसाला, अदरक और हरी मिर्च डालें.

4. कुछ समय बाद  इसमें आलू, नमक, काला नमक और नींबू का रस मिलाएं.

5. इसके अलावा कुटा हुआ धनिया और काली मिर्च डालें.

6. आलू के पक जाने के बाद धनिया पत्ती डालकर सर्व करें.

उम्मीद करते है आपको हमारी यह पोस्ट Hing Se Kya Hota Hai और Hing Ke Faydeपसंद आई होगी.

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर कर दीजिए और इस आर्टिकल से जुड़ा कोई भी सवाल हो तो उसे आप नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं.

Questions & Answer:
Eraser Kise Kahate Hain और Eraser Ka Avishkar Kisne Kiya

Eraser किसे कहते हैं – इरेज़र का आविष्कार किसने किया, Eraser से Clay बनाए

Avishkar
टमाटर खाने से क्या होता है, खाने की विधि, पौधा, Skin, फायदे नुक्सान

टमाटर खाने से क्या होता है, खाने की विधि, पौधा, Skin, फायदे नुक्सान

Kya Kaise
Blood Infection Se Kya Hota Hai और ब्लड इंफेक्शन से होने वाले रोग

Blood Infection से क्या होता है – ब्लड इंफेक्शन से होने वाले रोग, ब्लड इंफेक्शन लक्षण

Health
Author :
प्रिये पाठक, आपका हमारी वेबसाइट Lipibaddh.com पर स्वागत है, इस वेबसाइट का काम लोगों को हिंदी भाषा में देश, विदेश एवं दैनिक जीवन में काम आने वाली जरुरी चीजों के बारे में जानकरी देना है.
Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *