Lubricant से क्या होता है – लुब्रीकेंट कैसे यूज़ करे, फायदे, नुकसान और उपयोग

इस पोस्ट में हम जानेंगे की Lubricant Se Kya Hota Hai और Lubricant Kaise Use Kare साथ ही जानेंगे लुब्रीकेंट क्या होता है और लुब्रीकेंट कैसे बनता है.

Lubricant Se Kya Hota Hai और Lubricant Kaise Use Kare

साथ ही पोस्ट में जानेंगे की लुब्रीकेंट के उपयोग, फायदे और नुकसान क्या है. इन सब के बारे में इस पोस्ट में विस्तार से जानेंगे.

Lubricant Kya Hai

Lubricant को हिंदी में स्नेहक कहा जाता है| यह एक ऐसा Substance होता है जिसका उपयोग दो सतहों के बिच घर्षण कम करने के लिये किया जाता है| उदाहरण के तोर पर हम ग्रीस ले सकते है|

घर्षण कम करने के लिये Lubricant की एक पतली परत दोनो धातुओ की सतह के बीच में लगाई जाती है, जिससे दोनो धातुए एक-दूसरे के सीधे संपर्क में नही आ पाती है। जिससे उन दोनों के बिच में घर्षण कम होता है|

Lubricants तीन प्रकार के होते है:-

ठोस (solid) :- वह Lubricants जो ठोस अवस्था में पायें जाते है, उन्हें ठोस Lubricants कहा जाता है|
तरल (liquid) :- वह Lubricants जो तरल अवस्था(जो बह सकते है) में पायें जाते है, उन्हें तरल Lubricants कहा जाता है|
अर्द्ध ठोस (semi solid) :- वह Lubricants जो न तो पूरी तरह से ठोस होते और न ही पूरी तरह से तरल अवस्था में, अर्थात यह दोनों का मिश्रण होते है| इस प्रकार के Lubricants अर्द्ध ठोस Lubricants कहलाते है|

Lubricant Kya Hota Hai

Lubricant एक ऐसा Substance होता है जिसका उपयोग दो सतहों के बिच घर्षण कम करने के लिये किया जाता है| उदाहरण- ग्रीस, इंजन आयल आदि|

घर्षण कम करने के लिये Lubricant की एक पतली परत दोनो धातुओ की सतह के बीच में लगाई जाती है, जिससे दोनो धातुए एक-दूसरे के सीधे संपर्क में नही आ पाती है। जिससे उन दोनों के बिच में घर्षण कम होता है तथा तापमान नियंत्रित रहता है|

Lubricants के उपयोग से किसी भी मशीन की life को लंबे समय तक सुरक्षित किया जा सकता है तथा इनका उपयोग करने के कारण मशीन के पुर्जे भी  जल्दी खराब नहीं होते हैं|

लुब्रिकेंट किसे कहते हैं

ऐसे पदार्थ जिनका उपयोग घर्षण कम करने के लिये किया जाता है स्नेहक(Lubricant) कहलाते है| Mobile Oil, गियर Oil, ग्रीस आदि Lubricants के उदाहरण है|

वह पदार्थ जिन्हें Lubricant की Category में रखा गया है, उनमे कुछ सामान्य गुण होते है जिन्हें नीचे प्रदर्शित किया गया है:-

  • श्यानता(Viscosity) :- द्रवों के बहने का गुण श्यानता कहलाता है| सभी द्रवों की अलग-अलग Viscosity होती है| पानी की Viscosity कम होती है इसलिये वह आसानी से बह जाता है जबकि Oil की Viscosity पानी से अधिक होती है इसलिये यह आसानी से नही बहता| शहद या ग्लिसरीन की बात की जाये तो इन दोनों की Viscosity, Oil से अधिक होती है|
  • तैलीयपन(Oiliness) :-किसी सतह को गिला या चिकना करने के गुण को तैलीयपन कहते है।
  • ज्वलन बिंदु(Fire Point) :-कोई भी Lubricant कितने तापमान पर जाकर गर्म होकर जलने की अवस्था में पहुँच जाता है, उसे उस Lubricant का Fire Point कहते है। किसी भी Lubricant का Fire Point जितना ज्यादा होता है Lubricant उतना ही अच्छा माना जाता है।
  • Flash Point :- कोई भी Lubricant कितने तापमान पर जाकर गर्म होकर जलने लग जाता है, उसे उस Lubricant का Flash Point कहते है। किसी भी Lubricant का Flash Point जितना ज्यादा होता है Lubricant उतना ही अच्छा माना जाता है।
Lubricant Gel Kya Hota Hai

Lubricant का सामान्य मतलब होता है चिकनाई देने वाला पदार्थ| Lubricant एक तरह का Liquid या Gel होता है| जिसका उपयोग घर्षण को कम करने तथा उस जगह को Wet और फिसलदार बनाने के लिये किया जाता है| जिससे उसकी कार्य करने की क्षमता बढ़ जाती है|

Lubricant Kaise Banta Hai

Lubricants एक पेट्रोलियम Product है| इंजन Oil जो की एक Lubricant है, इसे Crude Oil(कच्चे तेल) से बनाया जाता है| सबसे पहले जमींन से कच्चे तेल को निकाला जाता है और उसे छाना जाता है| जिससे इसमें से दो-तीन तरह की चीज़े निकलती है जैसे:- मिट्टी का तेल, पेट्रोल आदि|

यह हल्के होते है इसलिये यह ऊपरी सतह पर रह जाते है| यह आसानी से जल जाते है इसलिए इनका उपयोग Fuel के रूप में किया जाता है|

इसके बाद जो गाढ़ा पदार्थ या भारी पदार्थ होता है उसे Base Oil कहते है| इस Base Oil की Viscosity कम होती है इसलिये Base Oil में VI(Viscosity Index) Improver डाला जाता है है जो Base Oil की Viscosity  बढ़ाता है|

हर इंजन आयल एक जैसा नही होता है, हर प्रकार की मशीन के लिये अलग-अलग Oil इस्तेमाल किया जाता है| इसलिए इसमें फिर जरुरत के हिसाब से कुछ Addictive मिलाये जाते है|

Lubricant Se Kya Hota Hai

Lubricants एक स्नेहक का काम करता है| इसका उपयोग करने से घर्षण को कम किया जाता है साथ ही साथ इसके उपयोग से तापमान भी नियंत्रित किया जाता है|

Lubricants के इस्तेमाल करने से मशीनों का जीवनकाल बढ़ जाता है तथा उनकी कार्य करने की क्षमता भी बढ़ जाती है| Lubricants चिकने एवं तैलीय होते है जैसे:- ग्रीस, इंजन Oil आदि|

Lubricant Kaise Use Kare

किसी भी Lubricant को Use करने से पहले निम्न बातो को ध्यान रखना चाहिये:-

  • Lubricant की अंतिम तिथी(Expire Date) न निकल गई हो|
  • Lubricant उसी Particular Type की मशीन के लिये हो|
  • Lubricant की क्षमता Particular Type की मशीन के लिये योग्य हो|

Lubricant Ki Kami

Lubricants का उपयोग मशीनों की Efficiency को बढाता है| अगर मशीनों में Lubricants का उपयोग न किया जाये या कम मात्रा में उपयोग किया जाये तो इससे कुछ नुकसान देखे जा सकते है| जो नीचे प्रदर्शित है:-

  • तापमान में वृद्धि हो जायेगी|
  • पुर्जो के टूटने का खतरा रहेगा|
  • दो सतहों के बीच घर्षण ज्यादा होगा|
  • मशीनों का जीवनकाल कम हो जायेगा|
  • मशीन के पुर्जो में जंग जल्दी लग जायेगी|
  • मशीनों के कार्य करने की क्षमता कम हो जायेगी|
Lubricant Ke Fayde

Lubricant के फायदे :-

  • तापमान नियंत्रित करता है|
  • मशीनो को जंग से बचाता है|
  • पुर्जो के जीवनकाल को बढ़ाता है|
  • मशीनों की Efficiency को बढ़ाता है|
  • दो सतहों के बीच घर्षण को कम करता है|
  • वस्तुओं में धुएं और आग के जोखिम को कम करता है|
  • Lubricant गतिशील भागों को अलग रखकर उनको टूटने से बचाता है|

Lubricant Ke Nuksan

Lubricant के नुकसान :-

  • सभी मशीनों के लिये अलग-अलग तरह के Lubricants का उपयोग किया जाता है| इसलिये यह आवश्यक है की किसी भी मशीन के लिये सही Lubricant का उपयोग किया जाये| क्योकि अगर गलत Lubricant का उपयोग किया जाये तो यह सतहों के बिच घर्षण और तापमान को बढ़ा सकता है|
  • Lubricants को प्रतिदिन साफ करने की जरूरत होती है| अगर ऐसा नही किया जाये तो वह जगह बहुत गन्दी हो जायेगी और उसमे से दुर्गन्ध आ सकती है| लेकिन Lubricants की सफाई करना आसान नही होता|
  • अगर Lubricants को ठीक से Dispose नही किया जाये तो यह मिट्टी और पानी को प्रदूषित करता है|
  • कोई भी Lubricant किसी भी मशीन के लिये Perfect नही होता| हमे कही न कही Compromise करना ही पड़ता है| जैसे हम जानते है की Lubricant का Use करने से घर्षण कम होता है लेकिन दूसरी और Lubricant का उपयोग करने से Fuel का Use ज्यादा होता है|
Lubricant Ka Matlab Kya Hai

Lubricant का हिंदी में मतलब होता है स्नेहक| यह तैलीय और चिकना होता है| Lubricant का मतलब उन सभी पदार्थो से है जिनका उपयोग घर्षण को कम करने, तापमान नियंत्रित करने आदि के लिये किया जाता है| द्रव के रूप में होने के कारण इसमें श्यानता का गुण पाया जाता है|

Lubricating Oil की दो सामान्य Categories होती है- Mineral और Synthesis| Mineral Oils वह Oil होते है जो प्राकृतिक रूप से प्राप्त किये जाते है तथा Synthesis Oils वह Oil होते है जिन्हें मानव द्वारा निर्मित किया गया है|

Lubricant Ka Upyog

Lubricant का उपयोग :-

  • दो सतहों के बीच घर्षण को कम करने के लिये|
  • मशीनों की Efficiency को बढ़ाने के लिये|
  • गतिशील भागो को टूटने से बचाने के लिये|
  • पुर्जो के जीवनकाल को बढ़ाने के लिये|
  • मशीनो को जंग से बचाने के लिये|
  • तापमान नियंत्रित करने के लिये|

उम्मीद करते है आपको हमारी यह पोस्ट Lubricant Se Kya Hota Hai और Lubricant Kaise Use Kare पसंद आई होगी.

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर कर दीजिए और इस आर्टिकल से जुड़ा कोई भी सवाल हो तो उसे आप नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर के पूछ सकते हैं.

Questions & Answer:
Betnovate C Se Kya Hota Hai - Betnovate C Ke Fayde Or Nuksaan

Betnovate C से क्या होता है – उपयोग कैसे करे, फायदे, लगाने का तरीका

AllopathicHealth
Kachcha Chawal Khane Se Kya Hota Hai और Kache Chawal Khane Ke Fayde Aur Nuksan

Kachcha Chawal खाने से क्या होता है – कच्चे चावल खाने के फायदे और नुकसान

Kya Kaise
Jyada Sochne Se Kya Hota Hai और ज्यादा सोचने के फायदे और नुकसान

ज्यादा सोचने से क्या होता है – Jyada Sochne के फायदे और नुकसान,बीमारी

HealthKya Kaise
Author :
प्रिये पाठक, आपका हमारी वेबसाइट Lipibaddh.com पर स्वागत है, इस वेबसाइट का काम लोगों को हिंदी भाषा में देश, विदेश एवं दैनिक जीवन में काम आने वाली जरुरी चीजों के बारे में जानकरी देना है.
Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *