Period से क्या होता है – पीरियड में हलकी ब्लीडिंग होना, उपाय और जानकारी

इस पोस्ट में हम जानेंगे की Period Se Kya Hota Hai और Period Ke Bare Me Jankari साथ ही जानेंगे पीरियड में क्या क्या होता है और 25 दिन में पीरियड आने का क्या कारण है.

Period Se Kya Hota Hai और Period Ke Bare Me Jankari

साथ ही पोस्ट में जानेंगे की पीरियड का कम आना, पीरियड लाने के लिए क्या करे और पीरियड में सम्बन्ध बनाने से क्या होता है. इन सब के बारे में इस पोस्ट में विस्तार से जानेंगे.

Period Kyu Hota Hai

Periods आना महिलाओं में एक मुख्य क्रिया है, Periods उन Tissues को बाहर निकालने का एक तरीका है जिनकी शरीर को जरूरत नहीं है. Periods गर्भधारण करने में सहायता करते है. इसलिए Periods महिलाओं के जीवन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं. लड़कियों में Periods की शुरुआत होने का मतलब है कि उनका शरीर अब संभावित गर्भावस्था के लिए तैयार है.

Periods को रजोधर्म भी कहा जाता है. Periods की मदद से ही शिशु का जन्म होता है, दूसरे शब्दों में कहें तो Periods गर्भाशय को शिशु के जन्म के लिए तैयार करते हैं.

Periods का सीधा संबंध गर्भाशय से होता है. हर महीने गर्भाशय की सतह पर नरम उतक की एक परत बनती है, ये परत शिशु के पोषण के लिए बेहद जरूरी होती है.

लेकिन जब तक महिला गर्भधारण नहीं करती तब तक उसके गर्भाशय को  इस उतक की परत की कोई जरूरत नहीं होती इसलिए हर महीने यह परत खून के रूप में योनि से बाहर निकल जाती है, इसी को मासिक धर्म या Periods कहा जाता है.

Period Ke Bare Me Jankari

महिलाओं में मासिक धर्म आना एक सामान्य बात है, यह उनकी योवन अवस्था का प्रारंभ दर्शाती है. मासिक धर्म के दौरान महिलाओं को काफी पीड़ा सहनी पड़ती है. यह पीड़ा किसी के लिए सामान्य हो सकती है लेकिन कुछ महिलाओं के लिए मासिक धर्म में होने वाला दर्द असामान्य हो जाता है.

मासिक धर्म में महिलाओं में कई Harmons में परिवर्तन होता है. कई महिलाओं को इस दौरान पेट दर्द, पीठ दर्द, पैरों में सूजन जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है. मासिक धर्म में महिलाओं की योनि से रक्त का स्त्राव होता है. यह स्त्राव कभी कम तो कभी ज्यादा होता है ऐसे में जब मासिक धर्म की स्थिति में महिलाओं में रक्त का स्त्राव अधिक हो जाता है तो उन में आयरन की कमी हो जाती है. जिसके कारण वह कमजोर हो जाती है, जिससे उन्हें भविष्य में कई समस्याओं का सामना करना पड़ जाता है.

Period Se Kya Hota Hai

Periods से मानव की उत्पत्ति होती है। प्रकृति ने स्त्रियों को सन्तान उत्पन्न करने की अहम क्षमता दी है। Periods महिलाओं में इस बात का संकेत होता है कि अब वह प्रजनन के लिये सक्षम है. जब महिलाओं में Periods की शुरुआत होती है तो उनमे एस्ट्रोजन का स्तर बढ़ जाता है.

Period Me Halki Bleeding Hona

एक सामान्य महिला को मासिक धर्म की अवधि में लगभग 30 से 40 मिलीलीटर रक्त स्त्राव होता है. अगर इस मात्रा से कम रक्त स्त्राव हो रहा है या हल्की Bleeding हो रही है तो इसका मतलब है कि उस महिला को मासिक धर्म के दौरान Blood कम आ रहा है.

यदि Periods में रक्त कम आने की समस्या कई महीनों से हो रही है, तो आपको इसके कारण जानने के लिए डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए.

Period Me Kya Kya Hota Hai

दो Periods के बीच का नियमित समय मासिक चक्र कहलाता है. सामान्य तौर पर सभी का मासिक चक्र अलग-अलग होता है. Periods के दौरान निम्न चीजें होती है:-

  • मासिक धर्म में महिलाओं की योनि से रक्त का स्त्राव होता है.
  • Periods के दोरान कुछ लड़कियों को  पेट के निचले हिस्से में दर्द या अकड महसूस होती है इस समय में गर्भाशय खून को बाहर निकालने के लिए सिकुड़ता है जिसकी वजह से ही यह दर्द होता है
  • सिर दर्द करना, पिम्पल्स निकलना जैसी समस्याए भी होती है पर यह सब सामान्य बाते है.
  • कुछ महिलाओं को पीठ में दर्द होता है.
  • कभी-कभी पैरों में सूजन आ जाती.

25 दिन में पीरियड आने का क्या कारण है

सामान्यतः मासिक धर्म चक्र 21 से 35 दिनों की अवधि का होता है. इसके बीच अगर Periods आ जाते है तो उन्हें सामान्य Periods की श्रेणी में ही रखा जाता है. अगर कोई महिला को 25 दिन में Periods आते है तो इसमें कोई चिंता की बात नही है, यह एक सामान्य अवधि होती है.

पीरियड में संबंध बनाने से क्या होता है

Periods में संबंध बनाना है या नहीं यह एक व्यक्तिगत Choice होती है. ऐसा नहीं है कि Periods में संबंध नहीं बना सकते. अगर आप और आपका साथी, Periods के दौरान संबंध बनाने में Comfortable है तो आप Periods की स्थिति में भी संबंध बना सकते हैं.

Periods के दौरान संबंध बनाने से होने वाले लाभ:-

  • अगर किसी महिला को Periods के दौरान सिर दर्द होता है, तो ऐसी स्थिति में संबंध बनाने से उसका सिर दर्द बंद हो जाता है.
  • Periods के दौरान संबंध बनाने पर Blood एक Lubricant का काम करता है, इसलिए ऐसी स्थिति में आपको किसी बाहरी Lubricant की जरूरत नहीं होती है.
  • Periods के दौरान संबंध बनाने से, Periods की Duration को कम किया जा सकता है.
  • Periods में संबंध बनाने से, Cramps में आराम मिलता  है.

Periods के दौरान संबंध बनाने से होने वाले दुष्प्रभाव:-

  • कुछ ही लोग होते हैं जिन्हें Periods के दौरान संबंध बनाना अच्छा लगता है क्योंकि Periods के दौरान संबंध बनाने पर Blood आपके साथी और आपके बिस्तर के ऊपर फैल जाता है, जिससे सब Dirty हो जाता है.
  • अगर बिना Condom के Periods के दौरान संबंध बनाया जाए तो ऐसी स्थिति में STI(Sexually Transmitted Infection) जैसे- HIV फेलने का खतरा ज्यादा हो जाता है.

Period Ka Kam Aana

महिलाओं में मासिक धर्म(Period) चक्र अलग-अलग हो सकता है और साथ ही साथ मासिक धर्म में रक्त का स्त्राव भी कम या ज्यादा हो सकता है. सामान्यतः 21 से 35 दिनों की अवधि के पश्चात मासिक धर्म आते हैं. जब महिलाओं में मासिक धर्म के दौरान रक्त का स्त्राव कम होता है, तो इस समस्या को Light Period कहा जाता है.

एक सामान्य महिला को मासिक धर्म की अवधि में लगभग 30 से 40 मिलीलीटर रक्त स्त्राव होता है. अगर इस मात्रा से काफी कम रक्त का स्त्राव हो तो इसका मतलब है कि उस महिला को मासिक धर्म के दौरान Bleeding कम हो रही है. यदि Periods में रक्त कम आने की समस्या कई महीनों से हो रही है, तो आपको इसके कारण जानने के लिए डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए.

Period Late होने के कई कारण हो सकते हैं जैसे:-

  • अधिक तनाव  से.
  • वजन बढ़ने के कारण.
  • पेट में गांठ पड़ने के कारण.
  • PCOS(पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम) होने की वजह से.
Period Lane Ke Liye Kya Kre

महिलाओं में मासिक धर्म एक प्राकृतिक प्रक्रिया है. इसलिए यह प्राकृतिक रूप से एवं नियमित तरीके से हो रहे हो तो, इसे स्वस्थ महिला का एक लक्षण माना जा सकता है. लेकिन कई बार मासिक धर्म में अनियमितता हो जाती है. Periods लाने के लिए कई तरह के घरेलू उपाय किए जाते हैं इसके अतिरिक्त कुछ Tablets का उपयोग भी Periods लाने के लिए किया जाता है.

अगर घरेलू तरीके की बात की जाए तो कहा जाता है कि अगर गर्म तासीर की चीजों का इस्तेमाल किया जाए तो Periods जल्दी आ जाते हैं, जैसे-ज्यादा मसालेदार चीजें, जीरा, गुड आदि. इसके अतिरिक्त कुछ फलों जैसे पपीता, अनार आदि से भी Periods आ सकते हैं. इसके अतिरिक्त स्त्री रोग विशेषज्ञ की सलाह से Tablet का उपयोग करके भी इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है.

Period – FAQs
Period Badhane Ki Tablet Name

Periods के दिन आगे बढ़ाने के लिए सामान्यतः Norethisterone Tablet का उपयोग किया जाता है. यह Tablet असरदार है.

इसका उपयोग करने के लिए इस Tablet को सामान्य जो Period की तारीख है उस से 3 दिन पहले से लेना शुरू कर दे और हर दिन तीन बार एक-एक Tablet का उपयोग करें.

उम्मीद करते है आपको हमारी यह पोस्ट Period Se Kya Hota Hai और Period Ke Bare Me Jankari पसंद आई होगी.

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर कर दीजिए और इस आर्टिकल से जुड़ा कोई भी सवाल हो तो उसे आप नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर के पूछ सकते हैं.

Questions & Answer:
Instagram Kya Hai और Instagram Ka Avishkar Kisne Kiya

Instagram की खोज किसने की – इंस्टाग्राम की आईडी कैसे बनाये,पूरी जानकारी

Avishkar
SGPT Badhne Se Kya Hota Hai - SGPT Badhne Ke Lakshan, Theek Karne Ka Tarika

SGPT बढ़ने से क्या होता है – SGPT बढ़ने के लक्षण, ठीक करने का तरीका

Kya Kaise
Durga Puja Ke Bare Mein

Durga Puja की विधि- दुर्गा पूजा के बारे में,Time,Date,महत्व

HistoryKya Kaise
Author :
प्रिये पाठक, आपका हमारी वेबसाइट Lipibaddh.com पर स्वागत है, इस वेबसाइट का काम लोगों को हिंदी भाषा में देश, विदेश एवं दैनिक जीवन में काम आने वाली जरुरी चीजों के बारे में जानकरी देना है.
Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *