Thermometer क्या है – थर्मामीटर का आविष्कार किसने किया

आज इस पोस्ट में हम जानेंगे की Thermometer Kya Hai और Thermometer Ka Avishkar Kisne Kiya साथ ही जानेंगे की थर्मामीटर कितने प्रकार के होते है और थर्मामीटर से बुखार कैसे चेक करें.

Thermometer Kya Hai और Thermometer Ka Avishkar Kisne Kiya

साथ ही पोस्ट में जानेंगे की थर्मामीटर कैसा होता है और थर्मामीटर में नार्मल टेम्प्रेचर कितना होता है. इन सब के बारे में इस पोस्ट में हम विस्तार से जानेंगे.

Thermometer Kya Hai

थर्मामीटर एक ऐसा उपकरण होता है जिसकी मदद से हम किसी भी मानव के शरीर का तापमान चेक कर सकते हैं. इसमें पारे की मदद से शरीर का तापमान मापा जाता है, अगर आपके शरीर का तापमान अधिक होता है तो इसका पारा भी ऊपर जाता है.

थर्मामीटर में तापमान को सेल्सियस, फॉरेनहाइट और केल्विन में मापा जाता है.

Thermometer Ka Avishkar Kisne Kiya

ऐसा माना जाता है कि 1596 में पहली बार फेमस साइंटिस्ट गैलीलियो गैलीली ने थर्मामीटर का आविष्कार किया था परंतु उनके द्वारा बनाया गया थर्मामीटर ठीक तरह से और सही तापमान नहीं ले पा रहा था जिसकी वजह से वह थर्मामीटर उपयोगी साबित नहीं हुआ.

फिर 1714 में पहले मरकरी थर्मामीटर का आविष्कार डच के वैज्ञानिक डेनियल गेब्रियल फॉरेनहाइट ने किया था. इन्होंने पहला ऐसा विश्वशनीय थर्मामीटर बनाया था जिसमें शराब और पानी की जगह मरक्युरी अर्थात पारे का इस्तेमाल किया गया था और इसका परिणाम भी सटीक था.

Digital Thermometer Kya Hai

डिजिटल थर्मामीटर भी थर्मामीटर की तरह ही शरीर का तापमान मापता है. यह प्ललास्टिक का बना होता है जिसकी वजह से यह गिरने पर भी टूटता नहीं है. यह बैटरी की मदद से चलता है. इसमें बैटरी, सेंसर और एलसीडी स्क्रीन भी लगी होती है.

इसके द्वारा लिया गया तापमान मरकरी तापमान से बेहतर और सटीक होता है. इसे कही भी आसानी से ले जाया जा सकता है. इसके टूटने का खतरा भी काम होता है. इसके द्वारा लिया गया तापमान एलसीडी स्क्रीन पर दिखाई देता है.

Thermometer Ke Parts

थर्मामीटर की कुछ पार्ट्स होते हैं जिनके बारे में हम आपको बता रहे हैं:

  • मरक्यूरी या स्फेरिकल बल्ब (Mercury or Spherical Bulb)
  • एक्सपांशन चेंबर (Expansion Chamber)
  • स्केल (Scale)
  • कांच की नली (Glass Tube)
  • केपिलरी ट्यूब या नली (Capillary Tube)
  • मरक्यूरी स्तंभ (Column of Mercury)
  • कॉन्सट्रिक्शन (Constriction)
Thermometer Se Bukhar Kaise Check Karen

थर्मामीटर की मदद से किसी के भी सही कर तापमान चेक कर सकते हैं. इसके लिए आप चाहे तो उस इंसान के मुंह का तापमान भी ले सकते हैं और वही आप चाहे तो कांख या बगल के तापमान की मदद से भी बुखार चेक कर सकते है.

सबसे पहले आप थर्मामीटर को उस इंसान के मुँह में रखते है जिसका आपको तापमान चेक करना होता है.  अब कुछ देर तक आपको इंतज़ार करना है जब तक की उस थर्मामीटर का पारा ना रुक जाए.

अब आप थर्मामीटर को मुँह से बाहर निकाल कर उसका तापमान चेक कर सकते है. ध्यान रहे तापमान चेक करने के पहले उस इंसान ने कुछ ठंडा या गरम ना खाया हो, अन्यथा तापमान में गड़बड़ी हो सकती है. यह तकनीक 4 से 5 वर्ष के बच्चो का तापमान मापने के लिए बेहतर तरीका होता है.

वही आप थर्मामीटर को कांख या बगल में लगाकर भी शरीर का तापमान चेक कर सकते हैं. इसके लिए थर्मामीटर को कुछ देर कांख में रहने दीजिये, थोड़ी देर बाद आप इसे निकाल सकते है, और इसका तापमान देख सकते है. इस विधि से आने वाला तापमान विश्वशनीय नहीं होता है.

अगर आपके शरीर का तापमान 100.4 डिग्री फॉरेनहाइट अर्थात 38* C से ऊपर रहता है  तो इसका यह मतलब होता है की आपको बुखार है, और आपको इलाज की जरुरत है.

थर्मामीटर कितने प्रकार के होते हैं

अलग अलग गुणों के आधार पर थर्मामीटर कई प्रकार के होते हैं जैसे: द्रव तापमापी, गैस थर्मामीटर, डॉक्टरी थर्मामीटर, प्लैटिनम प्रतिरोध तापमापी आदि.

परन्तु बुखार नापने के लिए बाजार में केवल दो ही तरह के थर्मामीटर पाए जाते हैं पहला मरकरी थर्मामीटर और दूसरा डिजिटल थर्मामीटर.

  1. मरकरी थर्मामीटर: डॉक्टर के द्वारा अधिकतर इस्तेमाल किया जाने वाला थर्मामीटर मरकरी थर्मामीटर होता है. यह थर्मामीटर दिखने में कांच की नली की तरह होता है, जिसमे पारा भरा हुआ होता है. इस नली के अंदर आसपास तापमान भी लिखे होते है, जिनकी मदद से तापमान देखा जाता है. शरीर के तापमान में बदलाव की वजह से इसका पारा भी फैलता और सिकुड़ता है.
  2. डिजिटल थर्मामीटर: बीते कुछ सालों में डिजिटल थर्मामीटर का उपयोग बढ़ने लग गया है. क्योंकि इसके द्वारा लिया गया शरीर का तापमान काफी हद तक सही होता है. डिजिटल थर्मामीटर में कैंसर और एलसीडी स्क्रीन होती है. आप जो भी बात मान लेते हैं मैं आपको इस स्क्रीन पर दिखाई देता है. इसकी सबसे बड़ी खासियत यह है कि यह गिरने पर भी नहीं टूटता है.
Thermometer Me Normal Temperature

अगर आपके शरीर का तापमान 98.6 डिग्री फॉरेनहाइट (37* C) होता है तो इसे सामान्य तापमान माना जाता है. वहीं अगर आपके शरीर का तापमान 100.4 डिग्री फॉरेनहाइट(38* C) से ऊपर होता है तो इस स्थिति को बुखार माना जाता है.

Thermometer – FAQs
Thermometer Ki Definition

ऐसा उपकरण जिसकी मदद से शरीर का तापमान मापा जाता है तापमापी कहलाता है. इसे इंग्लिश में थर्मामीटर भी कहते हैं.

Thermometer Se Kya Hota Hai

थर्मामीटर की मदद से मानव शरीर का तापमान मापा जाता है.

Thermometer Se Kya Napte Hain

थर्मामीटर की मदद से शरीर का तापमान मापा जाता है और बुखार का पता लगाया जाता है.

Mercury Thermometer Ka Avishkar Kisne Kiya Tha

मरकरी थर्मामीटर का आविष्कार डेनियल गेब्रियल फॉरेनहाइट ने 1714 में किया था.

Thermometer Kaisa Hota Hai

थर्मामीटर कांच की एक नली होती है जिसमें पारा भरा रहता है. इस नली में आसपास तापमान देखने के लिए कुछ तापमान रीडिंग्स भी लिखे होते है, जिनकी मदद से तापमान मापा जाता है.

थर्मामीटर का उपयोग कैसे करें

थर्मामीटर का उपयोग करने के लिए उसे किसी भी इंसान के मुँह में और कांख में रखा जाता है. जिसकी मदद से शरीर के तापमान का पता लगाया जाता है. अगर तापमान अधिक होता है तो ऐसी स्थिति में उस इंसान को बुखार होता है.

थर्मामीटर से बुखार की जांच

थर्मामीटर से बुखार की जांच करने के लिएआप उस इंसान के मुँह का या कांख का तापमान लेते है, और उसी की मदद से बुखार की जांच की जाती है.

उम्मीद करते है आपको हमारी यह पोस्ट Thermometer Kya Hai और Thermometer Ka Avishkar Kisne Kiya पसंद आई होगी.

अगर पोस्ट पसंद आई हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर कर दीजिए और इस पोस्ट से जुड़ा कोई भी सवाल हो तो उसे आप नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं.

Questions & Answer:
CRP Badhne Se Kya Hota Hai और CRP Kaise Kam Kare

CRP बढ़ने से क्या होता है – सीआरपी कैसे कम करे, सीआरपी क्या होता है

Health
Google search console kya hai

Google Search Console क्या होता है और यह कैसे काम करता है

InternetSEO
Golgappe Ka Avishkar Kisne Kiya और Golgappe Khane Se Kya Hota Hai

Gol Gappe का आविष्कार किसने किया – गोल गप्पे खाने से क्या होता है

Avishkar
Author :
प्रिये पाठक, आपका हमारी वेबसाइट Lipibaddh.com पर स्वागत है, इस वेबसाइट का काम लोगों को हिंदी भाषा में देश, विदेश एवं दैनिक जीवन में काम आने वाली जरुरी चीजों के बारे में जानकरी देना है.
Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.