Kutte के काटने पर क्या करें, जाने कुत्ते के काटने के बाद के #7 लक्षण

| | 2 Minutes Read

आज हम आपको इस Article की मदद से बताएंगे Kutte Ke Katne Par Kya Kare और Kutte Ke Katne Ke Bad Ke Lakshan.

साथ ही हम आपको कुत्ते के काटने से जुड़े और भी सवालों के जवाब देंगे. जैसे कि पागल कुत्तों की पहचान कैसे करें, कुत्ते के काटने पर क्या करना चाहिए, पालतू कुत्ते के काटने पर क्या करें, कुत्ता काटने की दवा जड़ी बूटी इत्यादि की पूरी जानकारी विस्तार में जानेंगे.

Kutte Ke Katne Par Kya Kare

कुत्ते के काटने पर यदि काटे हुए स्थान पर घाव नहीं है. तो उस हिस्से को सबसे पहले गर्म पानी और साबुन की मदद से धोएं. आप Precaution के लिए घाव में Antibacterial Lotion भी लगा सकते हैं. इसके अलावा यदि काटने के बाद वहां जख्म ज्यादा है. तो उसे पहले धोकर साफ करें.

इसके बाद जख्म पर कोई Antiseptic दवाई लगाएं. या हो सके तो उसे तुरंत Rabies Injection के लिए अस्पताल लेकर जाए.

पागल कुत्तों की पहचान कैसे करें

पागल कुत्तों की पहचान करने के लिए आप कुत्ते के असामान्य व्यवहार से जान सकते है, कि कुत्ते की मानसिक स्थिति कैसी है. इसके साथ ही जब वह किसी इंसान या वस्तु को काटने के लिए दौड़े तो आप समझ सकते हैं, कि कुत्ता पागल हो चूका है. 

आप कुत्ते की आवाज में हुए परिवर्तन, मुंह से लार टपकना, निचले जबड़े का लटक जाना इत्यादि से कुत्ते की मानसिक स्थिति का पता कर सकते हैं. की वह पहले से ठीक है या नहीं है.

कुत्ते के काटने पर क्या करना चाहिए

कुत्ते के काटने पर सबसे पहले घाव को नल की धार के नीचे रखकर साबुन या Detergent से कम से कम 10 मिनट तक धोना चाहिए. इसके बाद जख्मी को तुरंत किसी नजदीकी अस्पताल में ले जाकर Anti-Rabies Vaccine लगवाना जरूरी है.

नोट:  घाव पर पट्टी या टांके न लगवाएं उसे खुला रहने दें. साथ ही जख्मी को Tetanus का टीका या Antibiotics Injection आवश्यक लगवाएं.

क्या नही करना चाहिए

1. बिना टीका लगे हुए कुत्तों को घर पर नहीं रखना चाहिए.

2. गली या फिर सड़क के अनजान कुत्तों से छेड़छाड़ नहीं करना चाहिए.

3. छोटे बच्चों को कुत्तों से दूर रखना चाहिए.

4. कुत्ते के काटने पर Anti Rabies की पूरी डोज लगवाना जरूरी है.

5. नीम हकीमों व झाड़फूंक के चक्कर में कभी न पड़ें, अच्छे इलाज के लिए डॉक्टर की सलाह जरूर लें.

6. Tetanus की तरह रेबीज के इंजेक्शन भी बचाव के लिए बहुत जरूरी होता है.

कुत्ते के काटने के बाद लक्षण

1. कमजोरी और थकान महसूस होना

2. बेचैनी या बुखार जैसा लगना 

3. सिर में अचानक से दर्द होना 

4. घाव में चुभन या Sensation महसूस होना

5. उत्तेजना और घबराहट होना

6. जोड़ो और मांसपेशियों में दर्द होना

7. भूख न लगने की शिकायत 

पालतू कुत्ते के काटने पर इंजेक्शन लगवाना चाहिए

पालतू कुत्ते के गहरे काटने पर आपको एंटी-रेबीज Injection जरूर लगवाना चाहिए. इसके काटने पर 3 टीके लगते है. पहला टीका कुत्ते के काटने के 1 दिन बाद और दूसरा टीका 3 दिन बाद, तीसरा टीका 7 दिन बाद लगाया जाता है.

पालतू कुत्ते के काटने पर क्या करें

1. पालतू कुत्ते के काटने पर सबसे पहले घाव को साबुन से धोकर साफ़ करें.

2. साबुन से घाव धोते समय हल्के गर्म पानी को 5 से 10 मिनट तक घाव में डालते रहें.

3. अब एक साफ कपड़े से Bleeding को रोकने की कोशिश करें.

4. अगर आपके पास Antibiotic Cream है. तो उसे घाव पर लगाएं.

5. फिर घाव को Sterile Bandage या साफ पट्टी से अच्छी तरह से लपेट दें.

6. इसके बाद नजदीक के अस्पताल जाकर डॉक्टर को दिखाएं.

7. घाव की जांच हो जाने पर पट्टी को दिन में 1 या 3 बार जरूर से बदलें.

कुत्ता काटने पर क्या लगाना चाहिए

कुत्ता काटने पर सबसे पहले जख्म को अच्छे से धोकर साफ करना चाहिए. आप घाव को Antiseptic घोल से भी साफ कर सकते हैं.  इसके बाद घाव पर Antibiotic मरहम लगाना चाहिए. ध्यान रहें आपको समय पर Anti-Rabies या फिर Anti-Tetanus का इंजेक्शन लगवाना जरूरी है. क्योंकि देर होने पर घाव का संक्रमण शरीर को नुकसान पहुंचाता है.

कुत्ता काटने की दवा जड़ी बूटी

कुत्ता काटने पर आप 10 से 15 दाने काली मिर्च, 2 चम्मच जीरा को पानी में मिलाकर अच्छे पीस लें. इसके बाद तैयार पेस्ट को घाव की जगह पर लगा लें. ऐसा करने से कुछ दिनों में आपको आराम मिल जाएगा. आप लाल मिर्च को सरसों के तेल में मिलाकर कुत्ते के काटे हुए स्थान पर लगाएं.

इससे भी आपको जल्दी आराम मिल सकता है. क्योंकि लाल मिर्च में Antibacterial गुण पाएं जाते है जो जहर को बाहर खींच लेता हैं.

कुत्ते का काटना शुभ या अशुभ

कुत्ते का काटना अशुभ होता है.

कुत्ते के काटने पर क्या नहीं खाना चाहिए

कुत्ते के काटने पर पीड़ित व्यक्ति को टमाटर, इमली, मसालेदार खाना, आलू, दूध, धनिया, दाल, मांस, बैगन, कटहल, कद्दू इत्यादि खाना नहीं चाहिए.

आशा करते हैं आपको Article Kutte Ke Katne Par Kya Kare और Kutte Ke Katne Ke Bad Ke Lakshan पोस्ट पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें. अगर आपके मन में कोई सवाल है तो आप Comment करके पूछ सकते हैं.

Author:

Hello!! दोस्तों मेरा नाम Shalini है. मैं lipibaddh.com की Writer हूँ. मुझे हिंदी में Health और Drinks Blogs लिखना पसंद है. मैं इन Blogs की मदद से आप तक सभी अगल-अलग Drinks और Health से जुड़ी जानकारी पहुंचाना चाहती हूँ. मेरा आपसे निवेदन है की आप इसी तरह मेरा सहयोग देते रहें और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों के साथ मेरे लिखे Content को शेयर करें. मैं आप सभी के लिए Latest जानकारियाँ उपलब्ध करवाती रहूँगी.

Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *