Lubricant क्या होता है, लुब्रीकेंट किसे कहते हैं, फायदे, नुकसान

| | 4 Minutes Read

इस पोस्ट में हम जानेंगे Lubricant Kya Hota Hai और Lubrication Kise Kahate Hain.

साथ ही जानेंगे Lubrication Kitne Prakar Ke Hote Hain, Lubricant Gel Usage in Hindi, Lubricant Oil Uses in Hindi, Lubrication Ka Matlab Kya Hota Hai की पूरी जानकारी विस्तार से जानेंगे.

Lubricant Kya Hota Hai

लुब्रिकेंट एक प्रकार का द्रव है जो सतह को स्पर्श करता है और उसे आराम देता है. यह पदार्थों के बिच के घर्षण को कम करता है. पदार्थों के साथ-साथ उनके इस्तेमाल के लिए भी लाभदायक होता है. लुब्रिकेंट्स अक्सर अलग-अलग प्रकार के मशीनें, इंजन एवं अन्य उपकरणों में इस्तेमाल होता है.

स्नेहक, दो पदार्थों के बीच के Friction को कम करता है. इससे पदार्थों की जीवन शैली और उनकी अवधि बढ़ती है. लुब्रिकेंट्स गरम पदार्थों के तापमान को कम करने में सहायक होता है. कुछ स्नेहक पदार्थ Chemical Corrosion से बचाने में सहायक होते हैं.

Lubrication Kise Kahate Hain

1. स्नेहन पदार्थों के बीच में गति के दौरान उत्पन्न घर्षण को कम करता है.

2. स्नेहन पदार्थो के उपाय से उनके परिपक्व होने और खिसकने को रोकता है.

3. स्नेहन पदार्थों के बीच में गति या चालन को सुधारने में मददगार होता है. इससे प्रशासन बनी रहती है.

4. स्नेहन अक्सर लोहे के पदार्थों में जंग से बचने के लिए लगाया जाता है.

5. Lubricant गति के दौरान शोर को कम करता है. इससे मशीन शांत और सुचारु काम करती है.

Lubrication Kitne Prakar Ke Hote Hain

1. Solid Lubricants: solid lubricants, जैसे कि Graphite, Molybdenum Disulfide, Teflon इत्यादि. दो पदार्थों के बीच घीसाव कम करने में इस्तेमाल होते हैं. इनका उपयोग अक्सर उच्च तापमान और उच्च दबाव वाले वातावरण में होता है.

2. Greece: ग्रीस एक semisolid lubricant होता है जो लुब्रिकेंट्स होता है, जैसे कि ग्रेफाइट या मोलिब्डेनम डाइसल्फ़ाइड, के साथ मिलकर बनाया जाता है. ग्रीस को एक जगह पर लगाया जाता है जहां लिक्विड लुब्रिकेंट्स को लगाना मुश्किल हो, जैसे कि छतियां और रोड़ा (बीयरिंग्स). ग्रीस पदार्थों के बीच घीसव को काम करता है और उन्हें रोकता है.

3. Dry Lubricants: इनमें टैल्क, अभ्रक, और काओलिन शामिल होते हैं. ये लुब्रिकेंट्स घीसाव को काम करने में और पैडर्थन को स्लिप करने में मदद करते हैं. ड्राई लुब्रिकेंट्स को अक्सर अधिक आदत और इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों में इस्तेमाल किया जाता है.

4. Gas Lubrication: गैस स्नेहन में पदार्थों के बिच गैस का उपयोग, घिसाव कम करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है. ये प्रक्रिया ज़्यादा तेज़ गति और उच्च परिशुद्धता मशीनरी में इस्तेमाल होती है.

5. Boundary Lubrication: बाउंड्री लुब्रिकेशन में लुब्रिकेंट्स पदार्थों के बीच फिल्म बनाते हैं और पदार्थों को अलग-अलग स्लाइड करने में मदद करता है. ये प्रकृति अक्सर उच्च दबाव और कम गति वाली स्थितियों में होती है.

6. Excessive Pressure Lubrication: अत्यधिक दबाव (ईपी) स्नेहक पदार्थों के बीच उच्च दबाव की स्थिति में इस्तेमाल किए जाते हैं. जैसे कि: गियर और बियरिंग्स में. लुब्रिकेंट्स में कीटाणुओं को रोकने के लिए एडिटिव्स शामिल होते हैं.

7. Biodegradable Lubricants: ये लुब्रिकेंट्स प्राकृतिक उत्पादों से बने होते हैं. इन उत्पादों को Friction से बचाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है.

Lubricant Gel Usage in Hindi

1. Lubricant Gel Intercourse (संभोग) के दौरान उपाय होता है. यदि महिला पुरुष में, संबंध के समय दर्द महसूस हो तो स्नेहक जेल का इस्तेमाल संबंध को आरामदायक बनाने के लिए लिया जाता है.

2. Condom और Diaphragm जैसे गर्भ निरोधक उपचार के साथ-साथ लुब्रिकेंट जेल का उपयोग किया जाता है. ये उपकारनों को आराम से स्थापित करना और इस्तमाल करने में मदद करता है.

3. चिकित्सा उपचार, जैसे कि एंडोस्कोपी या कैथीटेराइजेशन, के दौरान भी लुब्रिकेंट जेल का उपयोग होता है ताकि उपचारों को आराम से प्रवेश मिल सके.

4. चिकित्सा जांच और परीक्षा, जैसे कि Pelvic Exam या Rectal Exam के समय भी लुब्रिकेंट जेल का इस्तेमाल किया जाता है ताकि व्यक्ति को आराम हो.

5. कुछ Lubricant Gel इस्तेमाल करके व्यक्तिगत स्वच्छता और Affection को बढ़ाने के लिए किया जाता है.

Lubricant Oil Uses in Hindi

1. हर प्रकार की व्यावसायिक मशीनें, जैसे कि इंजन, गियरबॉक्स, कन्वेयर बेल्ट, और पंप, के उपचार में लुब्रिकेंट ऑयल का उपयोग होता है. इस उपकारनों की सहज गति और अनुशासन बनी रहती है.

2. लुब्रिकेंट ऑयल गाड़ियों, ट्रैक्टरों, मोटरसाइकिलों और अन्य वाहनों के इंजन और गियरबॉक्स में इस्तमाल होता है. इस इंजन की दीर्घायु और प्रशसन सुधर जाती है.

3. विभिन्न प्रकार के औद्योगिक उपकरण, जैसे कंप्रेसर, हाइड्रोलिक सिस्टम, और टर्बाइन में स्नेहक तेल का उपयोग होता है.

4. ग्रीस एक प्रकार का गाढ़ा चिकनाई वाला तेल होता है जो अक्सर असर और जोड़ों में होता है. ये उपकरणों के आक्रोश को कम करता है और उन्हें सुरक्षा प्रदान करता है.

5. हवाई सुविधाएं, जैसे हवाई जहाज और हेलीकॉप्टर, उनमें भी लुब्रिकेंट ऑयल का सामान होता है. इसे इंजन और एवियोनिक्स सिस्टम की सुरक्षा होती है.

6. चिकनाई वाले तेल वाले जहाज और नावों के इंजन और प्रणोदन प्रणाली में इस्तमाल होता है ताकि उनका समुद्री यात्रा आसान और प्रशंसनीय हो सके.

7. घरेलू उपकरण, जैसे कि सिलाई मशीनें, मिक्सर, और ग्राइंडर में भी चिकनाई वाले तेल का उपयोग होता है.

8. साइकिल और मोटरसाइकिल की चेन पर लुब्रिकेंट ऑयल लगाया जाता है ताकि उनकी गति सुधार सके.

Lubrication Ka Matlab Kya Hota Hai

Lubrication एक Scientific और Mechanical शब्द है जो दो पदार्थों के आक्रोश को काम करके उनके बेहतरीन प्रशासन को सुधारने के लिए तैयार करता है. Lubrication का मुख्य उद्देश्य दो पाठकों के Contact में आक्रोश को काम करके उन्हें आराम से एक दूसरे के साथ Slide करने में मददगार बनाना.

उम्मीद करते हैं आपको हमारी पोस्ट Lubricant Kya Hota Hai और Lubrication Kitne Prakar Ke Hote Hain पसंद आई होगी.

अगर आपको हमारा यह Article पसंद आया तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर करें और अगर इस Article से जुड़ा कोई सवाल हो तो उसे नीचे दिए Comment Box में पूछ सकते हैं.

Author:

Hello!! दोस्तों मेरा नाम Nisha है. मैं lipibaddh.com की Writer हूँ. मुझे हिंदी में Food और Cosmetics Blogs लिखना पसंद है. मैं इन Blogs की मदद से आप तक सभी अगल-अलग खाने और Cosmetics Products की जानकारी पहुंचाना चाहती हूँ. मेरा आपसे निवेदन है की आप इसी तरह मेरा सहयोग देते रहें और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों के साथ मेरे लिखे Content को शेयर करें. मैं आप सभी के लिए Latest जानकारियाँ उपलब्ध करवाती रहूँगी.

Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *