Shilajit खाने से क्या होता है, शिलाजीत खाने के #10 फायदे

| | 2 Minutes Read

इस पोस्ट में हम जानेंगे Shilajit Khane Se Kya Hota Hai और Shilajit Khane Ke Fayde.

साथ ही जानेंगे ज्यादा Shilajit आपकी सेहत के लिए कैसा है, Shilajit से छुटकारा पाने के उपाय, Shilajit Khane Ke Nuksan इत्यादि की पूरी जानकारी विस्तार में जानेंगे.

Shilajit Khane Se Kya Hota Hai

1. शिलाजीत एक प्राकृतिक वृष (कामोत्तेजक) माना जाता है. इसका इस्तेमाल पुरुषों के यौन सहनशक्ति और वीर्य वर्द्धक के रूप में होता है.

2. शिलाजीत शरीरिक शक्ति को बढ़ाने का प्राकृतिक उपाय है. इसमें पाए जाने वाले खनिज, विटामिन और Fulvic Acid आपको ऊर्जा प्रदान करते हैं.

3. शिलाजीत एक शक्तिशाली Antioxident है, जो शरीर को फ्री रेडिकल्स और ऑक्सीडेटिव तनाव से बचाता है.

4. इसका इस्तेमाल शारीरिक प्रदर्शन और व्यायाम में किया जाता है.

5. शिलाजीत का इस्तेमाल मानसिक स्वास्थ्य को सुधारने के लिए किया जाता है. ये तनाव और चिंता कम करने में मदद होता है.

6. कुछ अध्ययनों से पता चलता है कि शिलाजीत हृदय स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद होता है, ये हृदय को स्वस्थ रखता है और हृदय स्वास्थ्य को रोकता है.

7. कुछ शोध के अनुसार, शिलाजीत मधुमेह के उपचार में मददगार होता है, क्योंकि ये रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करता है.

8. शिलाजीत जोड़ों का दर्द और गठिया रोग के लिए भी फ़ायदेमंद हैं, क्योंकि ये संयुक्त स्वास्थ सुधार सकता है.

Shilajit Khane Ke Fayde

1. शिलाजीत शरीर को अधिक ऊर्जा प्रदान करता है और थकान कम करता है. इसे शारीरिक स्थिरता और व्यावसायिक दृष्टि से लाभ होता है.

2. शिलाजीत, शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है. व्यक्तित्व को बीमारियों से लड़ने में मदद करता है.

3. शिलाजीत में मौजुद फुल्विक एसिड और एंटी-ऑक्सीडेंट त्वचा के स्वास्थ्य को सुधारने में मददगार हैं. ये व्यक्ति को जल्दी बुढ़ापा से बचाता है.

4. शिलाजीत दिमाग की कार्यशिल्पा को सुधारने और स्मृति को बढ़ाने में मदद करता है. इससे आप एकाग्रता और संज्ञानात्मक कौशल सुधार सकते हैं.

5. शिलाजीत में मौजुद एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणवात्ता जोड़ों के दर्द पर काम करना और जोड़ों को सुधारने में मददगार होते हैं.

6. शिलाजीत पुरुषों के लिए यौन शक्ति बढ़ाने में मदद करता है और नपुंसकता को काम करता है.

7. शिलाजीत रक्त शर्करा को नियंत्रित करने में मदद करता है. यह मधुमेह के प्रबंधन में उपयोगी होता है.

8. शिलाजीत एक सबसे अच्छा एंटी-ऑक्सीडेंट है जो शरीर में फ्री रेडिकल्स से लड़ने में मदद करता है.

9. शिलाजीत शरीर की शुद्धिकरण करता है और अन्य उपचारों से निकलने में मदद करता है.

10. शिलाजीत पोषक तत्वों की सुगंध को बढ़ाता है और उनका अच्छी तरह से शरीर में संचार करने में मदद करता है.

Shilajit Khane Ke Nuksan

1. कुछ लोगों को शिलाजीत से Allergy होता हैं, जो त्वचा में खुजली, चक्कर आना या किसी अन्य लक्षण के रूप में प्रकट हो सकती है.

2. शिलाजीत के अधिक सेवन से पेट की समस्याएँ जैसे कि पेट में दर्द, कब्ज, उल्टी आना इत्यादि हो सकता है.

3. शिलाजीत दवाओं के साथ प्रतिकार कर सकते हैं, इसलिए आपको किसी भी दवा के साथ शिलाजीत का सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह लेना जरुरी है.

4. शिलाजीत में खनिजों की अधिक मात्रा होने के कारण, इसका अत्यधिक सेवन ओवरडोज़ हो सकता है. यह आपके शरीर को नुकसान पहुंचा सकता है.

5. शिलाजीत गर्भस्थ और स्थापना के दौरान इस्तेमाल नहीं करना चाहिए, क्योंकि इसका सुरक्षित प्रभाव गर्भवति महिलाओ और बच्चों पर नहीं होता है.

6. शिलाजीत रक्त चाप को कम करने का प्रभाव रखता है. अगर आप रक्तछाप की दवा ले रहे हैं, तो शिलाजीत का सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह लेना जरुरी है.

7. शिलाजीत रक्त शर्करा को नियंत्रित करने में मददगार होता है. इसलिए, मधुमेह के रोगियों को शिलाजीत का सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए.

8. शिलाजीत के गूदे के रोग जैसे कि गुर्दे की पथरी के रोगियों के लिए सुरक्षित नहीं होता. इसे गुरुदे की समस्याओं को बढ़ावा मिलता है.

9. शिलाजीत में आयरन की अधिक मात्रा होने के कारण, यह Hemochromatosis (आयरन ओवरलोड) के रोगियो के लिए नुक्सान दायक होता है.

Shilajit Khane Ka Tarika

1. सबसे पहले यह महत्वपूर्ण है कि आप अच्छी और प्रमाणित शिलाजीत खरीदें. शिलाजीत की गुणवत्ता और शुद्धता अलग-अलग हो सकती है.

2. शिलाजीत का इस्तेमाल हमेशा चिकित्सक या आयुर्वेदिक वैद्य की सलाह के अनुसार करना चाहिए. आम तौर पर, 300 mg से लेकर 500 mg तक शिलाजीत दिन में एक या दो बार लिया जा सकता है.

3. शिलाजीत को इस्तेमाल करने के लिए, आप इसे हल्का गर्म पानी या दूध में घोलकर पी सकते हैं. गरम पानी या दूध में शिलाजीत घोलने से इसे पीना आसान होता है.

4. शिलाजीत को खाली पेट लेना अधिक फ़ायदेमंद होता है. आप इसे सुबह या रात को सोने से पहले एक घंटे पहले ले सकते हैं.

5. शिलाजीत को किसी भी धातु के कंटेनर में ना रखें, क्योंकि ये धातु से प्रतिक्रिया कर सकता है. इसे प्लास्टिक, कांच या मिट्टी के बर्तन में ही रखें.

6. शिलाजीत के फायदे समय के साथ दिखते हैं. इसका इस्तेमाल नियमित रूप से करें और चिकित्सक की सलाह पर अमल करें.

7. शिलाजीत के सेवन के बाद, आपको पानी पीना जरूरी है ताकि शरीर से विशेष बाहर निकल सके.

8. शिलाजीत का सेवन करने के बाद अगर आपको किसी तरह की दिक्कत या साइड इफेक्ट्स महसूस होते हैं, तो आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं.

उम्मीद करते हैं आपको हमारी पोस्ट Shilajit Khane Se Kya Hota Hai और Shilajit Khane Ke Fayde पसंद आई होगी.

अगर आपको हमारा यह Article पसंद आया तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर करें और अगर इस Article से जुड़ा कोई सवाल हो तो उसे नीचे दिए Comment Box में पूछ सकते हैं.

Author:

Hello!! दोस्तों मेरा नाम Deepa है. मैं lipibaddh.com की Writer हूँ. मुझे हिंदी में Medicines से जुड़े Blogs लिखना पसंद है. मैं इन Blogs की मदद से आप तक सभी अगल-अलग Medicines और Home Remedies की जानकारी पहुंचाना चाहती हूँ. मेरा आपसे निवेदन है की आप इसी तरह मेरा सहयोग देते रहें और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों के साथ मेरे लिखे Content को शेयर करें. मैं आप सभी के लिए Latest जानकारियाँ उपलब्ध करवाती रहूँगी.

Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *