Pai का आविष्कार किसने किया – π का मान कितना होता है, कैसे निकालते हैं – सूत्र

इस पोस्ट में हम जानेंगे की Pai Ka Avishkar Kisne Kiya और Pai Ka Man Kitna Hota Hai साथ ही जानेंगे पाई कैसी संख्या है और पाई का मान कैसे निकालते है.

Pai Ka Avishkar Kisne Kiya और Pai Ka Man Kitna Hota Hai

साथ ही पोस्ट में जानेंगे की पाई की वैल्यू, सूत्र, जानकारी और पाई का मान 22 7 क्यों होता है. इन सब के बारे में इस पोस्ट में विस्तार से जानेंगे.

Pai Kya Hota Hai

पाई गणित का  एक नियतांक है जिसे π से दर्शाया जाता है. पाई का संख्यात्मक मान किसी भी वृत्त की परिधि और उसके व्यास के अनुपात के बराबर होती है. पाई को ‘π’ संकेत द्वारा 1706 में सबसे पहले विलिया जोन्स ने दर्शाया था.

पाई का संख्यात्मक मान 3.14159 निकलकर आया जिसे 22/7 की मदद से निकाला गया था. पाई एक अपरिमेय संख्या है. पाई एक अपरिमेय संख्या इसलिए है क्योकि उसे p/q के रूप में नहीं लिखा जाता है.

अपरिमेय संख्या : अपरिमेय संख्या ऐसी संख्या होती है जिसे p/q के रूप में व्यक्त नहीं किया जाता है जबकि परिमेय संख्या को p/q के रूप में व्यक्त किया जाता है. यहाँ p और q पूर्णांक है जिसमे q शून्य नहीं होता है.

Pai Ka Avishkar Kisne Kiya

पाई का आविष्कार सबसे पहले भारत के सबसे प्रसिद्ध और महान गणितज्ञ आर्यभट्ट ने किया था. आर्यभट्ट ने पाई का आविष्कार 5वी सदी में ही कर दिया था इन्होने पाई का सबसे सटीक मान बताया था. आर्यभट्ट ने पाई के सिद्धांत को लोगो को समझाया भी था.

आधुनिक युग की बात की जाए तो पाई का मान 1706 में गणितज्ञ विलिया जोन्स ने दिया था पर आर्यभट्ट ने इसकी खोज और इसका मान 5वी सदी में ही बता दिया था.

Pai Ka Man Kitna Hota Hai

पाई का मान 22/7 होता है जिसे 3.14 के रूप में भी लिखा जाता है. यह मान 22 में 7 का भाग देने पर आता है. पाई का सटीक मान कोई नहीं जानता, इसे अनंत माना जाता है.

Pai Kaisi Sankhya Hai

पाई (π) एक अपरिमेय संख्या है क्योकि वृत्त की π को उसके परिधि और व्यास से (परिधि/व्यास) दर्शाया जाता है.

Pai Ka Sutra

वृत्त की पाई का सूत्र कुछ इस प्रकार है :

वृत्त की पाई (π) का सूत्र : परिधि/व्यास

पाई परिमेय है या अपरिमेय

पाई एक अपरिमेय संख्या होती है ना की परिमेय संख्या.

पाई का मान 22 7 क्यों होता है

पाई का मान 22/7 इसलिए होता है क्योकि जब इस पर खोज की गयी और गहन अध्यन किया तो यह पाया गया की पाई का मान और 22/7 का मान दशमलव के कुछ स्थानों तक तो एक जैसा ही था. यही वजह है की पाई को 22/7 के समान ही माना गया.

यही वजह भी है की पाई को एक अपरिमेय संख्या माना जाता है जबकि 22/7 को परिमेय संख्या कहा जाता है.

पाई का मान कैसे निकालते हैं

पाई का मान निकालने का सिद्धांत आर्यभट्ट द्वारा सबसे पहले दिया गया था. आर्यभट्ट ने पाई का मान निकालने के लिए संस्कृत भाषा में एक सिद्धांत बताया था जो इस प्रकार है :

चतुराधिकं शतमष्टगुणं द्वाषष्टिस्तथा सहस्त्राणाम्।
अयुतद्वयस्य विष्कम्भस्य आसन्नौ वृत्तपरिणाहः॥

अर्थ : जब संख्या 100 में 4 को जोड़ा जाए, 8 से गुणा किया जाए और फिर उसमे 62,000 को जोड़ा ((100+4)×8+62,000) जाता है तब उसका परिणाम 62832 निकलकर आता है.

इस सिद्धांत की मदद से 20,000 व्यास वाले वृत्त की परिधि का मान ज्ञात किया गया था. अर्थात यदि किसी वृत्त का व्यास 20,000 हो तो वृत्त की परिधि का मान 62832 निकलकर आता है.

  • पाई = वृत्त की परिधि / वृत्त का व्यास
  • पाई = 62832/20000
  • पाई = 3.141

पाई का यह मान 22/7 के समान ही था इसलिए इसे 22/7 के रूप में भी लिखा जाता है.

पाई दिवस कब मनाया जाता है

पाई दिवस (π day) हर साल 14 मार्च को मनाया जाता है. इस दिन की सबसे खास बात यह है की पाई दिवस पाई के मान के दिन अर्थात 3 मतलब तीसरा महीना यानी मार्च और 14 अर्थात दिनांक 14 को मनाया जाता है.

Pai – FAQs
Pai Ke Bare Me Jankari

पाई एक अपरिमेय संख्या है जिसका मान 3.14 होता है. पाई की खोज सबसे पहले भारत में आर्यभट्ट द्वारा की गयी थी. पाई से जुडी अन्य जानकारी जानने के लिए इस पोस्ट को विस्तार से पड़े.

Pie Ki Khoj Kisne Ki

पाई की खोज सबसे पहले भारत में हुई थी जिसे भारत के सबसे पुराने और महान गणितज्ञ आर्यभट्ट ने खोजा था. आर्यभट्ट ने पाई का सबसे सटीक मान दुनिया को बताया था.

Pai Ki Khoj Kisne Ki

पाई की खोज का श्रेय भारत के महान गणितज्ञ आर्यभट्ट को दिया जाता है जिन्होंने लगभग 5वी शताब्दी में ही पाई का आविष्कार कर इसका सटीक मान दुनिया के सामने रखा था.

Pai Ka Man Kisne Diya

पाई का मान सबसे पहले भारत के आर्यभट्ट (Aryabhatt) ने दिया था.

Pai Ka Maan

π का मान 3.14159 होता है जिसे 5वी सदी में आर्यभट्ट द्वारा बताया गया था.

Pai Ka Man Kya Hai

पाई (π) का मान 3.1415926536 होता है.

Pie Ki Value

पाई की वैल्यू 3.14159 होती है इसके आगे भी कई संख्या होती है पर इसे 3.14 तक ही लिखा जाता है.

Pai Ki Value Kya Hoti Hai

पाई की वैल्यू अनंत होती है जिसे 22/7 और 3.14159 के रूप में लिखा जाता है यह मान अनंत तक होता है.

उम्मीद करते है आपको हमारी यह पोस्ट Pai Ka Avishkar Kisne Kiya और Pai Ka Man Kitna Hota Hai पसंद आई होगी.

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर कर दीजिए और इस आर्टिकल से जुड़ा कोई भी सवाल हो तो उसे आप नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर के पूछ सकते हैं.

Questions & Answer:
Zoom App Se Kya Hota Hai और Zoom App Se Meeting Kaise Karen

Zoom App से क्या होता है – ज़ूम एप डाउनलोड कैसे करे, मीटिंग कैसे करें, पैसे कमाए

InternetKya Kaise
Green Tea Pine Se Kya Hota Hai और Green Tea Peene Ke Kya Fayde Hain

Green Tea पीने से क्या होता है – ग्रीन टी पीने के क्या फायदे हैं, ग्रीन टी कैसे बनाए

Health
Dashamlav Kya Hai और Dashamlav Ka Avishkar Kisne Kiya

Dashamlav क्या है – दशमलव की खोज किसने की,दशमलव की परिभाषा

Avishkar
Author :
प्रिये पाठक, आपका हमारी वेबसाइट Lipibaddh.com पर स्वागत है, इस वेबसाइट का काम लोगों को हिंदी भाषा में देश, विदेश एवं दैनिक जीवन में काम आने वाली जरुरी चीजों के बारे में जानकरी देना है.
Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *