Hydrocele से क्या होता है – Hydrocele का पानी कैसे निकाले

इस पोस्ट में हम जानेंगे की Hydrocele Se Kya Hota Hai और Hydrocele Ka Pani Kaise Nikale साथ ही जानेंगे ज्यादा Hydrocele आपकी सेहत के लिए कैसा है.

Hydrocele Se Kya Hota Hai - Hydrocele Ka Pani Kaise Nikale

साथ ही पोस्ट में जानेंगे Hydrocele से छुटकारा पाने के सभी तरह के उपायों को पूरी जानकारी. इन सब के बारे में Hydrocele Se Kya Hota Hai पोस्ट में विस्तार से जानेंगे.

Hydrocele Se Kya Hota Hai

हाईड्रोसिल पुरुषों के अंडकोष में होने वाली एक आम समस्या है जिसमे अंडकोष में पानी भर जमा हो जाता है. जिसके कारण अंडकोष का आकार बड जाता है और दर्द भी हो सकता है.

Hydrocele Ka Pani Kaise Nikale

हाईड्रोसिल का पानी निकलना –

  1. हाईड्रोसिल का इलाज कई तरह से हो सकता है, इसमे एस्पिरेसन और सर्जरी मुख्य रूप से शामिल है.
  2. हाईड्रोसिल के इलाज का एक तरीका एनजेकशन के माध्यम से पानी बहार निकला जाता है फिर दवा दी जाती है.
  3. हाईड्रोसिल का इलाज सर्जरी के माध्यम से भी हो सकता है, जिसमे अंडकोष में कट कर के जमा पानी को बहार निकला जाता है.

Hydrocele Ka Ayurvedic Dawa

हाईड्रोसिल की आयुर्वेदिक दवा –

  1. काटेरी की जड को सुखाकर पाउडर तैयार कर ले. इस  पाउडर की 10 ग्राम मात्रा के साथ 7 ग्राम कलि मिर्च का पाउडर मिला दे. अब इस मिश्रण को लगभग ६ से 7 दिनों तक खाय.
  2. कलि मिर्च और उससे दोगुनी मात्रा में जीरा ले. इनका पाउडर बना ले. इस पाउडर में सरसों और जैतून का तेल मिलकर गर्म करे. फिर इसमे थोडा पानी मिलकर पकाए और एक लेप तैयार कर ले. इस लेप को अंडकोष में लगाये.
  3. हाईड्रोसिल से परेसान लोगो को संतरे और अनार का रस पीना चहिये, और नीबू के रस का सेवन खाने के साथ करना चाहिए.
Hydrocele Kaise Thik Hota Hai

हाईड्रोसिल छोटे बचचो को भी हो सकता है, पर यह कुछ समय के बाद अपने आप ठीक भी हो जाता है. परन्तु वयस्कों में उपचार की आवश्कता होती है. हाईड्रोसिल को ठीक करने के लिए अंडकोष में जमा पानी को बहार निकलना होता है.

हाईड्रोसिल को ठीक करने के लिए सर्जरी या एस्पिरेसन किया जाता है. इसके लिए और्वेदिक इलाज भी उपलब्ध है.

Hydrocele Ke Liye Medicine

हाईड्रोसिल के इलाज में दवा डॉ के परामर्श से ही लेनी चाहिए. सामान्यतः इसका इलाज सर्जरी और स्पिरेसन के माध्यम से किया जाता है. इसके इलाज में स्किल्रोजिंग नामक दवा का उपयोग भी किया जाता है.

Hydrocele Ke Nuksan

  1. शरीर का अस्वस्थ होना.
  2. अंडकोष में तेज दर्द होना.
  3. चलने फिरने में दर्द और असहजता होना.
  4. उलटी, कब्ज, बुखार आना.
  5. अंडकोष का आकार बदन और सुजन होना.
Hydrocele Kyu Badhta Hai
  1. हाईड्रोसिल अंडकोष में चोट लगने के कारण बड सकता है.
  2. हाईड्रोसिल नसों में सुजन आने के कारण भी बड सकता है.
  3. हाईड्रोसिल स्वास्थ्य सम्बन्धी किसी अन्य समस्या के करण भी बड सकता है.
  4. हाईड्रोसिल ज्यादा शरीरिक सम्बन्ध बनाने के करण भी बड सकता है.
  5. हाईड्रोसिल ज्यादा भरी वजन उठाने के करण भी बड सकता है.
  6. हाईड्रोसिल अत्यधिक व्यायाम करने के करण भी बड सकता है.
Hydrocele Kyu Fulta Hai

हाईड्रोसिल क्यों फूलता है –

  1. हाईड्रोसिल के फूलने का कारण आनुवंशिक भी हो सकता है.
  2. प्रोस्टेट कैंसर से पीड़ित पुरुषों ने हाईड्रोसिल होने की सम्भावना अधिक होती है.
  3. हाईड्रोसिल के फूलने के अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी करण भी हो सकते है.

Hydrocele Me Dard Hona

हाईड्रोसिल पुरुषों में होने वाली आम समस्या है, जो अंडकोष में पानी जमा होने के कारण होती है. पानी जमा होने के कारण अंडकोष का आकार बढता है और दर्द होने लगता है.

Hydrocele Me Kya Hota Hai

हाईड्रोसिल में पुरुषों के अंडकोष का आकार बढता है और उसमे सुजन आने लगती है. जिसके कारण दर्द, असहज और अस्वस्थ महसूस होता है. यह चोट लगने के कारण, नाशो में सुजन के कारण, यौन संचरित संक्रमण के कारण  तथा अन्य कारणों से हो सकते है.

Hydrocele Me Sujan Ke Karan
  1. हाईड्रोसिल में सुजन अंडकोष में चोट लगने के कारण आ सकती है.
  2. हाईड्रोसिल में सुजन का कारण नसों की समस्या भी हो सकती है.
  3. हाईड्रोसिल में सुजन यौन संचारित संक्रमण के कारण हो सकता है.
  4. हाईड्रोसिल में अन्य संक्रमण के करण भी सुजन हो सकता है.
  5. हर्निया से पीड़ित पुरुषों में हाईड्रोसिल का खतरा होता है.

Hydrocele Gharelu Upay

हाईड्रोसिल के घरेलु उपाय के तौर पर आप संतरे तथा अनार के जूस का सेवन कर सकते है. सलाद के साथ नीबू लेना भी लाभकारी होता है.

Hydrocele Kaise Thik Karen

हाईड्रोसिल को ठीक करने के बहुत से उपाय है. आप डॉ के परामर्श से सर्जरी और स्पिरेसन भी करा सकते है. घरेलु उपाय भी अपना सकते है, जिसके अंतर्गत लेप का प्रयोग,तेल का प्रयोग, घरेलु दवा आदि आते है. आयुर्वेदिक इलाज भी कर सकते है.

Hydrocele Fulne Ka Karan

आमतौर पर यह मार्ग जन्म से पहले ही बंद होता है लेकिन कुछ मामलो में खुला ही रह जाता है. अगर यह मार्ग खुला रह जाता है तो तरल पेट से अंडकोष की  में थैली चला जाता है, जिसके कारण अंडकोष फूलने लगता है.

Hydrocele Ki Jankari

हाईड्रोसिल पुरुषों में पाई जाने वाली समस्या है, जिसमे उनके अंडकोष में पानी जमा हो जाता है. जिसके कारण अंडकोष का आकार बढता है , उसमे दर्द और सुजन हो जाता है. जिससे उनका स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याओ का सामना करना पड़ता है.

यह समस्या अंडकोष में चोट लगने के कारण, भरी उठाने के कारण या अन्य कारणों से हो सकता है. जिसके लिय डॉ से परामर्श ले सकते है, अन्य दवा या इलाज भी कर सकते है.

Hydrocele Me Kya Khana Chahiye

हाईड्रोसिल में में वैसे तो सब खा सकते है पर  विटामिन सी युक्त भोजन का सेवन अच्छा माना जाता है. जैसे संतरे, नीबू आदि. हाईड्रोसिल में फ़ास्ट फ़ूड से दूर रहना चाहिए. तथा पोषक तत्वों से युक्त भोजन का सेवन करना चाहिए.

Hydrocele Ke Liye Yoga

हाईड्रोसिल की समस्या में गोमुख आसन, कपल भारती, गडूनासन आदि करना चाहिय. परन्तु से सरे आसन धीरे धीरे करने चाहिए.

Hydrocele Ke Upay

  1. डॉ से मिले और सर्जरी और स्पिरेसन  कराये.
  2. और्वेदिक दवा ले.
  3. घरेलु उपाय करे.
  4. दिन चरिया में सुधर लाये, पौष्टिक भोजन करे, योग करे.
Hydrocele Kaise Thik Kare
  1. सर्जरी, जिसमे इंजेक्सन  के माध्यम से अंडकोष का पानी बहार निकला जाता है.
  2. स्पिरेसन, जिसमे अंडकोष में कट कर के जमा पानी बहार निकला जाता है.
  3. आयुर्वेदिक, घरेलु दवा के उपयोग से.
Hydrocele Kaise Hota Hai

अंडकोष का मार्ग जन्म से पूर्व बंद हो जाता है, यदि एसा नही होता तो उसमे धीरे धीरे पानी भरने लगता है, जिससे अंडकोष का आकार बड जाता है, सुजन आ जाती है, दर्द होने लगता है, जिसे हाईड्रोसिल कहते है.

Hydrocele Kyu Hota Hai

हाईड्रोसिल भरी वजन उठाने के कारण, चोट लगने के कारण, बीमारी के कारण, अनुवांशिक कारण, भरी व्यायाम के कारण, अन्य कारणों से हो सकता है.

Hydrocele Ka Ramban Ilaj

हाईड्रोसिल का रामबन इलाज स्पिरेसन है. इसमे अंडकोष में कट कर के जमा पानी बहार निकला जाता है, फिर स्किल्रोजिंग  नामक दवा दी जाती है. जिससे दुबारा हाईड्रोसिल होने की सम्भावना नहीं होती है.

Hydrocele Ka Desi Ilaj

हाईड्रोसिल के देशी इलाज के तौर पर कलि मिर्च और उससे दोगुनी मात्रा में जीरा ले. इनका पाउडर बना ले. इस पाउडर में सरसों और जैतून का तेल मिलकर गर्म करे.

फिर इसमे थोडा पानी मिलकर पकाए और एक लेप तैयार कर ले. इस लेप को अंडकोष में लगाये.

उम्मीद करते है आपको हमारी यह पोस्ट Hydrocele Se Kya Hota Hai और Hydrocele Ka Pani Kaise Nikale पसंद आई होगी

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर कर दीजिए और इस आर्टिकल से जुड़ा कोई भी सवाल हो तो उसे आप नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर के पूछ सकते हैं.

Questions & Answer:
Iodine Kya Hota Hai - Iodine Ki Kami Se Kya Hota Hai

Iodine क्या होता है – Iodine की कमी से क्या होता है

Kya Kaise
Chamaro Ka Itihas Kya Hai

चमार का इतिहास क्या है – इनका जनक कौन है – इनके रीती रिवाज क्या है

History
Cholesterol Badhne Se Kya Hota Hai और Cholesterol Badhne Par Kya Karen

Cholesterol बढ़ने से क्या होता है – कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर क्या करें

Health
Author :
प्रिये पाठक, आपका हमारी वेबसाइट Lipibaddh.com पर स्वागत है, इस वेबसाइट का काम लोगों को हिंदी भाषा में देश, विदेश एवं दैनिक जीवन में काम आने वाली जरुरी चीजों के बारे में जानकरी देना है.
Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *