गुल खाने से क्या होता है – खाने के नुकसान, अर्थ पूरी जानकारी

इस पोस्ट में हम जानेंगे की Gul Khane Se Kya Hota Hai और Gul Ka Arth साथ ही जानेंगे Gulआपकी सेहत के लिए कैसा है.

Gul Khane Se Kya Hota Hai - Khane Ke Nuksan, Arth,

साथ ही पोस्ट में जानेंगे ज्यादा Gul Khane लेने की कीमत आपको कितनी भारी पड़ सकती है. इन सब के बारे में Gul Khane Se Kya Hota Hai पोस्ट में विस्तार से जानेंगे

Gul Khane Se Kya Hota Hai

गुल खाने से ज्यादा नुक़सान वह माध्यम करता है जो Nicotine को खून तक पहुंचाने के लिए किया जाता है. Nicotine सिगरेट, खैनी, गुटखा, पान, के माध्यम से खून तक पहुंच जाता हैं, फेफड़ों व मुंह के कैंसर का मुख्य कारण तंबाकू को ही माना जाता है. बीड़ी और सिगरेट दोनों से ही कैंसर होता है, डाक्टारो का कहना है की सिगरेट की तुलना में बीड़ी से ज्यादा नुकसान होता है.

बीड़ी ज्यादा खतरनाक है, क्योंकि इसमें कोई परत या फिर फिल्टर नहीं लगा होता है, जिससें ज्यादा धुआं अंदर जाता है, वहीँ सिगरेट में फिल्टर होने की वजह से धुआं कम मात्रा में फेफड़ों में जाता है.

बीड़ी में Covering नहीं होने की वजह से यह ज्यादा खतरनाक मानी जाती है

Gul in Hindi

गुल भी एक तरह से तम्बाकू को ही कहते है. गुल को बेवजह मंजन का नाम दे दिया है ,जबकि यह मात्र पिसा हुआ तम्बाकू ही है, नशा एक ऐसी बीमारी है जो हमें और हमारे समाज को, हमारे देश को तेजी से निगलता जा रहा है.

Gul Ka Arth

गुल Nicotiana प्रजाति के पेड़ के पत्तों को सुखा कर नशा करने की वस्तु बनाई जाती है दरसल गुल एक मीठा जहर है, गुल Nicotiana Tebecum पौधे से प्राप्त किया जाता है यह एक धीमा जहर है.

धीरे धीरे यह आदमी की जान लेता है सरकार को भी शायद यह पता नहीं कि तम्बाकू से कितना बड़ा नुकसान इस देश को हो सकता है वह सिर्फ राजस्व प्राप्त करना चाहती है, यह बात तो सत्य हैं किंतु यह भी सत्य है कि तम्बाकू से उत्पन्न रोगों के इलाज पर जितना खर्च किया जाता है, यह राजस्व उससे कहीं गुना कम है.

गुल एक प्रकार के नशीलें प्रदार्थ को कहा जाता है जिसमें सिगरेट, खैनी, गुटखा आदि प्रदार्थ पाए जाते है. गुल का सेवन करना स्वस्थ के लिए हानिकारक हो सकता है वर्तमान समय में हमारे आस पास हम देखते है की गुल का सेवन करने वालो की संख्या दिन पर दिन बड़ती जा रही है.

गुल के सेवन से जीवन शक्ति का भी नुकसान होता है, व्यक्ति को पता चल जाता है कि तम्बाकू का सेवन हानिकारक है किंतु बाद में लाख कोशिशों के बाद भी यह लत छूटती नहीं हैं. धीरे-धीरे उससें जीवन शक्ति भी कम होती जाती है और वह अपने आपको एक तरह से विनाश के हवाले भी कर देता है.

गुल का सेवन आमिर से लेकर गरीब और मध्यम वर्गीय व्यक्ति भी कर रहा है पुरुषो के साथ महिलाएं भी इस के सावन से वंचित नही रह गई है, गुल का सेवन छोटे बच्चो से लेकर बुजुर्ग व्यक्ति भी इसकी आदत में पड़ चूका है.

Gul Ka Matlab Kya Hai

गुल भी एक तरह से तम्बाकू को ही कहते है. गुल को बेवजह मंजन का नाम दे दिया है ,जबकि यह मात्र पिसा हुआ तम्बाकू ही है, नशा एक ऐसी बीमारी है जो हमें और हमारे समाज को, हमारे देश को तेजी से निगल रहा है,

लेकिन सबसे बड़ी होने वाली हानि यह है की हमारा युवा-वर्ग गुल की चपेट में बड़े स्तर पर पहुंचन चुका है, आज के लोग पढ़े लिखे होने के बाद भी नशे की लत के शिकार हो रहे हैं.

इस नशे की लत से छुटकारा पाने का एक ही उपाय है कि युवा पीढ़ी को मानसिक शांति की ओर ले जाए, युवा हमारे देश का भविष्य है और हमें भविष्य को ही सुधरने की जरुरत है.

क्योंकी एक Research के मुताबित यह पता चला है की गुल का लगातार सेवन करने वालो में मानशिक शांति का बहुत आभाव है और वो गुल के सेवन के लिए भी बार बार खुद ही अपने दिमाग को ख़राब करने का बहाना खोजते रहते हैं.

Gul Ke Fayde

गुल खाने से कभी हमें किसी प्रकार का फायदा नही मिलेगा बल्कि गुल का सेवन करने से हमारा शारीर एक दिन अन्दर से खोकला हो सकता है जो लाखो तरह की बीमारियों को आमंत्रण देता है.

गुल से छुटकारा पाने के लिए किसी भी मंजन से साधारण ब्रश करें फिर उसके बाद निकोटिन गम चबाएं यह एक प्रकार का चबाने वाला गम होता है जो कि सिगरेट की लत को छुड़ाने के काम आता है.

Gul Khane Ke Nuksan

गुल अकसर सिगरेट, खैनी, गुटखा, पान, के माध्यम से हमारे खून तक पहुंचाया जाता है फेफड़ों के कैंसर का मुख्य कारण तंबाकू को ही माना जाता हैं, फेफड़ों का कैंसर होने का खतरा सबसे ज्यादा उन लोगों को रहता है जो गुल के रूप में सिगरेट का सेवन करते हैं.

तंबाकू से Leukoplakia का रिस्क अधिक रहता है Leukoplakia से खास तौर पर मुंह के अंदर होने वाली जलन जैसी सारी समस्या पैदा होती है. इसमें मसूड़ों में, जीभ में, मुंह के अंदर नीचे या फिर गाल के अंदर एक सफेद दानेदार दाग बन जाते हैं इसी को Leukoplakia कहते हैं

ये खास तौर पर उन लोगों को होता है जिनका इम्यून सिस्टम कमजोर होता है, जिसमें दांत और मसूड़े तेजी से सड़ते हैं और मुंह के कैंसर का यह बहुत बड़ा कारण है. इससे गले के कैंसर का रिस्क अधिक रहता है तंबाकू में मौजूद Nicotine हार्ट रेट और ब्लड प्रेशर बढ़ा देता है जिससे दिल के रोगों की आशंका अधिक भी रहती है.

  • तंबाकू खाने वाले व्यक्ति में मुहं, गले या फेफड़ों का कैंसर होने की संभावना रहती है.
  • तंबाकू सेवन करने वाली महिलाओं में गर्भपात की दर सामान्य महिलाओं से तकरीबन 15 प्रतिशत ज्यादा होती है.
  • इरेक्टाइल डिस्फंक्शन पुरुषों में होने वाली एक ऐसी समस्या है जो इरेक्शन को ठीक तरह से नहीं होने देती है।
  • तंबाकू डायबिटीज, एसिडिटी की समस्या का भी कारण बनता है साथ ही हड्डियों से कैल्शियम कम कर देती है जिससे Osteoporosis का खतरा बढ़ जाता है।
  • तम्बाकू का सेवन करने से आपका दिल बहुत ही कमजोर बनकर काम करता हैं.

उम्मीद करते है आपको हमारी यह पोस्ट Gul Khane Se Kya Hota Hai और Gul Ka Arth पसंद आई होगी.

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर कर दीजिए और इस आर्टिकल से जुड़ा कोई भी सवाल हो तो उसे आप नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर के पूछ सकते हैं.

Questions & Answer:
Kidney Kharab Hone Se Kya Hota Hai और Kidney Kharab Hone Ke Lakshan

Kidney ख़राब होने से क्या होता है – किडनी ख़राब होने के लक्षण, दवाई

Health
Calcium Se Kya Hota Hai और Calcium Ke Liye Kya Khaye

Calcium से क्या होता है – कैल्शियम के लिए क्या करें और क्या खाए – Tablet

Kya Kaise
Hing Se Kya Hota Hai और Hing Ke Fayde

Hing से क्या होता है, Use कैसे करें, फायदे नुकसान, इलाज, Rate, पेड़

Health
Author :
प्रिये पाठक, आपका हमारी वेबसाइट Lipibaddh.com पर स्वागत है, इस वेबसाइट का काम लोगों को हिंदी भाषा में देश, विदेश एवं दैनिक जीवन में काम आने वाली जरुरी चीजों के बारे में जानकरी देना है.
Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *