#10 Green Tea पीने के फायदे, जाने ग्रीन टी कब पीना चाहिए, तासीर

| | 3 Minutes Read

आज इस पोस्ट में जानेंगे Green Tea Peene Ke Fayde और Green Tea Kab Piye.

साथ ही जानेंगे Green Tea कैसे बनाए, Green Tea क्या होती है, ग्रीन टी से क्या होता है. Green Tea की तासीर इत्यादि के बारे में विस्तार से जानेंगे.

Green Tea Peene Ke Fayde

1. ग्रीन टी में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो फ्री रेडिकल्स से लड़ते हैं. ये फ्री रेडिकल्स आपके शरीर में ऑक्सीडेटिव तनाव पैदा कर सकते हैं, जो व्यक्ति को विभिन्न बिमारियों से बचाता है.

2. ग्रीन टी EGCG (Epigallocatechin Gallate), मेटाबॉलिज्म को Boost करता है. इससे वजन कम करने में मदद मिलती है.

3. ग्रीन टी में उपलब्ध Polyphenols आपके स्वास्थ्य को सुधारते हैं. इससे दिल के रोग का खतरा कम होता है.

4. हरी चाय पिने से रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद मिलती है. इसका असर इंसुलिन सेंसिटिविटी को सुधारने पर होता है.

5. कुछ अध्ययनों से पता चलता है कि ग्रीन टी कैंसर के खतरे को भी कम करता है.

6. ग्रीन टी में उपलब्ध कैफीन और Amino acid L-theanine एक साथ काम करके ब्रेन फंक्शन को सुधारते हैं.

7. ग्रीन टी में उपलब्ध प्राकृतिक फ्लोराइड आपके दांत और मसूड़ों की सुरक्षा करता है. इससे दांत के दर्द में नुकसान होता है.

8. हरी चाय के एंटीऑक्सीडेंट त्वचा के स्वास्थ्य को सुधारते हैं. इससे त्वचा को मुंहासे, उम्र बढ़ना, धूप से होने वाली क्षति इत्यादि में मदद मिलती है.

9. जो ग्रीन टी में पिता है, यह उसके शरीर में तनाव को कम करने में मदद करता है.

10. ग्रीन टी आपके पाचन तंत्र को सुधारने में मददगार होता है. इससे पेट की समस्याओं का समाधान होता है.

Green Tea Kab Piye

1. सुबह: सुबह के समय ग्रीन टी पी सकते हैं. ये आपको ताजगी और ऊर्जा प्रदान करता है.

2. दोपहर: अगर आपको दिन भर में थोड़ा बूस्ट चाहिए तो आप दोपहर में भी ग्रीन टी पी सकते हैं.

3. शाम: शाम के समय भी Green Tea पीना एक अच्छा विकल्प होता है.

4. भोजन के बाद: ग्रीन टी को भोजन के बाद पीने से वजन कम करने और पाचन को सुधारने में मदद मिलती है.

5. आप ग्रीन टी को कभी-कभी पी सकते हैं.

6. अगर आप ग्रीन टी का स्वास्थ्य लाभ हासिल करना चाहते हैं, तो इसे नियमित रूप से पियें.

Green Tea Kaisi Hoti Hai

ग्रीन टी एक फ़ायदेमंद चाय की पत्ती है जो Camellia Sinensis नामक पौधे से प्राप्त होती है. ये हरी चाय की पत्तियां सीधी पौध से निकलती हैं. फिर इन्हें ध्यान से सुखाया जाता है ताकि इन्हें ऑक्सीकरण प्रक्रिया से बचाया जा सके.

हरी चाय बाजार में कई किस्मों में शामिल हैं:

1. सेन्चा: यह जापान की लोकप्रिय ग्रीन टी किस्म है, जो छोटी पत्तियों से बनता है.

2. माचा: ये एक खास किस्म है जिसकी ग्रीन टी की पत्तियां पिस्कर पाउडर बनती हैं.

3. गनपाउडर: इसमें ग्रीन टी की पत्तियां छोटी गोल गोल बुंदेलों में होती हैं, जिसे गनपाउडर ग्रीन टी कहते हैं.

4. Dragon well (लॉन्गजिंग): चीन में प्रमुख रूप से उगाया जाने वाला Variety है, जिसका स्वाद हल्का और मीठा होता है.

5. होजिचा: होजिचा ग्रीन टी को भूनकर बनाया जाता है, जिससे इसका स्वाद कड़वा होता है.

Green Tea Ki Taseer

ग्रीन टी की तासीर ठंडी होती है. यह शरीर को ठंडा करती है. इसकी ठंडी तासीर की वजह से, इसे गर्मी के मौसम में पीया जा सकता है. इससे शरीर को आराम मिलता है.

Green Tea Kya Hai

ग्रीन टी एक स्वास्थ्यवर्धक चाय है जो कैमेलिया साइनेंसिस नमक पत्तियों से बनती है. इसकी Processing के दौरान चाय पत्तियों का ऑक्सीकरण कम होता है, इसलिए ये हरे रंग की होती है. इसमें पॉलीफेनोल्स नामक एंटीऑक्सीडेंट होते हैं, जो स्वास्थ्य लाभ प्रदान करते हैं.

Green Tea Kya Hoti Hai

ग्रीन टी नाम से ही पता चलता है की यह एक प्रकार की चाय है जिसका कलर हरा होता है. यह चाय कैमेलिया साइनेन्सिस नाम के पौधे की पत्तियो से बनती है.

Green Tea Peene Se Kya Hota Hai

इसका सेवन वजन कम करने के अलावा इम्युनिटी बढाने, पाचन में, डायबिटीज और कैंसर जैसी बीमारियों को नियंत्रित और कम करने के लिए भी किया जाता है.

Green Tea Kitne Ki Aati Hai

ग्रीन टी बैग की कीमत लगभग 135 से 140 रुपये में आपको 25 बैग मिलते है. आप इसे चाहे तो amazon, flipkart और Dmart आदि जगहों से भी खरीद सकते है या किसी  किराना दुकान से भी.

Green Tea Ki Taseer

ग्रीन टी की तासीर गरम होती है, इसलिए इसे खाली पेट नहीं पीया जाता है. इसे खाली पेट पीने से माइग्रेन होने की सम्भावना होती है.

Green Tea Kaise Pina Chahie

ग्रीन टी को आप गरम पानी में ग्रीन टी बैग डालकर हिलाये, जैसे ही कलर आ जाए इसे निकाल दे. अब अपने स्वाद के अनुसार शुगर या शहद डाल कर इसे पी सकते है.

Green Tea Kise Kahate Hain

ग्रीन टी एक तरह की चाय होती है. यह कलर में ग्रीन होने के कारण इसे ग्रीन टी भी कहते है. ये चाय कैमेलिया साइनेन्सिस नमक पोधों की पत्तियों से बनती है. 

उम्मीद करते हैं आपको हमारी पोस्ट Green Tea Peene Ke Fayde और Green Tea Kab Piye पसंद आई होगी.

अगर आपको हमारा यह Article पसंद आया तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर करें और अगर इस Article से जुड़ा कोई सवाल हो तो उसे नीचे दिए Comment Box में पूछ सकते हैं.

Author:

Hello!! दोस्तों मेरा नाम Shalini है. मैं lipibaddh.com की Writer हूँ. मुझे हिंदी में Health और Drinks Blogs लिखना पसंद है. मैं इन Blogs की मदद से आप तक सभी अगल-अलग Drinks और Health से जुड़ी जानकारी पहुंचाना चाहती हूँ. मेरा आपसे निवेदन है की आप इसी तरह मेरा सहयोग देते रहें और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों के साथ मेरे लिखे Content को शेयर करें. मैं आप सभी के लिए Latest जानकारियाँ उपलब्ध करवाती रहूँगी.

Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *