PGDCA Course से क्या होता है – पीजीडीसीए के लिए फीस, जॉब सैलेरी और करियर

इस पोस्ट में हम जानेंगे की PGDCA Course Se Kya Hota Hai और PGDCA Course Ke Baad Kya Kare साथ ही जानेंगे पीजीडीसीए कोर्स क्या होता है और इसका फुल फॉर्म क्या है.

PGDCA Course Se Kya Hota Hai और PGDCA Course Ke Baad Kya Kare

साथ ही पोस्ट में जानेंगे की पीजीडीसीए के लिए क्वालिफिकेशन, सब्जेक्ट, फीस और इसके फायदे क्या है. इन सब के बारे में इस पोस्ट में विस्तार से जानेंगे.

PGDCA Course Full Form

PGDCA का पूरा नाम Post Graduate Diploma in Computer Application होता है. यह एक Post Graduate Course होता है जो कि भारत में कई Universities द्वारा उपलब्ध कराया जाता है.

PGDCA Course Kya Hota Hai

PGDCA 1 साल का Post Graduate डिप्लोमा कोर्स है जो कि मुख्य रूप से छात्रों को Computer और कंप्यूटर Applications पर सैद्धांतिक और व्यावहारिक ज्ञान के बारे में बताता है। PGDCA की फुल फॉर्म पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन( Post Graduate Diploma in Computer Application) होती है। यह Course ग्रेजुएशन पूरी होने के बाद किया जाता है.

PGDCA Course में विद्यार्थी कंप्यूटर से जुड़े कई विषयों का अध्ययन करता है. इस Course की मदद से विद्यार्थी Computer की Functionality और Computer के Internal Features को समझ पाता है. पीजीडीसीए कोर्स करने वाले विद्यार्थी को Computer से सम्बंधित विषयों जैसे- डेटाबेस प्रबंधन प्रणाली, ऑपरेटिंग सिस्टम, ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग, डाटा स्ट्रक्चर आदि का अध्ययन करवाया जाता है.

PGDCA Course Kab Kar Sakte Hai

सामान्य तोर पर कोई भी विद्यार्थी जिसने Graduation पूर्ण कर लिया है, वह विद्यार्थी पीजीडीसीए कोर्स करने के Eligible होता है.अधिकांशतः कॉलेज में सभी क्षेत्रों के विद्यार्थी जिन्होंने Graduation(चाहें Candidate ने बीए, बीएससी, बीकॉम, बीटेक या अन्य कोई ग्रेजुएशन लेवल का Course) पूर्ण कर ली है, उन्हें पीजीडीसीए कोर्स के लिये मान्य किया जाता है.

लेकिन कुछ कॉलेज में केवल उन्ही विद्यार्थियों को PGDCA Course के लिये Eligible किया जाता है जिन्होंने अपने Graduation में Mathematics पढ़ा हो.

PGDCA Course Me Kya Hota Hai

PGDCA कोर्स 1 वर्ष की अवधि में करा जाने वाला कोर्स है. इस कोर्स को ग्रेजुएशन पूरी होने पर किया जाता है. इस कोर्स में हम कंप्यूटर से सम्बंधित कई विषयों को पढकर, कंप्यूटर के बारे में विस्तृत जानकारी अर्जित करते है. इस पूरे कोर्स में कंप्यूटर से सम्बंधित आने वाले विषय:-

  • Operating System
  • Database Management System
  • Basic Computer Programming
  • Basic Finance Ma
  • Software Engineering
  • Computer Network
  • Data Structure
  • Web Programming
  • Object Oriented Programming

PGDCA Course Se Kya Hota Hai

PGDCA कोर्स करने के बाद विद्यार्थी को कई फायदे होते है:-

  • PGDCA Course करने के दोरान आपको कंप्यूटर से सम्बंधित कई जानकारियों का पता लगेगा, जिससे आप कंप्यूटर के बारे में बहुत कुछ नया सिख सकते है. कंप्यूटर की जानकारी होना बहुत आवश्यक है क्योंकि आज का युग Computer का युग है.
  • पीजीडीसीए कोर्स करने पर IT Sectors में Job के अवसर बढ़ जाते है.
  • आपको कम अवधि में डिप्लोमा मिल जायेगा, जिससे आपको Job जल्दी और आसानी से मिलने में मदद मिलेगी.
  • पीजीडीसीए कोर्स करने के बाद आप कई तरह के Computer Science से सम्बंधित पदों जैसे:- सॉफ्टवेर इंजिनियर, IT Consultant, Computer Operator, कंप्यूटर Teacher, Interface इंजिनियर आदि पर काम कर सकते है.
PGDCA Course Ke Liye Qualification

PGDCA कोर्स करने के लिए उम्मीदवार को किसी भी Stream से ग्रेजुएट होना चाहिए। चाहें उम्मीदवार ने बीए, बीएससी, बीकॉम, बीटेक या अन्य ग्रेजुएशन लेवल का कोई भी कोर्स किया हो, PGDCA कोर्स कर सकता है।

अधिकांशतः कॉलेज में सभी क्षेत्रों के विद्यार्थी जिन्होंने Graduation पूर्ण कर ली है, उन्हें PGDCA कोर्स के लिये मान्य किया जाता है. लेकिन कुछ कॉलेज में केवल उन्ही विद्यार्थियों को पीजीडीसीए कोर्स के लिये Eligible किया जाता है जिन्होंने अपने Graduation में Mathematics पढ़ा हो.

PGDCA Course Kitne Saal Ka Hota Hai

PGDCA का पूरा नाम Post Graduate Diploma in Computer Application होता है. PGDCA 1 साल का डिप्लोमा Course होता है. जिसे आप किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से कर सकते हैं.

PGDCA Ki Fees Kitni Hai

PGDCA कई अलग-अलग विश्वविद्यालयों द्वारा करवाया जाता है, PGDCA Course कि कोई निश्चित Fees नहीं है. PGDCA के लिए लगने वाली Fees उस College पर निर्भर करती है. कुछ कॉलेज में इसकी Fees ज्यादा तो कुछ कॉलेज में PGDCA कोर्स की Fees कम लगती है.

PGDCA Me Kitne Subject Hote Hai

PGDCA कोर्स एक साल का होता है, इस एक साल को दो Semesters में बांटा गया है. हर एक सेमेस्टर में अलग-अलग Subjects होते है. इसमें विषय Optional भी होते है.

  • Semester-I विषय:-
  1. Operating System
  2. Database Management System
  3. Basic Computer Programming
  4. Basic Finance Management
  5. Communication Skills
  • Semester-II विषय:-
  1. Software Engineering
  2. Computer Network
  3. Data Structure
  4. Web Programming
  5. Object Oriented Programming
PGDCA Course Kaha Se Kare

पीजीडीसीए कोर्स कई कॉलेज में उपलब्ध होता है.आजकल अनेक ऐसे कॉलेज है जहां पर पीजीडीसीए कोर्स कराया जाता है. लेकिन PGDCA कोर्स या कोई भी कोर्स हो, विद्यार्थी को जब तक हो सके उच्च मान्यता प्राप्त एवं शिक्षा के क्षेत्र में अच्छे कॉलेज से ही करना चाहिये. क्योंकिं किसी भी कॉलेज की पढ़ाई कैसी है, इस बात पर ही निर्भर करता है की अगर आप वहां से कोई Course करते है तो आपको उस Course से सम्बंधित कितना ज्ञान मिलेगा.

नीचे कुछ कॉलेज/यूनिवर्सिटी Suggest की गई है-

  • Allahabad University – University of Allahabad Allahabad
  • CSJMU Kanpur – Chhatrapati Shahu ji Maharaj University
  • GCW Sector 14 Gurgaon – Government College Sector- 14

PGDCA Course Ke Baad Kya Kare

PGDCA Course करने के बाद विद्यार्थी के पास जो Career Options होते है, उनमे से कुछ नीचे दर्शायें गए है:-

  • पीजीडीसीए कोर्स के बाद आप किसी छोटी या बड़ी IT कंपनी में आसानी से Job कर सकते है.
  • अगर कोई विद्यार्थी आगे की पढाई करने चाहता है जैसे:- MBA, MCA, M.A. आदि तो, उसमे भी आसानी से जा सकते है.
  • PGDCA के बाद भी सरकारी नौकरी लगने का अवसर होता है. उदाहरण के तोर पर PGDCA के बाद UPSC जैसी परीक्षा दी जा सकती है.
पीजीडीसीए के बाद करियर

PGDCA के बाद करियर:-

  • पीजीडीसीए कोर्स के बाद आप किसी छोटी या बड़ी IT कंपनी में आसानी से Job कर सकते है.
  • अगर कोई विद्यार्थी आगे की पढाई करने चाहता है जैसे:- MBA, MCA, M.A. आदि तो, उसमे भी आसानी से जा सकते है.
  • PGDCA के बाद भी सरकारी नौकरी लगने का अवसर होता है.

PGDCA प्राप्त विद्यार्थी कई क्षेत्रों में भिन्न-भिन्न पदों पर काम कर सकते है. जिनमे से कुछ पद नीचे बताये गए है:-

  • कंप्यूटर Operator,
  • बेसिक Programmer,
  • Computer Teacher,
  • मोबाइल App Developer,
  • Data Entry Operator,
  • Basic Software Development,
  • Database Operator आदि.
PGDCA Course Ke Fayde

PGDCA Course के फायदे:-

  • PGDCA Course करने के दोरान आपको कंप्यूटर से सम्बंधित कई जानकारियों का पता लगेगा, जिससे आप कंप्यूटर के बारे में बहुत कुछ नया सिख सकते है. कंप्यूटर की जानकारी होना बहुत आवश्यक है क्योंकि आज का युग Computer का युग है.
  • PGDCA Course करने पर IT Sectors में Job के अवसर बढ़ जाते है.
  • आपको कम अवधि में डिप्लोमा मिल जायेगा, जिससे आपको Job में मदद मिलेगी.
  • PGDCA कोर्स करने के बाद आप कई तरह के Computer Science से सम्बंधित पदों जैसे:- सॉफ्टवेर इंजिनियर, IT Consultant, Computer Operator, कंप्यूटर Teacher, Interface इंजिनियर आदि पर काम कर सकते है.
PGDCA – FAQs 
पीजीडीसीए कब कर सकते हैं

सामान्य तोर पर अधिकांशतः कॉलेज में PGDCA Course करने के लिये उस विद्यार्थी को किसी भी क्षेत्र में Graduation Complete होना चाहिये. लेकिन कुछ कॉलेज ऐसे भी होते है जहाँ केवल उन्हीं Students का Admission लिया जाता है जिनके Graduation में गणित विषय शामिल था.

उम्मीद करते है आपको हमारी यह पोस्ट PGDCA Course Se Kya Hota Hai और PGDCA Course Ke Baad Kya Kare पसंद आई होगी.

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर कर दीजिए और इस आर्टिकल से जुड़ा कोई भी सवाल हो तो उसे आप नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर के पूछ सकते हैं.

Questions & Answer:
Bluetooth Ka Avishkar Kisne Kiya और Bluetooth Kaise Connect Karte Hain

Bluetooth का आविष्कार किसने किया – ब्लूटूथ कैसे कनेक्ट करते हैं

Avishkar
Instagram Kya Hai और Instagram Ka Avishkar Kisne Kiya

Instagram की खोज किसने की – इंस्टाग्राम की आईडी कैसे बनाये,पूरी जानकारी

Avishkar
ITI Se Kya Hota Hai और ITI Ka Paper Kaisa Hota Hai

ITI Se Kya Hota Hai – आईटीआई कैसे करें,ITI की पूरी जानकारी,Form,Scholarship

EducationJobKya Kaise
Author :
प्रिये पाठक, आपका हमारी वेबसाइट Lipibaddh.com पर स्वागत है, इस वेबसाइट का काम लोगों को हिंदी भाषा में देश, विदेश एवं दैनिक जीवन में काम आने वाली जरुरी चीजों के बारे में जानकरी देना है.
Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *