Pregnancy में सीधा सोने से क्या होता है – सीधा सोने के नुकसान, सही तरीका क्या है

इस पोस्ट में हम जानेंगे की Pregnancy Me Sidha Sone Se Kya Hota Hai और Pregnancy Me Sidha Sone Ke Nuksan साथ ही जानेंगे प्रेगनेंसी में कैसे सोते है और प्रेगनेंसी में सीधा सोना चाहिए या नहीं.

Pregnancy Me Sidha Sone Se Kya Hota Hai और Pregnancy Me Sidha Sone Ke Nuksan

साथ ही पोस्ट में जानेंगे की प्रेगनेंसी में सोने का सही तरीका और प्रेगनेंसी में ध्यान रखने वाली बाते क्या है. इन सब के बारे में इस पोस्ट में विस्तार से जानेंगे.

Pregnancy Me Kaise Soye

किसी भी महिला के लिये गर्भावस्था का समय उसके और उसके परिवार के जीवन का एक खुबसूरत समय होता है, लेकिन इस गर्भावस्था के पूरे Time Period में उन्हें कई तरीके की समस्याओं का सामना करना पड़ता है.

गर्भावस्था के दौरान शिशु का विकास होता है, जिसके कारण गर्भवती महिला में थकान, जी मिचलाना, शरीर में दर्द, बेचैनी आदि जैसी कई समस्याएं होती है.

गर्भावस्था के दौरान किस तरह से सोना चाहिए, यह महत्वपूर्ण है. क्योंकि गर्भावस्था के दौरान भ्रूण का आकार बढ़ने लगता है और भारीपन महसूस होता है, इसलिए इस स्थिति में सोना आसान नहीं है और अगर ऐसी स्थिति में महिला गलत तरीके से सोये तो यह शिशु के विकास में बाधा उत्पन्न करता है.

गर्भावस्था में महिलाओं को पेट के बल नहीं सोना चाहिए क्योंकि ऐसा करने पर उनके भ्रूण पर दबाव बनता है. इसके अतिरिक्त सामान्य तौर पर गर्भवती महिलाओं को लगभग 8 घंटे की नींद लेना चाहिए और अगर जरूरत लगे तो दिन में भी कुछ समय सो सकते हैं.

Pregnancy Me Kaise Sote Hai

गर्भावस्था के दौरान, गर्भवती महिलाएं कैसे बैठती है? क्या खाती है? कितना सोती है? और इस तरह की जाने वाली हर क्रिया का प्रभाव शिशु पर पड़ता है. इसलिए हमें इन सभी चीजों का ज्ञान होना आवश्यक है की गर्भवती महिला को किस तरह से बैठना चाहिए? क्या-क्या चीज खानी चाहिए? और किस तरह से सोना चाहिए? आदि.

गर्भवती महिलाओं को किस तरह से सोना चाहिए, इसके लिए चिकित्सकों का सुझाव होता है कि गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को अपनी बाई ओर करवट लेकर सोना चाहिए. क्योंकि बायीं ओर करवट लेकर सोने से शरीर में रक्त का संचार तेजी से होता है, जिसके कारण भ्रूण में पल रहे शिशु को रक्त आसानी से मिल जाता है.

गर्भावस्था के दौरान उल्टा नहीं सोना चाहिए, क्योंकि ऐसा करने पर भ्रूण पर दबाव बनता है. दबाव अधिक होने पर भविष्य में कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है.

Pregnancy Me Kon Se Side Sona Chahiye

गर्भावस्था में महिलाओं को पेट के बल नहीं सोना चाहिए, क्योंकि ऐसा करने पर उनके पेट पर दबाव आता है जिससे पेट दर्द होता है. इसके अतिरिक्त ज्यादा दबाव होने के कारण भ्रूण संबंधी कोई और परेशानी भी हो सकती है.

गर्भावस्था में करवट लेकर सोना ही उपयुक्त माना जाता है. गर्भावस्था में महिलाएं दाएं या बाएं, किसी भी ओर करवट लेकर सो सकती है, जैसा भी उन्हें आरामदायक लगे. लेकिन अगर चिकित्सक की माने तो गर्भावस्था के दौरान, गर्भवती महिलाओं को बाई ओर करवट लेकर सोना चाहिए. क्योंकि ऐसा करने पर रक्त का संचार तेजी से होता है, जिससे शिशु तक रक्त आसानी से पहुंच जाता है.

Pregnancy Me Sidha Sona Chahiye Ya Nahi

सीधे सोने का सामान्य अर्थ है पीठ के बल सोना. गर्भावस्था के शुरुआती दौर में पेट के बल सोना नुकसान नहीं पहुंचाता है. लेकिन जैसे-जैसे महीने बीतते जाते हैं, गर्भ बढ़ते जाता है.

गर्भ बढ़ने के कारण जब महिला इस दौरान सीधा सोती है तो उस गर्भ का पूरा भार शरीर के दूसरे अंगों पर पड़ता है. सामान्य तौर पर इससे रक्त संचार बिगड़ जाता है और कभी-कभी सांस लेने में भी दिक्कत आती है.

इसलिए गर्भावस्था के दौरान गर्भवती महिलाओं को ना ही पेट के बल सोना चाहिए और ना पीठ के बल. चिकित्सकों के अनुसार गर्भावस्था के दौरान महिलाओं का बाई तरफ करवट लेकर सोना सबसे उपयुक्त माना जाता है.

Pregnancy Me Sidha Sone Se Kya Hota Hai

गर्भावस्था के शुरुआती दिनों में अगर सीधा सोया जाए तो इससे कोई नुकसान नहीं होगा. लेकिन जैसे-जैसे महीने बीतते जाएंगे, गर्भ बड़ा होता जाएगा. जिसके कारण अगर महिला पीठ के बल सोती है अर्थात सीधे सोती है तो उसके गर्भ का पूरा भार उसके शरीर के अन्य अंगों पर पड़ेगा. जिसके कारण उसे कई तरह की अन्य समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है.

गर्भावस्था के दौरान सीधा सोने से रीढ़ की हड्डी पर दबाव पड़ता है जिसके कारण उसमें दर्द होता है, ऑक्सीजन का संतुलन बिगड़ने के कारण सांस लेने में परेशानी होने लगती है और रक्त का संचार भी बिगड़ जाता है.

गर्भावस्था के दौरान एक ही स्थिति में सोना खतरनाक हो सकता है, इसलिए ऐसी स्थिति में थोड़ी-थोड़ी देर पर अपनी सोने की Position बदलते रहना चाहिए. गर्भावस्था में पेट के बल सोने एवं पीठ के बल सोने से कई परेशानीयां होती है. इसलिए ऐसी स्थिति में करवट लेकर सोना चाहिए. गर्भावस्था में बाई ओर करवट लेकर सोना फायदेमंद होता है.

Pregnancy Me Sidha Sone Ke Nuksan

गर्भावस्था के दौरान सीधे सोने से होने वाले नुकसान:-

  • रीढ़ की हड्डी पर दबाव बनता है, जिसके कारण पीठ में दर्द होता है.
  • ऑक्सीजन का संतुलन बिगड़ जाता है, जिससे सांस लेने में परेशानी होती है.
  • रक्त का संचार बिगड़ जाता है, जिससे शिशु को आसानी से रक्त नहीं मिल पाता है.
  • गर्भावस्था के दौरान सीधा सोने पर होने वाले दर्द के कारण नींद पर भी प्रभाव पड़ता है.

Pregnancy Me Sone Ka Sahi Tarika

गर्भावस्था में, गर्भवती महिला की सोने की स्थिति बच्चे के विकास को प्रभावित करती है. माँ की हर गतिविधि का प्रभाव बच्चे पर पड़ता ही है, उसी तरह सोने का प्रभाव भी शिशु पर पड़ता है. इसलिए गर्भावस्था में किस तरह सोना चाहिए, यह जानना आवश्यक है.

गर्भावस्था में महिलाओं को पेट के बल नहीं सोना चाहिए क्योंकि ऐसा करने पर भ्रूण पर दबाव पड़ता है. गर्भावस्था में महिलाओं को अपने बाई और करवट लेकर सोना चाहिए, यह Compulsory तो नहीं है किंतु इसे ही सही तरीका माना जाता है.

अगर करवट पूरी तरह लेने में परेशानी हो रही है तो, जितना आपको आरामदायक लगे उतनी करवट लेकर सो सकते हैं. ऐसा करने पर शरीर में रक्त का संचार तेजी से हो जाता है, जिससे कि शिशु तक रक्त आसानी से पहुंच जाता है.

Pregnancy Me Kaise Bethe

गर्भावस्था के समय में, गर्भवती महिलाओं की हर स्थिति का प्रभाव बच्चे के विकास पर होता है. उसके सोने से लेकर बैठने तक वह जो भी काम करती है और जिस तरह से करते हैं उन सब का प्रभाव शिशु पर दिखाई देता है.

गर्भावस्था में बैठते समय अपनी रीढ़ की हड्डी सीधी रखें, और इस तरह से बैठे कि कंधे झुके ना हो. अगर आप कुर्सी पर बैठ रहे है तो, कुर्सी पर इस तरह से बैठे की आपकी पीठ कुर्सी से सटी हुई हो. साथ ही साथ कुर्सी पर बैठने से पहले आप एक Back Support ले ले. जिससे कि आपकी पीठ और कुर्सी के बीच जो खाली स्थान बचा हुआ है वह भर जाएगा. जिससे आप आराम से कुर्सी पर बैठ सकेंगे.

Pregnancy Me Dhyan Rakhne Wali Baatein

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए जो कि निम्नलिखित है:-

  • सामान्यतः गर्भावस्था में खून की कमी हो जाती है, जिससे एनीमिया जैसे रोग हो जाते हैं. इसलिए उन्हें आयरन युक्त भोजन, एवं आयरन की गोली लेना चाहिए.
  • गर्भवती महिला और उसके पेट में पल रहे भ्रूण को पर्याप्त पोषण मिल सके,  इसलिए उन्हें संतुलित आहार देना चाहिए।
  • गर्भावस्था में महिलाओं को भूख, नींद, मल-मूत्र, खासी, प्यास, जम्हाई आदि जै कर दोसे आवेगों को नहीं रोकना चाहिए.
  • गर्माभवती महिलाओं को मानसिक और शारीरिक तनाव से दूर रहने का प्रयास करना चाहिये.
  • गर्भवती महिलाओं को तंबाकू, सिगरेट और शराब का सेवन नहीं करना चाहिए.
  • गर्भवती महिलाओं का नियमित रूप से स्वास्थ्य परीक्षण कराना चाहिए।
  • गर्भावस्था में महिलाओं को कम से कम 7 घंटे की नींद लेना चाहिए.
  • गर्भावस्था के दौरान अत्यधिक शारीरिक श्रम नहीं करना चाहिए.
  • गर्भावस्था में महिलाओं को जंक फ़ूड खाने से बचना चाहिए.
  • गर्भावस्था में महिलाओं को पेट के बल नहीं सोना चाहिए.

उम्मीद करते है आपको हमारी यह पोस्ट Pregnancy Me Sidha Sone Se Kya Hota Hai और Pregnancy Me Sidha Sone Ke Nuksan पसंद आई होगी.

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर कर दीजिए और इस आर्टिकल से जुड़ा कोई भी सवाल हो तो उसे आप नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर के पूछ सकते हैं.

Questions & Answer:
Olay Cream Se Kya Hota Hai और Olay Cream Ke Fayde Aur Nuksan

Olay Cream से क्या होता है – Olay Cream के फायदे और नुकसान,Price

HealthKya Kaise
Chamaro Ka Itihas Kya Hai

चमार का इतिहास क्या है – इनका जनक कौन है – इनके रीती रिवाज क्या है

History
Nabhi Mein Tel Lagane Se Kya Hota Hai - Nabhi Mei Tel Lgane Ke Fayde or Nuksaan

नाभि में तेल लगाने से क्या होता है – नाभि में तेल लगाने के फायदे और नुक्सान

Health
Author :
प्रिये पाठक, आपका हमारी वेबसाइट Lipibaddh.com पर स्वागत है, इस वेबसाइट का काम लोगों को हिंदी भाषा में देश, विदेश एवं दैनिक जीवन में काम आने वाली जरुरी चीजों के बारे में जानकरी देना है.
Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *