Kishmish खाने के #7 अनकहे फायदे, किशमिश की तासीर, खाली पेट

| | 2 Minutes Read

इस पोस्ट में हम जानेंगे Kishmish Khane Ke Fayde और Kishmish Ki Taseer Kaisi Hoti Hai.

साथ ही जानेंगे किशमिश गरम होती है या ठंडा, किशमिश का इंग्लिश नाम, तासीर, किशमिश खाने का तरीका इत्यादि की पूरी जानकारी विस्तार में जानेंगे.

Kishmish Khane Ke Fayde

किशमिश (Raisins) खाने के कई स्वास्थ्यवर्धक फायदे होते हैं. ये सूखे हुए अंगूर का फल हैं जो विटामिन, मिनरल्स, फाइबर और एंटिऑक्सीडेंट्स से भरपूर होती हैं. किशमिश खाने के कई फायदे:

1. विटामिन और मिनरल्स का स्रोत: किशमिश विटामिन B कंप्लेक्स, आयरन, पोटैशियम, मैग्नीशियम और जिंक का अच्छा स्रोत होती हैं.

2. डाइजेशन को सहायक: किशमिश में पाये जाने वाले फाइबर डाइजेशन में सहायक होते हैं और पाचन प्रणाली को स्वस्थ रखने में मदद करते है.

3. High Antioxidants:  किशमिश में उच्च मात्रा में एंटिऑक्सीडेंट्स होते हैं जो विषाणुओं और रेडिकल्स के कारण होने वाले क्षतिग्रस्त कोशिकाओं की रक्षा करते हैं.

4. हार्ट हेल्थ के लिए फायदेमंद: किशमिश में पाये जाने वाले पोटैशियम और फाइबर दिल के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद करते हैं. रक्तचाप को नियंत्रित करने में सहायक होते हैं.

5. आंतों को स्वस्थ रखने में मदद: किशमिश में मौजूद फाइबर आंतों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने और कब्ज से राहत दिलाते हैं.

6. आंखों के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद: इसमें विटामिन A, कैरोटिनॉयड्स और अंतियोक्सीडेंट्स आंखों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद करते हैं.

7. हेल्थी बोन्स के लिए: किशमिश में पाये जाने वाले कैल्शियम, बोन्स के स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करते हैं.

Kishmish Ki Taseer Kaisi Hoti Hai

किशमिश की तासीर गरम होती है. यह खाने के बाद शरीर को गरमी महसूस कराती है और जिससे शरीर का तापमान बढ़ता है.

Kishmish Khane Se Kya Hota Hai

1. किशमिश में पाये जाने वाले फाइबर पाचन प्रणाली और कब्ज की समस्या में सहायक होते हैं.

2. किशमिश में शक्कर और कार्बोहाइड्रेट होते हैं जो शरीर को ऊर्जा प्रदान करते हैं.

3. इसमें पाये जाने वाले कैल्शियम, मैग्नीशियम और बोन्स के स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करते हैं.

4. विटामिन B कंप्लेक्स, आयरन, पोटैशियम, मैग्नीशियम और जिंक जैसे पोषणतत्व का बेहतर स्त्रोत है.

5. इसमें पोटैशियम और फाइबर होते हैं जो दिल के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद करते हैं.

6. किशमिश रक्तचाप को नियंत्रित करने में सहायक है.

7. फाइबर आंतों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद करते हैं और कब्ज से राहत दिलाते है.

8. किशमिश में पाये जाने वाले विटामिन A, कैरोटिनॉयड्स और अंतियोक्सीडेंट्स आंखों के स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होते है.

Kishmish Kaise Banti Hai

1. पहले तो उन अंगूरों का चयन किया जाता है जिन्हें किशमिश बनाने के लिए सबसे उपयुक्त माना जाता है. आमतौर पर ठंडे क्षेत्रों में उगे अंगूरों को किशमिश बनाने के लिए चुनाते है.

2. फिर चुने गए अंगूरों को धोकर अच्छे से साफ करते है. इसके बाद इन्हें धूप में सुखाया जाता है ताकि वे सुखकर आवशोषित हो सकें.

3. उसके बाद खूबसूरत और दारचीनी रंग के खिले अंगूरों को सोडा विक्रेता में रखकर उन्हें दोपहर तक रखा जाता है. यह किशमिश के रंग को सुंदर और आकर्षक बनाते है.

4. सोडा विक्रेता में रखे गए अंगूरों को विशेष तरीके से सुखाया जाता है ताकि उनमें पानी की मात्रा कम होकर वह सूख जाए.

5. इसके बाद सुखे अंगूरों को चावल की खाल में बांधकर उन्हें आवशोषित किया जाता है. इसके परिणामस्वरूप अंगूरों में रहने वाली बची हुई नमी को सूख जाती है.

6. अब किशमिश के सुखे अंगूरों को सुलफर डायऑक्साइड (SO2) के धुएं में सुखाया जाता है जिससे उनका आकर्षक स्वाद, रंग और दर को बनाए रखने में मदद होती है.

फिर सुखे अंगूरों को इसके बाद किशमिश के रूप में बनाया जाता है.जो खाने में उपयोग होते हैं. इस तरीके से किशमिश बनती है.

Kishmish Khane Ke Nuksan

किशमिश खाने से कुछ लोगों को अलर्जी या पेट संक्रमण होता है. यदि आपको किशमिश खाने से खासी, छींकें, त्वचा पर लाल चकत्ते या खुजली इत्यादि होती है, तो आपको किशमिश नही खाना चाहिए.

इसे खाने से अधिक मात्रा में गैस, आंतों में दर्द, उलझन, पेट बिगड़ने की समस्या होती है. किशमिश में शक्कर की मात्रा अधिक होती है इसलिए डायबिटीज के मरीज को इसके सेवन में सावधानी बरतनी चाहिए.

किशमिश छोटे बच्चों को साँस लेने में रूकावट/ चोकिंग का खतरा पैदा करती है, इसलिए छोटे बच्चों को बिना चबाए सिर्फ पीसकर देना चाहिए.

किशमिश कब खाना चाहिए

किशमिश को किसी भी समय खाया जा सकता है, लेकिन इसे सुबह के समय खाने से आपके शरीर को ऊर्जा मिलती है. इसके अलावा आप इसे दोपहर, ट्रेनिंग और व्यायाम के पहले, रात के खाने के पहले खा सकते हैं.

Kismis Ki Taseer

किशमिश की तासीर गर्म होती है.

किशमिश कब खाना चाहिए

आप 9 से 10 किशमिश रोजाना सुबह या शाम को खा सकते हैं.

Jyada Kismis Khane Se Kya Hota Hai

ज्यादा किशमिश खाने से शरीर को  नुकसान होता है. इससे शरीर का वजन बढ़ता है, लीवर की समस्या उत्पन्न होती है आदि.

Kismis Kitne Rupaye Kilo Hai

किशमिश थोक बाजार में ₹130 से ₹230 किलो मिलता है.

उम्मीद करते हैं आपको हमारी Kishmish Khane Ke Fayde और Kishmish Ki Taseer Kaisi Hoti Hai पसंद आई होगी.

अगर आपको हमारा यह Article पसंद आया तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर करें और अगर इस Article से जुड़ा कोई सवाल हो तो उसे नीचे दिए Comment Box में पूछ सकते हैं.

Author:

Hello!! दोस्तों मेरा नाम Nisha है. मैं lipibaddh.com की Writer हूँ. मुझे हिंदी में Food और Cosmetics Blogs लिखना पसंद है. मैं इन Blogs की मदद से आप तक सभी अगल-अलग खाने और Cosmetics Products की जानकारी पहुंचाना चाहती हूँ. मेरा आपसे निवेदन है की आप इसी तरह मेरा सहयोग देते रहें और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों के साथ मेरे लिखे Content को शेयर करें. मैं आप सभी के लिए Latest जानकारियाँ उपलब्ध करवाती रहूँगी.

Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *