Periods क्या होता है, पीरियड्स आने के लक्षण, लाने के उपाय

| | 3 Minutes Read

इस पोस्ट में हम जानेंगे Periods Kya Hote Hai और Periods Aane Ke Lakshan.

साथ ही जानेंगे Periods में क्या होता है Periods आने की सही उम्र, Periods लाने के Tablet और Periods कितने दिन रहता है इत्यादि की पूरी जानकारी विस्तार में जानेंगे.

Periods Kya Hote Hai

पीरियड्स महिलाओं के जीवन की एक प्राकृतिक प्रकृति है. इसका उद्देश्य महिलाओं के शरीर से पूरा होने वाले अंडाशय की लाइनिंग को निकालने में मदद करना होता है. ये महिलाओं के शरीर से हर महीने में एक बार निकलता है. पीरियड्स, महीने में एक बार आने वाले मासिक धर्म चक्र का हिस्सा है.

हर महिला की मासिक धर्म चक्र का दिन अलग-अलग होता है. आम तौर पर ये 28 से 32 दिन की होती है. Periods के दौरान, Endometrium की परत में से खून और Tissue निकलता है. कई महिलाओं को Periods से कुछ दिन पहले PMS के लक्षण जैसे मूड में बदलाव, पेट में दर्द, ज्यादा भूख लगना और थकन का अनुभव होता है.

पीरियड्स के दौरान महिलाओं को साफ सुथरी सुरक्षा की आवश्यकता होती है. इसके लिए सेनेटरी नैपकिन, टैम्पोन, मासिक धर्म कप, या कपड़े के पैड का उपयोग किया जा सकता है. ये समान अवधि के समय अस्पष्टता को रोकता है.

कुछ महिलाओं को पीरियड्स के दौरान भारी रक्तस्राव (Menorrhagia), दर्दनाक पीरियड्स (Hardship) या अनियमित पीरियड्स का सामना करना पड़ता है. अगर आपको ऐसा लगता है, तो आप डॉक्टर की सलाह से उपचार करवा सकते हैं.

Period Ke Bare Mei Jankari

Periods, एक महिला के जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा है. इसका मुख्य कार्य गर्भाशय की दीवारों को अंदरूनी तरीके से साफ़ करना और फिर से बनाने का होता है. Periods की आवधि प्रत्येक महिला के लिए अलग होती है. आमतौर पर यह 3 से 7 दिनों तक रहता है. इसकी Cycle 28 से 32 दिनों की होती है.

Periods के दौरान, गर्भाशय की दीवारों से Blood Tissues का संचय होता है. यह Bleeding लाल रंग की होती है. कभी-कभी इसका रंग Dark Brown भी हो सकता है. Periods के दौरान कुछ महिलाओं को दर्द का सामना करना पड़ता है. जैसे कि: पेट में दर्द, पेट की तकलीफ, मूड स्विंग्स, थकान इत्यादि.

Periods का आरंभ आमतौर पर 12 से 14 वर्ष की आयु में होता है. यह व्यक्तिगत होता है और कुछ महिलाओं को इससे पहले या बाद में हो सकता है. Periods का बंद होना प्रेग्नेंसी का सबसे पहला संकेत होता है. इसके बाद गर्भावस्था के दौरान Periods नहीं आता है.

Note: कुछ महिलाओं में 24 से 35 दिन की आवधि पर Periods आता है.

Periods Aane Ke Lakshan

1. पीरियड्स आने से पहले और दौरन पेट में दर्द (मासिक धर्म में ऐंठन) होना आम बात है. ये दर्द किसी-किसी महिलाओ के लिए हल्का होता है, जब किसी के लिए गंभीर भी हो सकता है.

2. कुछ महिलाएँ पीरियड्स के आने से पहले वर्षों में सुजान और दर्द का अनुभव करती हैं.

3. हार्मोनल बदलाव के कारण कुछ महिलाएं पीरियड्स के दौरान मूड में बदलाव का अनुभव करती हैं. ये डिप्रेशन, चिड़चिड़ापन, या उदासी के रूप में हो सकते हैं.

4. कुछ महिला पीरियड्स के आने से पहले पेट का फूलना और असहज महसूस करना महसूस करती हैं.

5. कुछ महिलाएँ पीरियड्स के समय मुँहासे और त्वचा संबंधी समस्याओं का सामना करती हैं. हार्मोनल बदलाव के कारण त्वचा पर ब्रेकआउट हो सकते हैं.

6. कुछ महिला पीरियड्स के आने से पहले या दौरन सिरदर्द का अनुभव करती हैं.

7. हार्मोनल बदलाव और खून की कमी के कारण, कुछ महिलाओं को पीरियड्स के दौरान थकान और थकान का अनुभव होता है.

8. कुछ महिलाएँ पीरियड्स के आने से पहले या दौरन भूख में बदलाव महसूस करती हैं, और उन्हें कुछ विशेष चीज़ खाने की इच्छा होती है.

9. पीरियड्स के आने से पहले, महिलाएं अक्सर एक सामान्य योनि स्राव का अनुभव करती हैं. ये डिस्चार्ज क्लियर है या व्हाइट होता है.

10. हार्मोनल बदलाव के कारण कुछ महिलाएं पीरियड्स के समय इमोशनल हो सकती हैं. इसमें गुस्सा, उदासी, या खुशी का अनुभव हो सकता है.

Periods Aane Ki Sahi Umar

महिलाओ के पीरियड्स आने की सही उम्र व्यक्तिगत रूप से अलग-अलग होती है और किसी एक नियम या मानक उमर को ना माना जा सकता है. आमतौर पर, महिलाओं में पीरियड्स आने की उम्र 8 से 16 साल के बीच होती है. ये प्रक्रिया मेनार्चे के रूप में जानी जाती है. मेनार्चे एक महिला के जीवन का महत्वपूर्ण लक्ष्य है और ये इसका प्रारम्भ होता है.

कुछ महिलाएं 8 साल की उमर से ही पीरियड्स के लक्षण दिखने लगती हैं, जबकी कुछ और महिलाएं 16 साल की उम्र से ही अधिक उम्र में पीरियड्स की शुरूआत देखती हैं. ये समय व्यक्तिगत स्वास्थ्य, आनुवंशिकी, और महिला के शरीर के विकास पर निर्भर करता है.

हार्मोनल बदलाव, शरीर के विकास की रफ्तार, आहार, और कुछ अन्य कारण पीरियड्स की शुरुआत पर प्रभाव डालते हैं. जिस समय एक महिला के पीरियड्स शुरू होते हैं, उस समय से लेकर मेनोपॉज तक, उनका मासिक धर्म चक्र चलता रहता है.

यदि आपके समय पर पीरियड्स शुरू नहीं होते हैं या आपके पीरियड्स के पैटर्न में कुछ समानताएं हैं, तो आपको एक स्त्री रोग विशेषज्ञ या डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए. उनका सलाह ग्रहकों की स्थिति का मूल्यांकन करने में मदद मिलती है और कोई भी स्वास्थ्य समस्या को समाधान करने में मदद करता है.

Period Jaldi Lane Ke Liye Exercise

  • भद्रासन
  • धनुरासन
  • वज्रासन
Period Late Ho to Kya Kare
  • ज्यादा कसरत ना करें.
  • अपने Harmons को नियंत्रित रखें.
  • आयरन युक्त पदार्थों का सेवन करें.
  • गर्भ निरोधक गोलियों का उपयोग करने से बचें.

Period Time Par Kaise Laye

  • संतुलित एवं पौष्टिक भोजन का उपयोग करें.
  • आयरन युक्त चीजों का अधिक उपयोग करें.
  • ज्यादा तनाव व चिंता से दूर रहे.
  • पर्याप्त व सही समय पर नींद ले.
  • भारी Exercises ना करें.
Period Ruk-Ruk Ke Aana
  • वजन बढ़ने के कारण.
  • बढ़ती उम्र के कारण.
  • Pregnancy के कारण.
  • अत्यधिक तनाव के कारण.
  • पर्याप्त नींद न लेने के कारण.
  • खून की कमी होने के कारण.
  • अधिक Exercise करने के कारण.
Period Aane Ki Tablet

Medroxyprogesterone tablet का उपयोग Periods जो रुक चुके है या लम्बे समय से नही आये है, उनका इलाज करने के लिये किया जाता है.

उम्मीद करते हैं आपको हमारी पोस्ट Periods Kya Hote Hai और Periods Jaldi Lane Ke Upay पसंद आई होगी.

अगर आपको हमारा यह Article पसंद आया तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर करें और अगर इस Article से जुड़ा कोई सवाल हो तो उसे नीचे दिए Comment Box में पूछ सकते हैं.

Author:

Hello!! दोस्तों मेरा नाम Shalini है. मैं lipibaddh.com की Writer हूँ. मुझे हिंदी में Health और Drinks Blogs लिखना पसंद है. मैं इन Blogs की मदद से आप तक सभी अगल-अलग Drinks और Health से जुड़ी जानकारी पहुंचाना चाहती हूँ. मेरा आपसे निवेदन है की आप इसी तरह मेरा सहयोग देते रहें और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों के साथ मेरे लिखे Content को शेयर करें. मैं आप सभी के लिए Latest जानकारियाँ उपलब्ध करवाती रहूँगी.

Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *