Tambe के बर्तन में पानी पीने से क्या होता है – Copper में पानी पीने के फायदे, नुकसान

इस पोस्ट में हम जानेंगे की Tambe Ke Bartan Mein Pani Peene Se Kya Hota Hai और तांबे के बर्तन में पानी पीने के फायदे और नुकसान साथ ही जानेंगे तांबे के बर्तन में पानी पीने के नियम क्या है.

Tambe Ke Bartan Mein Pani Peene Se Kya Hota Hai और तांबे के बर्तन में पानी पीने के फायदे और नुकसान

साथ ही पोस्ट में जानेंगे की तांबे की तासीर और तांबे के बर्तन का पानी कब नहीं पीना चाहिए. इन सब के बारे में इस पोस्ट में विस्तार से जानेंगे.

Tambe Ke Bartan Mein Pani Peene Se Kya Hota Hai

तांबे में एंटीबैक्टीरियल, एंटी-इंफ्लामेंटरी और कैंसररोधी तत्व होते है यदि तांबे के किसी बर्तन में पानी डालकर पीया जाता है तो उस पानी में भी ताम्बे के गुण आ जाते है जो हमारे लिए फायदेमंद होता है.

तांबे का पानी पीने से रक्त साफ होता है जिससे शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी नहीं होती है. तांबे का पानी पीने से शरीर में पनपने वाले कई तरह के विषाणु और रोगाणु भी मर जाते है, जिससे बीमारियां होने का खतरा भी कम हो जाता है. तांबे में पानी रखने से पानी के अंदर की अशुद्धियाँ दूर हो जाती है जिससे पानी भी हो जाता है, जिससे शरीर भी स्वस्थ रहता है.

तांबे का पानी पीने से शरीर के आंतरिक और बाहरी घाव तेजी से भरने लगते है. तांबे का पानी पीने से शरीर में लोह तत्वों की कमी नहीं होती है जिससे शरीर में खून भी पर्याप्त मात्रा में रहता है. तांबे का पानी पीने से कोलेस्ट्रॉल का लेवल भी नियंत्रित रहता है.

यदि तांबे के बर्तन को साफ़ नहीं किया जाता है और उसमे पानी डालकर पिया जाता है तो इससे फायदे की जगह नुकसान भी हो सकता है. तांबे के बर्तन को जमीन पर नहीं रखना चाहिए यदि ऐसा करते है तो इस पानी का आपको कोई फायदा नहीं मिलता है. रात को खाना खाने के बाद और सोने से पहले भी तांबे का पानी पीना नुकसानदायक होता है.

तांबे के बर्तन में पानी पीने के नियम

तांबे के बर्तन में पानी रखने और पीने के कुछ नियम होते है अगर आप इन नियमों का पालन करते हैं तभी आपको तांबे के पानी के फायदे मिलते हैं नहीं तो यह आपके लिए नुकसानदेह भी हो सकता है.

तांबे के पानी पीने के नियम कुछ इस प्रकार है :

  • तांबे के बर्तन में पानी को 12 घंटे से अधिक समय तक नहीं रखना चाहिए नहीं तो पानी कड़वा हो जाता है, जो नुकसानदायक हो जाता है.
  • रात को सोने से पहले तांबे के बर्तन को अच्छी तरह से धोए, अगर बर्तन गन्दा रह जाता है तो वह पानी पीने से नुकसान भी हो सकता है.
  • रात को सोते समय तांबे के बर्तन को जमीन पर ना रखें, नहीं तो इसका कोई फायदा नहीं मिलता है. तांबे के बर्तन को लकड़ी के पाटे या मेज पर रखे.
  • जिन लोगो को अल्सर या एसिडिटी की समस्या होती है उन्हें तांबे का पानी नहीं पीना चाहिए क्योंकि इसकी तासीर गर्म होती है और यह आपकी समस्या को बढ़ा सकता है.
  • किडनी और हार्ट के मरीज डॉक्टर की सलाह लेकर ही तांबे के पानी का सेवन करें.
  • तांबे के बर्तन में केवल पानी डालकर ही पीना चाहिए, इसके अलावा अन्य चीजे जैसे : दूध, दूध से बनी चीजें और अन्य खट्टी चीजो को तांबे के बर्तन में रख कर उसका उपयोग ना करें, क्योकि वह चीजे विषैली हो जाती है और हमारे शरीर के लिए नुकसानदायक होती है. इनकी वजह से कई बार फ़ूड पोइज़निंग भी हो जाती है.

तांबे के बर्तन में पानी पीने के फायदे और नुकसान

तांबे के बर्तन में पानी पीने के कई तरह के शारीरिक और मानसिक फायदे होते है. तांबे के बर्तन में पानी पीने के कुछ नियम होते हैं यदि इन नियमों का पालन ठीक तरह से नहीं किया जाए तो तांबे के बर्तन में पानी पीने से फायदे की जगह कुछ नुकसान भी हो सकते हैं. 

तांबे के बर्तन में पानी पीने के फायदे और नुकसान निम्न लिखित है :

तांबे के बर्तन में पानी पीने के फायदे :

  • तांबे के पात्र में कई तरह के एंटीबैक्टीरियल, एंटी-इंफ्लामेंटरी और कैंसररोधी तत्व आदि पाए जाते है, जब तांबे के पात्र में पानी डाला जाता है तो उसके ये गुण भी पानी में आ जाते है जिससे कई तरह की बीमारिया ठीक हो जाती है.
  • तांबे का पानी पीने से शरीर में पनपने वाले कई तरह के विषाणु और रोगाणु भी मर जाते है. 
  • तांबे के पात्र में पानी रखने से पानी के अंदर की अशुद्धियाँ भी दूर हो जाती है और हमें शुद्ध पानी पीने को मिलता है. जिससे हमारा शरीर भी स्वस्थ रहता है.
  • तांबे के पानी में एंटीबैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लामेंटरी तत्व की मौजूदगी होती है और यदि इस पानी को पिया जाता है तो इन गुणों के कारण शरीर के आंतरिक और बाह्य घाव तेजी से भरने लगते है.
  • तांबे के पानी पीने से थाइराइड ग्रंथि के स्त्राव में भी संतुलन होता है.
  • इस पानी को पीने से अर्थराइटिस से होने वाले दर्द में भी आराम मिलता है.
  • तांबे के बर्तन का पानी पीने से शरीर में लोह तत्वों का अवशोषण भी ठीक तरह से होता है जिससे शरीर में खून की कमी नहीं होती है.
  • तांबे के पानी के सेवन से कोलेस्ट्रॉल का लेवल भी नियंत्रित रहता है.

तांबे के बर्तन में पानी पीने के नुकसान :

  • तांबे के बर्तन में पानी डालने से पहले बर्तन को अच्छी तरह से धो लें, अन्यथा कई बार बर्तन साफ़ ना होने की वजह से भी तांबे के बर्तन का पानी नुकसान देह हो सकता है और आपको तकलीफ और बीमारियां हो सकती है.
  • तांबे के पानी को सुबह खाली पेट पीना लाभदायक माना जाता है जबकि इस पानी को खाना खाने के बाद पीने से इसका बुरा असर आपके पाचन तंत्र पर पड़ता है और आपको पेट दर्द की समस्यां भी हो सकती है.
  • रात को सोने से पहले भी तांबे के बर्तन में पानी नहीं पीना चाहिए नहीं तो आपकी नींद पर इसका असर पड़ सकता है.
  • तांबे के पानी को एक निश्चित मात्रा में पीना चाहिए नहीं तो इसे अधिक मात्रा में पीने से इसका बुरा असर आंतो पर पड़ता है.
  • तांबे के पानी में तांबे की मौजूदगी होती है और कई बार हमारे शरीर में तांबे की अधिकता की वजह से लिवर को नुकसान पहुँचता है.
  • तांबे के पानी को पीने से हमारे खून में तांबे की अधिकता की वजह से किडनी, आँख और दिमाग पर भी बुरा असर पड़ता है.
तांबे के बर्तन का पानी कब नहीं पीना चाहिए

तांबे के बर्तन में हर साल और हर बार पानी नहीं पीया जा सकता, नहीं तो यह नुकसान देह हो सकता है. तांबे के बर्तन में पानी शरद ऋतु, और सर्दी के दिनों में ही फायदेमंद होता है. अन्य मौसम में ताम्बे का पानी नुकसानदायक हो सकता है.

Tambe Ke Bartan Mein Pani Peena – FAQs 
तांबे की तासीर

तांबे की तासीर गर्म होती है इसलिए गर्मी के दिनों में तांबे का जल नहीं पीना चाहिए.

Tambe Ke Bartan Mein Pani Peene Ke Fayde

खून को साफ़ करने, अर्थराइटिस से होने वाले दर्द में, कोलेस्ट्रॉल का लेवल भी नियंत्रित रहता है आदि. तांबे के बर्तन में पानी पीने के फायदे बहुत सारे होते है जो इस पोस्ट में बताया गया है. 

Tambe Ke Bartan Mein Pani Peene Ke Nuksan

खून में तांबे की अधिकता की वजह से किडनी, आँख और दिमाग पर भी बुरा असर, तांबे का पानी पीने से शरीर में तांबे की अधिकता की वजह से लिवर को नुकसान होता है, खाना खाने के बाद तांबे का पानी पीने से पाचन तंत्र पर बुरा असर पड़ता है आदि. तांबे के बर्तन में पानी पीने के कई नुकसान भी हो सकते है जो इस पोस्ट में बताया गया है.

उम्मीद करते है आपको हमारी यह पोस्ट Tambe Ke Bartan Mein Pani Peene Se Kya Hota Hai और तांबे के बर्तन में पानी पीने के फायदे और नुकसान पसंद आई होगी.

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर कर दीजिए और इस आर्टिकल से जुड़ा कोई भी सवाल हो तो उसे आप नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर के पूछ सकते हैं.

Questions & Answer:
Pragaitihasik Kal Kya Hai in Hindi

Pragaitihasik काल क्या है – प्रागैतिहासिक काल किसे कहते हैं,अर्थ,काल का समय

Education
Tambe Ke Bartan Mein Pani Peene Se Kya Hota Hai और तांबे के बर्तन में पानी पीने के फायदे और नुकसान

Tambe के बर्तन में पानी पीने से क्या होता है – Copper में पानी पीने के फायदे, नुकसान

Health
BP Kam Hone Se Kya Hota Hai और BP Low Hone Par Kya Karna Chahie

BP कम होने से क्या होता है – बीपी लो होने पर क्या करना चाहिए

Health
Author :
प्रिये पाठक, आपका हमारी वेबसाइट Lipibaddh.com पर स्वागत है, इस वेबसाइट का काम लोगों को हिंदी भाषा में देश, विदेश एवं दैनिक जीवन में काम आने वाली जरुरी चीजों के बारे में जानकरी देना है.
Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *