Rocket का आविष्कार किसने किया, रॉकेट कैसे उड़ता है

| | 3 Minutes Read

इस पोस्ट में हम जानेंगे Rocket Ka Avishkar Kisne Kiya और Rocket Kaise Udta Hai.

साथ ही जानेंगे रॉकेट क्या होता है, रॉकेट से क्या होता है, रॉकेट क्या काम करता है, भारत का पहला रॉकेट कौन सा है इत्यादि की पूरी जानकारी विस्तार में जानेंगे.

Rocket Ka Avishkar Kisne Kiya

रॉकेट का आविष्कार 16 मार्च 1926 को American Professor और वैज्ञानिक Robert Hutchings Goddard ने किया था. यह एक Engineer, Professor, Inventor और Physicist भी थे. इन्होंने में अपनी टीम के साथ मिलकर विश्व को पहला रॉकेट दिया था. Goddard और उनकी टीम ने 1926 से 1941 के बीच कुल 34 Rockets को भेजा था.

ये Rocket तक़रीबन 885 किमी/घंटा की रफ़्तार से उड़े थे. Goddard के पहले इस तरह के यान की कल्पना एक रुसी वैज्ञानिक Konstantin Tsiolkovsky ने की थी. उन्होंने सबसे पहले यह विचार किया की रॉकेट यान की मदद से ही अंतरिक्ष की यात्रा करना Possible है. 

Rocket Kaise Udta Hai

रॉकेट को लांच पैड की सहायता से आकाश की ओर भेजा जाता है. रॉकेट कई चरणों से मिलकर बना होता है, एक रॉकेट को उड़ने के लिए कितने चरण की आवश्यकता होगी, यह उसके Payload के भार पर भी निर्भर करता है. यदि Payload का भार अधिक होता है तो इसके चरण की संख्या भी अधिक हो सकती हैं.

प्रत्येक चरण के लिए अलग-अलग इंजन इस्तेमाल होते है इनकी संख्या एक से अधिक हो सकती है. उदाहरण : एयरोस्पेस कंपनी “Space X” का एक रॉकेट है ‘Space Falcon 9’ इस रॉकेट में दो चरण होते है. इसके पहले चरण में 9 इंजन तो दूसरे चरण में केवल 1 इंजन ही होता है.

रॉकेट लांच के पहले चरण में रॉकेट को धरती के वायुमंडल से बाहर ले जीने का काम होता है क्योकि इसी चरण में वायुमंडल के दाब को झेलते हुए रॉकेट के साथ-साथ पेलोड को वायुमंडल से बाहर ले जाया जाता है. 

पहले चरण का काम ख़तम होने के बाद यह रॉकेट से अलग होकर पैराशूट की मदद से धरती पर वापस आ जाते है जिन्हे फिर से इस्तेमाल किया जा सकता है. पार्ट्स के अलग होने की इस प्रोसेस को स्टेजिंग कहते है. पहला चरण ख़तम होते ही इसका दूसरा चरण का इंजन शुरू हो जाता है और इसी की मदद से रॉकेट अंतरिक्ष में पहुंच जाता है.

Rocket Se Kya Hota Hai

Rocket की मदद से किसी भी Satellite, Object एवं अन्य उपकरणों को पृथ्वी के बाहर अंतरिक्ष में भेजा जाता है. 

Rocket Ki Khoj Kisne Ki

Rocket की कल्पना सबसे पहले रुसी वैज्ञानिक Konstantin Tsiolkovsky ने की थी. परन्तु सबसे पहले उड़ने वाला Rocket Robert Hutchings Goddard ने बनाया था.

रॉकेट में कौन सी गैस भरी जाती है

रॉकेट में तरल Hydrogen का इस्तेमाल किया जाता है.

Rocket Kya Hai

रॉकेट एक तरह का उड़ने वाला यान है जो किसी भी वस्तु, मानव, उपकरण आदि को अंतरिक्ष में ले जाता है.

Rocket Kya Hota Hai

रॉकेट एक तरह का उड़ने वाला वाहन है जो Newton के तीसरे नियम पर काम करता है. इसमें तरल हाइड्रोजन का इस्तेमाल ईंधन के रूप में किया जाता है, जिसकी मदद से रॉकेट पृथ्वी के वायुमंडल को पार कर पाता है.

Rocket Ki Speed Kitni Hoti Hai

रॉकेट की गति Normally 17,500 Kmph तक होती है.

Rocket Kaisa Dikhta Hai

रॉकेट ऊपर से तिकोना होता है और बीच में लम्बा और पतला होता है. यह काफी ऊँचा होता है. इसमें निचे Stand और गैस निकलने के लिए इंजन होता है. 

Rocket Ke Bare Mein Bataiye

रॉकेट से जुड़ी कई तरह की जानकारियाँ इस पोस्ट में दी गयी है. यदि आप इस पोस्ट को पड़ते है तो आपको रॉकेट के बारे में कई जानकारी मिल जाएगी.

Rocket Kya Kaam Karta Hai

रॉकेट किसी भी जीव और अंतरिक्ष उपकरणों को अंतरिक्ष में ले जाने का काम करता है.

भारत का पहला रॉकेट कौन सा है

भारत का पहला स्वदेशी रॉकेट RH-75 था जिसे 20 नवंबर 1967 में लांच किया गया था.

भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम का जनक

भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम का जनक डॉ. विक्रम साराभाई को माना जाता है.

उम्मीद करते है आपको हमारी यह पोस्ट Rocket Ka Avishkar Kisne Kiya और Rocket Kaise Udta Hai पसंद आई होगी.

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर कर दीजिए और इस आर्टिकल से जुड़ा कोई भी सवाल हो तो उसे आप नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर के पूछ सकते हैं.

Author:

Hello!! दोस्तों मेरा नाम Sameer है. मैं lipibaddh.com का Writer हूँ. मुझे हिंदी में Inventions से जुड़ी जानकारी पर Blogs लिखना पसंद है. मैं इन Blogs की मदद से आप तक सभी नए पुराने Inventions/ आविष्कार की जानकारी पहुंचाना चाहता हूँ. मेरा आपसे निवेदन है की आप इसी तरह मेरा सहयोग देते रहें और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों के साथ मेरे लिखे Content को शेयर करें. मैं आप सभी के लिए Latest जानकारियाँ उपलब्ध करवाता रहूँगा.

Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *