तुलसी के पत्ते खाने से क्या होता है – Tulsi Ka Patta खाने के फायदे और नुकशान

इस Article की मदद से हम जानेंगे की Tulsi Ke Patte Khane Se Kya Hota Hai और Tulsi Ka Patta खाने के फायदे और नुकशान तथा तुलसी के पत्ते को कैसे खाएतुलसी के बिज के फायदे, तुलसी के पत्ते की पूरी जानकारी इस पोस्ट में विस्तार से जानेंगे. 

Tulsi Ke Patte Khane Se Kya Hota Hai और Tulsi Ka Patta खाने के फायदे और नुकशान

Tulsi Ke Patte Khane Se Kya Hota Hai

हमारी संस्कृति में तुलसी का बड़ा महत्व है और इसे पूजा जाता है. तुलसी का पत्ता हमारी सेहत के लिए बड़ा ही फायदेमंद होता है. और यह बड़ी तेजी से मोटाबाईलिजम सिस्टम को मजबूत करता है. 

तुलसी के पत्ते का सेवन करने से गैस, एसिडिटी, विभिन्न प्रकार की पाचन समस्या से राहत मिलती है. तुलसी के पत्तो में शरीर को डीटोकस करने की क्षमता होती है. इसके आलावा भी बहुत से फायदे है –

  1. गले में दर्द, मुह में छाले, या दुर्गन्ध आने की समस्या से आराम देता है.
  2. शरीर में जलन होने पर तुलसी के पत्तो को उबालकर पिने  से आराम मिलता है.
  3. किसी विषैले जिव जंतु के काटने पर इसे लगाने से राहत मिलती है.
  4. तुलसी अर्क की कुछ बूंद लगाकर सोने से मछरो से बचा जा सकता है.
  5. बालो से जुडी समस्या के लिए भी तुलसी का उपयोग किया जाता है, तेल में डालकर बालो में लगाने से बालो से जुडी समस्याओ को हल किया जा सकता है.

तुलसी के पत्ते कैसे खाएं

तुलसी के पत्तो को खाने का सही तरीका यह है की रात में 4 से 5 तुलसी के पत्तो को एक कटोरी में पानी लेकर भीगा ले. और सुबह पत्तो को पानी के साथ निगल जाये और पानी भी पि ले.

अगर आप तुलसी के पत्तो को नही निगल सकते है तो पानी को पि ले और पत्तो को थोडा पानी लेकर उबाल ले और चाय के समान छान कर उसका सेवन करे

Tulsi Ke Patte Ke fayd

तुलसी के पत्तो के फायदे –

  1. यदि पाच प्रकार के तुलसी के पत्तो का अर्क निकालकर उपयोग किया जाये तो कई प्रकार की समस्याओ से निजत पाया जा सकता है.
  2.  तुलसी के पत्तो का अर्क पिने के पानी में डालकर किया जाये तो रोगानुओ से बचा जा सकता है.
  3. कान में दर्द हो या कान बह रहे हो तुलसी के पत्तो का रस डालने से आराम मिलता है.
  4. नाक हो या फोड़े फुन्सिया होने पर इसका गुनगुना रस डालने से आराम मिलता है.
  5. नीबू के रस में तुलसी के पत्तो का रस मिलकर बालो में लगाने से जुए की समस्या ख़त्म हो जाती है.
  6. त्वचा के लिए भी तुलसी का पत्ता लाभकारी होता है इसके उपयोग से त्वचा दमकने लगती है.

Tulsi Ki Spelling

तुलसी को देवी रूप में पूजा जाता है. और इनके और भी नाम है वृंदा, कृष्ण जीवनी, वृन्दावनी, विश्वपूजिता, विश्वपावनी, पुष्पसारा, नन्दिनी. इंग्लिश में तुलसी की स्पेलिंग Ocimum Tenuiflorum है.

Tulsi Ke Bare Mein Jankari

भारत में तुलसी को बहुत ही पवित्र पौधा माना जाता है. और इसकी पूजा की जाती है. विशेषज्ञों के अनुसार तुलसी पुदीना परिवार का फुल वाला पौधा है जिसे इसकी सुगंधित पत्तियों  के लिए उगाया जाता है. पवित्र तुलसी भारतीय उपमहाद्वीप का मूल निवासी है.

और यह पुरे दक्षिण पूर्व एशिया में बढ़ता है. मुख्यतः इस पौधे का उपयोग आयुर्वेदिक और लोक चिकित्सा में किया जाता है. विभिन्न बीमारियों में इसका उपयोग हर्बल चाय के रूप में किया जाता है. यह एक तीखे स्वाद के साथ, पवित्र जड़ी बूटी के रूप में भी उपयोग किया जाता है.

पवित्र तुलसी का पौधा  छोटा वार्षिक या अल्पकालीन बारहमासी झाड़ी होता है. इसकी उचाई 1 मीटर से 3.3 मीटर तक होती है. इसके ताने बालो वाले होते है और ताने के साथ पुरे पत्तिया या दातेदार होती है. इसकी पत्तिया हरे या बैगनी रंग के होते है जो सुगन्धित होती है. इसके फल नटलेट होते है   और कई बिज पैदा करते है.

Tulsi Ke Prakar Ki Hoti Hai

हिन्दू धर्म में तुलसी के पौधे को माँ लक्ष्मी का रूप मानकर घर के आगन  में पूजनीय स्थान दिया जाता है. इस अनमोल  पौधे के 5 प्रकार होते है जो स्वस्थ से लेकर, वैज्ञानिक और आध्यत्मिक दृष्टि से महत्वपूर्ण होते है. इनके 5 प्रकार इस प्रकार है –

  1. श्याम तुलसी
  2. राम तुलसी
  3. श्वेत या विष्णु तुलसी
  4. वन तुलसी
  5. नीबू तुलसी

घरो में सामान्यतः राम तुलसी और श्याम तुलसी की स्थापना की जाती है. अगर इन पाचो तुलसी का अर्क निकाला जाये तो ये दुनिया की सबसे प्रभावशाली दवाई बन सकती है.

Tulsi Ka Pani Peene Ke Fayde

तुलसी के पत्तो को उबालकर उसका  पानी पिने से ये फायदे होते है –

  1. तुलसी के पत्तो को उबालकर उस पानी का सेवन करने से स्मरण शक्ति तेज होती है.
  2. तुलसी के पत्तो को उबालकर उस पानी का सेवन करने से लाल रक्त कोशिकाओ में इजाफा होता है और हिमोग्लोबिन का स्तर भी बढ़ता है.
  3.  रोजाना तुलसी के पत्तो को उबालकर उस पानी का सेवन करने से पेट सम्बधी समस्यों से धीरे धीरे चूत्कारा मिल जाता है.
  4. तुलसी के पत्तो को उबालकर उस पानी का सेवन करने से गर्भवती महिलाओ को उल्टी की समस्या समाप्त हो जाती है.
  5. तुलसी के पत्तो का अर्क निकल कर शहद के साथ इसका सेवन करने से खासी जुकाम से आराम मिलता है.

तुलसी के पत्ते को कैसे खाएं

तुलसी के पत्तो को चबाना नही चाहिए. यह हमारे दातों के लिए हानिकारक होता है. इसलिए तुलसी के पत्तो को निगले की सलाह दी  जाती है. तुलसी के पत्तो को खाने के लिए उसके 4 से 5 पत्तो को रात में पानी में भीगा कर रखे और सुबह खाली पेट उसका सेवन करे.

उस भीगे हुए पत्तो को निगल जाये और पानी को पिले. यदि आपको निगले में दिक्कत हो रही है तो पत्तो को अच्छे से उबालकर, छान कर पिये.

Tulsi Ka Patta Khane Ke Fayde

तुलसी का पत्ता खाने के फायदे –

  1. तुलसी के पत्तो का दवाई के रूप में उपयोग कर हम सर्दी, खासी, बुखार, फ्लू, स्वाई फ्लू, फ्लेग, मलेरिया, जोड़ो के दर्द , मोटापा, रक्तचाप, शुगर, पेट में क्रीमी, एलर्जी, हेपेटाईटीस, जलन, मूत्र सम्बन्धी रोग, गठिया, दमा, बवासीर, अतिसार, खुजली, आख दर्द, सर दर्द, पायरिया, नकसीर, फेफड़ो की सुजन, अलसर, वीर्य की कमी, ह्रदय सम्बधी समस्याओ से निजात दिलाने में सक्षम है.
  2. तुलसी के पत्तो का रोजाना सेवन करने से शरीर के हानिकारक एवं अवांछित तत्व बाहर निकल जाते है.
  3. तुलसी के पत्तो के सेवन से शरीर के आन्तरिक अंगो की सफाई हो जाती है.
  4. रोजाना तुलसी के पत्तो के सेवन से पाचन क्रिया सही रहती है.
  5. तुलसी का पत्ता खाने से मुह की दुर्गन्ध दूर होती है.

तुलसी के पत्ते क्यों नहीं खाना चाहिए

ऐसा नही है की तुलसी के पत्ते नही खाने चाहिए बल्कि तुलसी के पत्तो को चबाकर खाने की मनाही होती है. और जैसे की किसी भी चीज का सेवन अधिक मात्रा में करना अच्छा नहीहोता है वैसे ही तुलसी के पत्तो को भी अधिक मात्रा में नही खाना चाहिए. आइये जानते है तुलसी के पत्तो को चबाकर क्यों नही खाना चाहिए –

  1. तुलसी के पत्तो में पारा और आयरन पाया जाता है. तुलसी के पत्तो को चबाकर खाना दातों के लिए नुकसानदायक होता है.
  2. तुलसी में आर्सेनिक पाया जाता है जिससे दातों में खराबी आ सकती है. और दर्द की समस्या भी हो सकती है.
  3. तुलसी के पत्तो को ज्यादा खाने से खून पतला हो सकता है. जिन्हें किसी प्रकार की बीमारी हो और दवाई चल रही हो वे डॉ की सलह से ही तुलसी का सेवन करे.
  4. तुलसी के पत्तो का अधिक सेवन करने से प्रजनन में भी असर पड़ता है. एक शोध के अनुसार ज्यादा तुलसी के पत्तो का सेवन करने से शुक्रनुओ की संख्या कम हो जाती है.
  5. गर्भवती महिलाये अगर तुलसी के पत्तो का ज्यादा सेवन करती है तो इससे उसके बच्चे पर बुरा असर पड़ता है.

Tulsi Ke Bij Ke Fayde

तुलसी के बिज के फायदे –

  1. तुलसी के बिज का इस्तेमाल कई बीमारियों को ठीक करने में किया जाता है.
  2. तुलसी के बिज में प्रोटीन, लौह, फाइबर अधिक मात्रा में होते है जो शरीर की पोषक जरूरतों को पूरा करते है.
  3. तुलसी के बिज रोग प्रतिरोधक क्षमता बढने का काम भी करते है.
  4. तुलसी के बिज के उपयोग से पाचन क्रिया सही रहती है.
  5. तुलसी के बिज के उपयोग से वजन कम करने, खासी और ठंड के इलाज में मदद मिलती है.

उम्मीद करते है आपको हमारी यह पोस्ट Tulsi Ke Patte Khane Se Kya Hota Hai और Tulsi Ka Patta खाने के फायदे और नुकशान पसंद आई होगी.

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर कर दीजिए और इस आर्टिकल से जुड़ा कोई भी सवाल हो तो उसे आप नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर के पूछ सकते है.

Questions & Answer:
Tulsi Ke Patte Khane Se Kya Hota Hai और Tulsi Ka Patta खाने के फायदे और नुकशान

तुलसी के पत्ते खाने से क्या होता है – Tulsi Ka Patta खाने के फायदे और नुकशान

HealthKya Kaise
Black Coffee Peene Se Kya Hota Hai और Black Coffee Peene Ke Fayde Aur Nuksan

Black Coffee पीने से क्या होता है – Black Coffee पीने के फायदे और नुकसान

HealthKya Kaise
राजमा खाने से क्या होता है और Rajma Banane Ki Vidhi

राजमा खाने से क्या होता है – Rajma बनाने की विधि, खाने के फायदे और नुकसान

Kya Kaise
Author :
प्रिये पाठक, आपका हमारी वेबसाइट Lipibaddh.com पर स्वागत है, इस वेबसाइट का काम लोगों को हिंदी भाषा में देश, विदेश एवं दैनिक जीवन में काम आने वाली जरुरी चीजों के बारे में जानकरी देना है.
Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.