Potassium की कमी से क्या होता है – कमी के लक्षण, कारण और कैसे दूर करें

इस पोस्ट में हम जानेंगे की Potassium Ki Kami Se Kya Hota Hai और Potassium Ki Kami Ke Lakshan साथ ही जानेंगे पोटैशियम की कमी के कारण क्या है और इसकी कमी को कैसे दूर करे. 

Potassium Ki Kami Se Kya Hota Hai और Potassium Ki Kami Ke Lakshan 

साथ ही पोस्ट में जानेंगे पोटैशियम क्या होता है, किसमें पाया जाता है और क्या काम करता है. इन सब के बारे में इस पोस्ट में विस्तार से जानेंगे.

Potassium Kya Hota Hai

पोटेशियम एक प्रकार का रासायनिक तत्व होता है, जिसे सामान्य रूप से K से प्रदर्शित किया जाता है. अगर आवर्त सारणी के अनुसार देखा जाए तो पोटेशियम की परमाणु संख्या 19 एवं इसकी संयोजकता 1 होती है.

पोटेशियम हमारे शरीर के लिए एक महत्वपूर्ण मिनरल और इलेक्ट्रोलाइट होता है. जिसकी पर्याप्त मात्रा शरीर के लिए जरूरी होती है इसकी मात्रा में कमी होने पर हमें कई तरह की बीमारियां हो सकती हैं.

पोटेशियम हमारी मांसपेशियों एवं तंत्रिकाओं के लिए बहुत उपयोगी होता है. यह शरीर में रक्तचाप को नियंत्रित करता है एवं पानी का संतुलन बनाने में भी सहायता प्रदान करता है.

Potassium Kaisa Hota Hai

पोटेशियम एक रासायनिक तत्व है जिसका संकेत K है. आवर्त सारणी के S-Block का तत्व है. जिस की परमाणु संख्या 19 होती है. पोटेशियम नीलिमा लिए चमकदार सफेद धातु होती है, जो सामान्य ताप पर बहुत ही नरम होती है जिसे चाकू से आसानी से काटा जा सकता है.

Potassium Ki Khoj Kisne Ki

पोटेशियम की खोज 1807 में अंग्रेजी रसायनज्ञ सर Humphry Davy ने की थी. यह खोज इंग्लैंड में की गई थी. पोटेशियम पहली धातु थी जिसे विद्युत अपघटन द्वारा पृथक किया गया था. पोटेशियम की खोज करने के कुछ महीनों के बाद ही Davy ने सोडियम को पृथक करने हेतु इस विधि का प्रयोग किया था.

Potassium Ke Strot

हमारे शरीर में पोटेशियम की पूर्ति के लिए कई फलों एवं सब्जियों का उपयोग किया जा सकता है. फलों में अनार, केला, संतरा, तरबूज, खजूर, नाशपाती आदि और सब्जियों में टमाटर, आलू, बैंगन, कद्दू, गाजर, मटर और अन्य हरे पत्तेदार सब्जियां आदि पोटेशियम के प्रमुख स्त्रोत होते हैं. इसके अतिरिक्त किशमिश, दही, दूध में भी पोटेशियम की पर्याप्त मात्रा होती है.

Potassium Kisme Paya Jata Hai

पोटेशियम मुख्य रूप से निम्न तत्वों में पाया जाता है:-

  • फलों में:-

केला, खरबूजा, सेब, कीवी, बेर, खुबानी, नाशपाती, तरबूज, संतरा आदि.

  • सब्जियों में:-

टमाटर, आलू, पालक, खीरा, बैंगन, कद्दू, गाजर, शकरकंद, मटर  आदि.

  • अन्य खाद्य पदार्थों में:-

मछली, दूध, दही, मशरूम, सोया आदि.

Potassium Kya Kaam Karta Hai

पोटेशियम हमारे शरीर के लिए एक बहुत ही आवश्यक खनिज होता है. इसकी कमी से स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हो सकती हैं. पोटेशियम मांसपेशियों को विकसित करने और शरीर में पानी का संतुलन बनाए रखने में सहायक होता है.

साथ ही यह तंत्रिकाओं को स्वस्थ रूप से काम करने में भी मदद करता है. पोटेशियम हमारे शरीर में थकावट को दूर करता है एवं रक्तचाप को नियंत्रित करता है.

Potassium Ki Kami Se Kya Hota Hai

पोटेशियम हमारे शरीर को स्वस्थ रखने के लिए एक महत्वपूर्ण तत्व होता है, इसका शरीर में पर्याप्त मात्रा में होना जरूरी है. अगर ऐसा नहीं होता है तो इससे हमारे शरीर को नुकसान होता है.

पोटेशियम की कमी से होने वाले नुकसान:-

  • भूख नहीं लगती.
  • रक्तचाप बढ़ जाता है.
  • त्वचा रूखी हो जाती है.
  • हड्डियां नाजुक हो जाती है.
  • हाइपरटेंशन का जोखिम बढ़ जाता है.
  • दिल की धड़कन अनियमित हो जाती है.
  • मांसपेशियों में ऐंठन हो जाती है और वह कमजोर महसूस होती है.
  • पोटेशियम की कमी होने से पेट में एसिड की मात्रा बढ़ जाती है जिसके कारण शरीर सुस्त एवं कमजोर हो जाता है.

Potassium Ki Kami Ke Lakshan

पोटेशियम की कमी होने पर शरीर में निम्न लक्षण दिखाई देते हैं:-

  • पाचन संबंधी समस्याएं होने लगती है, जैसे कब्ज, पेट फूलना आदि.
  • शरीर में थकावट एवं कमजोरी लगने लगती है.
  • मांसपेशियों में ऐंठन की समस्या दिखाई देती है.
  • कुछ लोगों को हाथ-पैर हिलाने में पीड़ा होती है.
  • सांस लेने में परेशानी होने लगती है.
  • पैर सुन्न हो जाते हैं.

Potassium Ki Kami Ke Karan

पोटेशियम की कमी के कारण:- 

  • किडनी शरीर में पोटेशियम का विनिमय करने के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है इसलिए अगर किडनी संबंधित कोई भी बीमारी होती है तो इसका सीधा प्रभाव पोटेशियम के स्तर पर पड़ता है.
  • अधिक मात्रा में उल्टी-दस्त का होना भी पोटेशियम की कमी का कारण है.
  • शरीर में पानी की मात्रा कम होने के कारण.
  • कुछ एंटीबायोटिक दवाइयों के कारण.
Potassium Ki Kami Kaise Dur Kare

शरीर में पोटेशियम की कमी होने से व्यक्ति को कई तरह के नुकसान देखने पड़ते हैं क्योंकि पोटेशियम शरीर के लिए एक आवश्यक तत्व होता है. इसकी कमी होने पर शरीर की कई क्रियाओं में इसका प्रभाव दिखाई देता है. पोटेशियम की कमी होने पर हमें उन खाद्य पदार्थों का उपयोग करना चाहिए जिनमें पोटेशियम पर्याप्त मात्रा में होता है.

केला, बादाम, मूंगफली, संतरा, एवोकाडो, हरी पत्तेदार सब्जियां, अंगूर, आलू, खजूर, शकरकंद, दही, टमाटर, दूध आदि ऐसे तत्व है जिनमें पोटेशियम पर्याप्त मात्रा में होता है. इसलिए शरीर में पोटेशियम की कमी होने पर इन तत्वों का उपयोग किया जा सकता है.

पोटेशियम की दवा

पोटेशियम शरीर को स्वस्थ रखने के लिए एक महत्वपूर्ण तत्व होता है. इसलिए इसकी मात्रा शरीर में नियंत्रित होना चाहिए ना ही इसकी मात्रा ज्यादा होना चाहिए और ना ही कम होना चाहिए.

अगर शरीर में पोटेशियम की मात्रा कम है या फिर पोटेशियम की मात्रा ज्यादा है तो दोनों स्थितियों में से किसी के भी लक्षण दिखाई देने पर सर्वप्रथम चिकित्सक से सलाह ले इसके स्थान पर अपनी मर्जी से कोई भी दवाई ना ले कर आये.

उनकी परामर्श के बाद ही किसी दवाई का उपयोग करे. क्योंकिं कभी -कभी लक्षण सामान्य होते है और हम उन्हें शरीर में पोटेशियम की कमी या अधिकता के लक्षण समझ लेते है. सामान्य रूप से कई चिकित्सकों द्वारा Oral Potassium Pills Prescribe की जाती है.

Potassium Yukt Khadya Padarth

पोटेशियम युक्त खाद्य पदार्थ:- मांस, मछली, संतरा, Strawberry, अखरोट, आलू, खीरा, गोभी, बैंगन, टमाटर, पालक, हल्दी, शिमला मिर्च, बींस, एवोकाडो, केला, Dried Fruits(Raisins, Apricots), नारियल पानी, दही, बादाम आदि.

उम्मीद करते है आपको हमारी यह पोस्ट Potassium Ki Kami Se Kya Hota Hai और Potassium Ki Kami Ke Lakshan पसंद आई होगी.

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर कर दीजिए और इस आर्टिकल से जुड़ा कोई भी सवाल हो तो उसे आप नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर के पूछ सकते हैं.

Questions & Answer:
Kaju Badam Khane Se Kya Hota Hai और काजू खाने का सही तरीका

काजू बादाम खाने से क्या होता है – तरीका, फायदे और नुकसान, दूध, सही समय

Kya Kaise
Machis Ka Avishkar Kisne Kiya और Machis Kaise Banti Hai

Machis का आविष्कार किसने किया – माचिस कैसे बनती है

Avishkar
Nabhi Mein Tel Lagane Se Kya Hota Hai - Nabhi Mei Tel Lgane Ke Fayde or Nuksaan

नाभि में तेल लगाने से क्या होता है – नाभि में तेल लगाने के फायदे और नुक्सान

Health
Author :
प्रिये पाठक, आपका हमारी वेबसाइट Lipibaddh.com पर स्वागत है, इस वेबसाइट का काम लोगों को हिंदी भाषा में देश, विदेश एवं दैनिक जीवन में काम आने वाली जरुरी चीजों के बारे में जानकरी देना है.
Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *