Gandhak क्या है, जाने गंधक के #7 अनोखे फायदे, #4 प्रकार

| | 3 Minutes Read

आज हम आपको इस Article की मदद से बताएंगे Gandhak Kya Hai और Gandhak Ke Fayde.

साथ ही हम आपको गंधक से जुड़े और भी सवालों के जवाब देंगे. जैसे कि Gandhak Kya Kaam Aata Hai, गंधक कितने प्रकार की होती है, Gandhak Ka Formula इत्यादि की पूरी जानकारी विस्तार में जानेंगे.

Gandhak Kya Hai

गंधक एक रासायनिक तत्व है जो गंभीर बीमारियों के इलाज में सहायक होता है. इसमें मौजूद Anti-Bacterial, Antiviral और Anti-Microbial गुण शरीर के लिए फायदेमंद होते है. यह Chlorophyll के निर्माण में अपनी अहम भूमिका निभाता है. साथ ही पौधों की पत्तियों को हरा रखने एवं भोजन निर्माण में मदद करता है.

इसका रासायनिक नाम सल्फर है, जिसका प्रतीक S और परमाणु क्रमांक 16 होता है. यह प्रचुर, बहुसंयोजी और अधात्विक रसायन है जो कमरे के तापमान में एक चमकदार पीले रंग का Crystalline ठोस होता है.

ब्रह्मांड में द्रव्यमान के हिसाब से गंधक दसवां एवं पृथ्वी पर पांचवां सबसे सामान्य तत्व माना जाता है. क्योंकि पृथ्वी पर गंधक आमतौर पर सल्फाइड खनिजों के रूप में पाया जाता है.

गंधक कहा मिलता है

गंधक गर्म झरनों और ज्वाला मुखी क्षेत्रों में पाया जाता है. यह Organic तौर पर मिट्टी में पौधों के अवशेष, औद्योगिक अपशिष्ट, समुंद्र के पानी और वातावरण में गैसीय उत्सर्जन की अवस्था में मौजूद होता है. बाल, ऊन, Albumin, लहसुन, करमकल्ला सरसों, मूली, प्रोटीन इत्यादि पदार्थों में भी गंधक पाया जाता है.

Gandhak Ke Fayde

1. Eczema रोगियों के लिए गंधक फायदेमंद होता है. इसमें मौजूद तत्व त्वचा के Bacteria से लड़ने में मदद करते है.

2. यह त्वचा में पैदा होने वाले Bacteria को खत्म करने में मदद करता है.

3. त्वचा को रोग मुक्त बनाने एवं स्वास्थ्य रखने में मदद करता है.

3. गंधक के नियमित उपयोग से खुजली की समस्या को खत्म किया जा सकता है.

4. गंधक Psoriasis के रोगियों के लिए फायदेमंद है, ऐसे में डॉक्टर की सलाह लेकर आप गंधक का इस्तेमाल कर सकते हैं.

5. गंधक के सेवन से भूख न लगने की समस्या को ठीक किया जा सकता है.

6. आमवाती विकारों को ठीक करने में गंधक फायदेमंद है.

7. गंधक गठिया में होने वाले दर्द को ठीक करने में मदद करता है.

Gandhak Kya Kaam Aata Hai

गंधक शरीर में होने वाली कई तरह की समस्याओं को ठीक करने के काम आता है. इसके सेवन से Urinary Tract के इन्फेक्शन, हाथ/ पैर में जलन, त्वचा में खुजली, मसूड़ों की सूजन इत्यादि को ठीक किया जा सकता है. यह खून साफ़ करने, मुँहासे और फुंसियों से छुटकारा दिलाने में भी सहायक होता है.

गंधक कितने प्रकार की होती है

1. Common Sulphur: यह काफी मुलायम और दिखने में पीले रंग का होता है. सामान्य गंधक का सूत्र S8 है, जिसमें 8 सल्फर के परमाणु होते हैं. इसका प्रयोग मिट्टी में PH को संतुलित करने, माचिस, दवाइयों, सुर्खी, Pesticides, Contact Lenses इत्यादि में किया जाता है.

2. Prismatic Sulphur: एक Crystalline प्रकार का गंधक है जो समतल Facets से मिलकर Prism की आकृति में होता है. इसका सूत्र S8 ही है, परन्तु सल्फर के परमाणु समान्य गंधक से अलग-अलग Coordination में होते हैं.

3. Monoclinic Sulphur: क्रिस्टलीन प्रकार का गंधक है, जो Monoclinic सम्बन्ध में होता है. Monoclinic सम्बन्ध में, Crystal के समानांतर Faces 90° से कम का कोण बनाते है.

4. प्‍लास्‍ट‍ि‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍क गंधक: यह अस्थिर गंधक है जो सामान्य गंधक को तेज गर्मी में पिघलाकर और जल्दी से ठंडा करके बनाया जाता है. Plastic Sulfur का सूत्र Sn है, जिसमें N8 से 20 के बीच का कोई संख्या हो सकता है. इसका रंग पीला, हरा, काला, लाल, नीला, सफेद इत्यादि हो सकता है.

Gandhak Ka Formula

गंधक एक रासायनिक तत्व है जिसका रासायनिक Formula H₂ So₄ होता है.

आशा करते हैं आपको हमारा Article Gandhak Kya Hai और Gandhak Ke Fayde पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें.

अगर आपके मन में कोई सवाल है तो आप Comment करके पूछ सकते हैं.

Author:

Hello!! दोस्तों मेरा नाम Rajesh है. मैं lipibaddh.com का Writer हूँ. मुझे हिंदी में Education Blogs लिखना पसंद है. मैं इन Blogs की मदद से आप तक Courses, Exams और Mythological Content की जानकारी पहुंचाना चाहता हूँ. मेरा आपसे निवेदन है की आप इसी तरह मेरा सहयोग देते रहें और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों के साथ मेरे लिखे Content को शेयर करें. मैं आप सभी के लिए Latest जानकारियाँ उपलब्ध करवाता रहूँगा.

Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *