Current लगने पर क्या करें, जाने कर्रेंट लगने के बाद #8 उपचार, तरीका

| | 3 Minutes Read

आज हम जानते हैं की Current Lagne Par Kya Kare और Current Lagne Ke Baad Kya Kare.

साथ ही हम आपको इस Article में Current लगने से जुड़े और भी सवालों के जवाब देंगे जैसे कि: Current लगने पर कैसा महसूस होता है, Current लगने के फायदे और नुकसान, Current लगने पर क्या खाना चाहिए, कौन सी दवा इस्तेमाल करनी चाहिए, इलाज कैसे करना चाहिए इत्यादि की पूरी जानकारी विस्तार में जानेंगे.

Current Lagne Par Kya Kare

Current लगने पर सबसे पहले इलेक्ट्रिसिटी की सप्लाई बंद करें. अगर तार से डायरेक्ट करंट लग रहा तो घर के मेन स्विच को बंद कर दें. करंट लगने पर अगर इंसान तार या Electrical सामान से चिपका है तो उसे अलग करें. उसे अलग करने के लिए किसी लकड़ी या प्लास्टिक की चीज का इस्तेमाल करें.

जल्दबाजी में आप बेलन या plastic की कंघी जैसी चीजों को भी करंट से दूर करने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं. ध्यान रखें इलेक्ट्रिक शॉक लगने के बाद व्यक्ति को ठंड नहीं लगना चाहिए. अगर करंट से घाव हो गया है तो ठंड से बचाने के लिए कंबल न ओढ़ाएं. इससे घाव में कपड़े चिपकने का डर होता है.

अगर करंट लगने से इंसान बेहोश हो गया है तो उसे होश में लाएं. इसके अलावा अगर करंट लगने पर सांस नहीं आ रही तो फौरन CPR Treatment दें. इसके लिए मरीज को सीधा जमीन पर लेटाएं और सिर को नीचे ही रखें.

Current Lagne Ke Baad Kya Kare

1. करंट लगने के बाद, बिजली की आपूर्ति को बंद करें. इसे आप अपनी सुरक्षा को बरक़रार रखते हैं और नुकसान को कम कर सकते हैं.

2. बिजली लगने के बाद किसी Ambulance या चिकित्सक को सुचित करें. 

3. अगर करंट का शिकार घर में हैं, तो घर में बिजली के तार और फ्यूज का निरिक्षण Electrician से कराएँ.

4. अगर किसी व्यक्ति को बिजली लगने के बाद चोट लगी है या उसकी हालात गंभीर है, तो तुरंत चिकित्सक से संपर्क करें.

5. अपने क्षेत्र में उपलब्ध आपात कालीन नंबर का उपयोग करें और 108 (एम्बुलेंस) एवं 100 (पुलिस).

6. यदि आपको किसी और व्यक्ति की मदद की जरूरत है तो बिना देर किए उसे बुला लें.

7. भविष्य में किसी और को बिजली न लगे के लिए सुरक्षा उपाय करें.

8. अपने परिवार के अन्य सदस्यों को इस बारे में सुचित करें और उन्हें भी सुरक्षित रहने के लिए प्रोत्साहित करें.

Current Lagne Par Kaisa Mahsus Hota Hai

1. कर्रेंट लगने पर व्यक्ति को झंझनाहट (झटका) की अनुभूति होती है, जो एक तेज चेतना महसूस होती है.

2. कर्रेंट लगने पर अधिक मात्रा में दर्द महसूस होता है. क्या दर्द की स्थिति व्यक्ति के शारीरिक स्वास्थ्य पर निर्भर है. दर्द के स्थान और तीव्रता शरीर के स्पर्श स्थल पर निर्भर करते हैं.

3. कर्रेंट लगने के बाद, व्यक्ति में घबराहट और आशंका की भावना होती है. ये भावना मानसिक चौकसी और असंतुलन का भी कारण हो सकती है.

4. कुछ लोगों को करंट लगने के बाद हिचकी आती है, जो संकोचन और झंझनाहट के कारण होती है.

5. कर्रेंट लगने के प्रभाव से शरीर की मांसपेशियां संकुचित होती हैं.

6. कर्रेंट लगने के बाद व्यक्ति में सूनापन की भावना होती है, जिससे व्यक्ति को शरीर के कुछ हिस्सों में महसूस होना बंद हो जाता है.

7. करंट लगने पर शरीर में कंपन की अनुभूति होती है.

8. अगर कर्रेंट की मात्रा अधिक है, तो व्यक्ति की चेतना भी जा सकती है.

Current Lagne Par Kya Khana Chahiye

Current लगने के तुरंत बाद उस व्यक्ति को गुनगुना दूध/ पानी पिलाना चाहिए.

Current Lagne Ka Ilaj

जल्द से जल्द उसे नजदीक अस्पताल ले जाना चाहिए.

Current Lagne Ke Baad Kya Khana Chahie

Current लगने के बाद हल्के गुनगुने दूध का सेवन करना चाहिए.

Current Lagne Ki Dawa

जले हुए जगह पर आप Toothpaste लगा सकते हैं या फिर आपके डॉक्टर द्वारा बताए गए मरहम इस्तेमाल करना चाहिए.

Current Marne Wali Machli Ka Naam

Current मारने वाली मछली का नाम Electric Eel है.

उम्मीद करते हैं आपको हमारी पोस्ट Current Lagne Par Kya Kare और Current Lagne Ke Baad Kya Kare पसंद आई होगी.

अगर आपको हमारा यह Article पसंद आया तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर करें और अगर इस Article से जुड़ा कोई सवाल हो तो उसे नीचे दिए Comment Box में पूछ सकते हैं.

Author:

Hello!! दोस्तों मेरा नाम Shalini है. मैं lipibaddh.com की Writer हूँ. मुझे हिंदी में Health और Drinks Blogs लिखना पसंद है. मैं इन Blogs की मदद से आप तक सभी अगल-अलग Drinks और Health से जुड़ी जानकारी पहुंचाना चाहती हूँ. मेरा आपसे निवेदन है की आप इसी तरह मेरा सहयोग देते रहें और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों के साथ मेरे लिखे Content को शेयर करें. मैं आप सभी के लिए Latest जानकारियाँ उपलब्ध करवाती रहूँगी.

Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *