Radio का आविष्कार किसने किया – भारत में रेडियो प्रसारण की शुरुआत कब हुई

आज इस पोस्ट में हम जानेंगे की Radio Ka Avishkar Kisne Kiya और भारत में रेडियो प्रसारण की शुरुआत कब हुई साथ ही जानेंगे की रेडियो क्या होता है और रेडियो के लाभ और हानि बताइये.

Radio Ka Avishkar Kisne Kiya और भारत में रेडियो प्रसारण की शुरुआत कब हुई

साथ ही पोस्ट में जानेंगे की रेडियो का महत्त्व, उपयोग और रेडियो में जॉब कैसे पाए. इन सब के बारे में इस पोस्ट में हम विस्तार से जानेंगे.

Radio Kya Hota Hai

रेडियो एक ऐसा उपकरण होता है जिसकी मदद से आप सूचना का आदान प्रदान एक स्थान से दूर स्थान तक कर सकते है. इनमे सूचनाओं का संचारण रेडियो तरंगो के माध्यम से होता है.

Radio Ka Avishkar Kisne Kiya

रेडियो का आविष्कार का श्रेय Guglielmo Marconi को दिया जाता है. इन्होने दिसंबर 1896 में इसका आविष्कार किया था. गुगलेल्मो मारकोनी इटली के विश्व प्रसिद्ध भौतिक शास्त्री थे

मारकोनी ने अपने अविष्कारों को आगे बढ़ाने के लिए इटली सरकार से डाक-तार के माध्यम से आर्थिक सहायता मांगी थी जिसे इटली सरकार ने देने से मना कर दिया. इस पर वह निराश नहीं हुए, उन्होंने इस पर आगे काम जारी रखने का फैसला किया.

फिर वह 22 वर्ष की उम्र में इंग्लैंड चले गए, जहा उन्होंने 1896-97 के बिच में बेतार के तार से जुड़े हुए कई सफल परिक्षण किये. 1897 में उन्होंने 12 मील तक रेडियो संदेशो को भेजने में सफलता प्राप्त की. वहीं 1899 में उन्होंने 31 मील तक की दुरी तक रेडियो संदेशो को भेजकर कमाल कर दिया. उन्होंने अगले कई वर्षो तक रेडियो के विकास में महत्वपूर्ण कार्य किये.

संचार क्रांति के क्षेत्र के विकास में इनके इस आविष्कार ने महत्वपूर्ण योगदान दिया. इस आविष्कार के लिए उन्हें सन 1909 में भौतिकी नोबेल पुरुस्कार से सम्मानित किया गया था और सन 1930 में रॉयल अकादमी ऑफ़ इटली का अध्यक्ष भी बनाया गया था.

उनके द्वारा बनाये गए उपकरणों द्वारा ही इंग्लैंड में 14 फरवरी 1922 को रेडियो प्रसारण  की सेवा की शुरुवात की गयी. 20 जुलाई 1937 को इन्हे दिल का दौरा पड़ने की वजह से इनका देहांत हो गया था.

भारत में रेडियो प्रसारण की शुरुआत कब हुई

भारत में रेडियो प्रशारण की शुरुवात 1920 के दशक में हो चुकी थी. भारत में रेडियो पर सबसे पहला कार्यक्रम 1923 में मुंबई के रेडियो क्लब से शुरू हुआ था. उसके बाद में मुंबई और कोलकत्ता के दो निजी ट्रांसमीटरों के द्वारा 1927 में रेडियो का प्रशारण किया गया था.

सन 1936 में सरकारी रेडियो स्टेशन की शुरुवात की गयी थी, भारत के आजाद होने के बाद इसे आल इंडिया रेडियो और आकाशवाणी के नाम से जाना जाने लगा. भारत में लगभग 223 रेडियो स्टेशन मौजूद है और सारे रेडियो स्टेशन आकाशवाणी के है.

Radio Ka Upyog

पहले के समय में जब रेडियो का आविष्कार हुआ था तब इसका इस्तेमाल सुचना को बिना तारो के एक जगह से दूसरी जगह भेजने के लिए किया गया था. इसके द्वारा सुचना को बहुत जल्दी पहुंचाया जा सकता था.

धीरे-धीरे समय के साथ इसमें कई तरह के विकास हुए. इसकी दुरी को और बढ़ाने की कोशिश की गयी. फिर इसका उपयोग सुचना के साथ-साथ, खबरों और नाटकों के प्रसारण में भी किया जाने लगा. इसके द्वारा संगीत का भी आनंद लिया जा सकता है.

Radio Ka Mahatva

जब से रेडियो का आविष्कार हुआ था इसने सुचना संचार के क्षेत्र में क्रान्ति ला दी, इस ने मानव जाती को बहुत फायदा पहुंचाया है. रेडियो के द्वारा बिना तारो के एक जगह से दूसरी जगह सुचना भेजना काफी सरल और आसान हो गया था. इसके माध्यम से सुचना भेजने में भी अधिक समय नहीं लगता था.

धीरे-धीरे लगातार रेडियो के कई तरह के परिवर्तन होते रहे और उन्हें और भी बेहतर बनाया गया. पुराने समय में रेडियो का इस्तेमाल खबरों को सुनने के लिए किया जाता था. फिर इस पर गीत-संगीत की शुरुवात भी की गयी. 

रेडियो आज भी काफी जगह इस्तेमाल किया जाता है. दूर दराज के इलाके जहा आज भी संसाधन ठीक से नहीं पहुंचे है वहा भी रेडियो की मौजूदगी होती है. हमारे देश के प्रधान मंत्री भी रेडियो के माध्यम से ही लोगो से “मन की बात” संवाद करते है.

Radio Ke Labh Aur Hani

Radio Ke Labh:

  • रेडियो के माध्यम से सुनने की और समझने की क्षमता का विकास होता है.
  • आप किसी भी जगह रहकर देशभर के समाचार सुन और जान सकते है.
  • रेडियो अन्य संचार के माध्यम से सस्ता होता है.
  • आज रेडियो की जगह-जगह पहुंच है. जिन जगहों पर अभी तक संसाधनों की कमी है वहाँ भी रेडियो की मौजूदगी है.
  • यह मनोरंजन के साथ-साथ शिक्षा के क्षेत्र में भी उपयोगी होता है.

Radio Ke Hani:

  • इसमें सुचना और समाचार को सिर्फ सुना जा सकता है देखा नहीं जा सकता.
  • इसमें सूचनाओं का आदान-प्रदान रेडियो तरंगो के द्वारा होता है इन तरंगो के संचरण में कभी कभी दिक्कते देखने को मिलती है जिससे आप समाचार या अन्य चीजों का आनंद नहीं ले पाते.
  • अगर इन तरंगो के बिच में कोई वस्तु आ जाती है तब भी इनका संचार बाधित हो जाता है.
  • बारिश के मौसम में सिग्नल की परेशानी होती है.
Radio Tarang Kise Kahate Hain

ऐसी विद्युत चुंबकीय तरंगे जिनका तरंग धैर्य 10 सेंटीमीटर से लेकर 100 कि.मी. के बिच होता है, रेडियो तरंगे कहलाती है. ये तरंगे प्राकृतिक भी होती है और कृत्रिम भी हो सकती है. ये तरंगे किसी अन्य रेडियो उपकरण द्वारा पहचानी जाती है.

रेडियो रूपक किसे कहते हैं

रेडियो में मौजूद फीचर्स को रेडियो रूपक कहा जाता है. रेडियो रूपक किसी भी वास्तविकता को बड़े ही नाटकीय ढंग से प्रस्तुत करता है. रेडियो प्रशारण के इस रूप में किसी भी तथ्य और सुचना को बड़े ही रोचक और मनोरंजनपूर्ण ढंग से बताया जाता है. यह एक बहुत ही लोकप्रिय कार्यक्रम है. 

Radio Lekhan Kya Hai

रेडियो लेखन में ध्वनि और शब्दों को ध्यान में रखकर श्रोताओं के अनुकूल सामग्री लिखी जाती है. रेडियो एक ध्वनि संचार का यंत्र है इसलिए इसमें कुछ चीजे लिख कर फिर उसे पढ़ कर सुनाया जाता है. इसे लिखने का तरीका थोड़ा सा अलग होता है.

रेडियो लेखन, श्रोताओ के अनुकूल लेखन करने की एक विधि होती है, जिसमे किसी भी प्रकार का समाचार, सुचना और नाटक आदि हो सकते है.

Radio Me Job Kaise Paye

रेडियो में जॉब पाने के लिए आपको कुछ जरुरी चीजे करना होती है जो इस प्रकार है:

  • रेडियो में जॉब पाने के लिए आपको सबसे पहले किसी भी मान्यता प्राप्त सरकारी संस्थान से 12 वीं पास होना अनिवार्य है.
  • इसके बाद आपको रेडियो से जुड़े कोर्स करने की भी आवश्यकता होती है.
  • किसी मान्यता प्राप्त संसथान से रेडियो के डिग्री और डिप्लोमा कोर्स भी कर सकते है.
  • इसके लिए आपकी इंग्लिश भी अच्छी होना चाहिए.
  • इन सब चीजों के बाद आप किसी भी रेडियो स्टेशन पर जाकर जॉब के लिए आवेदन कर सकते है.
Radio – FAQs 
Radio Ka Avishkar Kisne Kiya Aur Kab Kiya

रेडियो का आविष्कार गुगलेल्मो मारकोनी (Guglielmo Marconi) नामक वैज्ञानिक ने सन 1896 में  किया था.

Radio Ke Bare Mein Bataiye

रेडियो से सम्बंधित सारी जानकारी इस पोस्ट के माध्यम से आपको दी गयी है. इसे आप शुरुवात से समझेंगे तो आसानी होगी.

Radio Ki Sthapna Kab Hui

रेडियो की स्थापना लगभग 1900 के दशक में हुई थी.

Radio Kaisa Madhyam Hai

रेडियो एक ध्वनि और जनसंचार का माध्यम है. इसकी मदद से देश के हर कोने में सुचना भेजी जा सकती है. रेडियो सुचना का माध्यम होता है.

उम्मीद करते है आपको हमारी यह पोस्ट Radio Ka Avishkar Kisne Kiya और भारत में रेडियो प्रसारण की शुरुआत कब हुई पसंद आई होगी.

अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर कर दीजिए और इस पोस्ट से जुड़ा आपका कोई भी सवाल हो तो उसे आप नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर के पूछ सकते हैं.

Questions & Answer:
Period Se Kya Hota Hai और Period Ke Bare Me Jankari

Period से क्या होता है – पीरियड में हलकी ब्लीडिंग होना, उपाय और जानकारी

Health
Anda Aur Kela Khane Se Kya Hota Hai और केला और अंडा खाने के नुकसान

अंडा और केला खाने से क्या होता है – केला और अंडा खाने के नुकसान

Kya Kaise
Wi Fi Se Kya Hota Hai और Wi Fi Ki Range Kitni Hoti Hai 

Wi Fi से क्या होता है – वाईफाई की रेंज कितनी होती है, वाईफाई की खोज किसने की

Internet
Author :
प्रिये पाठक, आपका हमारी वेबसाइट Lipibaddh.com पर स्वागत है, इस वेबसाइट का काम लोगों को हिंदी भाषा में देश, विदेश एवं दैनिक जीवन में काम आने वाली जरुरी चीजों के बारे में जानकरी देना है.
Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *