Dashamlav की खोज किसने की, दशमलव का मतलब, कार्य

| | 3 Minutes Read

आज इस Article में हम जानेंगे Dashmlav Ki Khoj Kisne Ki और Dashamlav Ka Avishkar Kab Hua Tha.

साथ ही हम जानेंगे कि दशमलव की खोज कहाँ हुई थी, दशमलव कौन सी पद्धति में आती है और इसका क्या महत्व है. इस Article के माध्यम से हम विस्तार में जानेंगे की दशमलव जो की विज्ञान की दुनिया में एक बहुत ही महत्वपूर्ण खोज है उसके इतिहास के बारे में और समझेंगे कि इसका उपयोग कहा और कैसे किया जाता है.

Dashmlav Ki Khoj Kisne Ki

दशमलव का की खोज भारत के महान गणितज्ञ श्री चंद्रशेखर वेंकटरमन जी ने की थी. उसके बाद इसे इस्तेमाल करने की स्वीकृति 28 दिसंबर 1956 में राष्ट्रपति द्वारा दी गई थी.

Dashamlav Ka Avishkar Kisne Kiya Tha

दशमलव का आविष्कार सर्वप्रथम भारत के गणितज्ञ Sir Chandrasekhara Venkata Raman द्वारा किया गया था. उसके बाद 28 दिसंबर 1956 में इसे इस्तेमाल करने की स्वीकृति दी गई थी. इसके बाद दशमलव का उपयोग दुनिया भर में किया जाने लगा. तब से लेकर अज तक Dashamlav का गणित विषय के क्षेत्र का महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है.

Decimal Meaning in Hindi

दशमलव का हिंदी में अर्थ दसवींं पंक्ति का या दसवींं दर्जे का होता है. इससे दर्शाया जाता है कि एक संख्या का भाग और दशमलव का संयोजन करके उसकी अद्वितीय मान निर्धारित कि जा सकती है. दशमलव संख्याओं को अंशिक और अनंशिक प्रणाली में प्रकट करना आसान है. ये संख्याएँ दशमलव के आगे की स्थानीय मान को भी प्रस्तुत करता है.

Who Invented Decimal in India

दशमलव और दशमलव संख्या प्रणाली की धारा का विकास भारत में सबसे पहले हुआ था. विशेषकर वेदिक काल के दौरान प्राचीन गणितज्ञ जैसे कि: आर्यभट्ट, ब्रह्मगुप्त इत्यादि ने भी दशमलव अंशों और स्थानमान नोटेशन की समझ में महत्वपूर्ण योगदान दिया है.

5वीं सदी के प्रसिद्ध भारतीय गणितज्ञ और खगोलशास्त्री आर्यभट्ट ने दशमलव स्थानमान और दशमलव अंशों की धारा की समझ को स्पष्ट किया था. उन्होंने दशमलव अंशों के साथ अंकगणितीय क्रियाओं को करने के तरीके प्रदान किए थे. उन्होंने शून्य का एक प्रतीक प्रस्तुत किया जो दशमलव प्रणाली का महत्वपूर्ण हिस्सा है.

Dashamlav Kya Hai

दशमलव एक गणनात्मक चिह्न या आकर्षण संकेत होता है, जिसका काम संख्याओं की Accuracy को आसानी से व्यक्त करना होता है. यह विशेषकर भारतीय मानक संख्याओं को सरल और Accurate तरीके से प्रस्तुत कराने के लिए उपयोग होता है. दशमलव के तहत संख्याएँ दस (10) के आधार पर होती हैं. उनका प्रतिनिधित्व आकर्षण के साथ होता है.

Dashmlav Kise Kahate Hain

दशमलव एक संख्या प्रणाली जिसमें संख्याओं को दस के आधार पर व्यक्त किया जाता है. इस प्रणाली में 0 से 9 तक कुल दस अंक होते हैं, जिन्हें विभिन्न स्थानों पर रखकर संख्याएँ बनाई जाती हैं. दशमलव प्रणाली हमारे दैनिक जीवन में आम गणना और लेखन में प्रयुक्त होती हैं. जैसे कि: नकदी का मानदंडन, वेतन गणना, समय की गणना आदि.

दशमलव की खोज किसने की

दशमलव का आविष्कार Chandrasekhara Venkata Raman ने किया था.

Shant Dashamlav Kise Kahate Hain

सांत दशमलव वह Rational Numbers होते हैं जिनका भाग देने पर शेषफल शून्य आता है.

Dashamlav Kise Kahate Hain

दशमलव उस बिंदु को कहा जाता है जिसे हम गणित की संख्याओं को अंकित करने के उपयोग में लेते हैं.

Dashamlav Ki Khoj Kisne Ki Thi

दशमलव की खोज चंद्रशेखर वेंकट रमन ने की थी.

दशमलव का आविष्कार किसने किया

दशमलव का अविष्कार चंद्रशेखर वेंकट रमण द्वारा किया गया था.

उम्मीद करते हैं आपको हमारी पोस्ट Dashmlav Ki Khoj Kisne Ki और Dashmlav Ka Avishkar Kab Hua पसंद आई होगी.

अगर आपको हमारा यह Article पसंद आया तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर करें और अगर इस Article से जुड़ा कोई सवाल हो तो उसे नीचे दिए Comment Box में पूछ सकते हैं.

Author:

Hello!! दोस्तों मेरा नाम Sameer है. मैं lipibaddh.com का Writer हूँ. मुझे हिंदी में Inventions से जुड़ी जानकारी पर Blogs लिखना पसंद है. मैं इन Blogs की मदद से आप तक सभी नए पुराने Inventions/ आविष्कार की जानकारी पहुंचाना चाहता हूँ. मेरा आपसे निवेदन है की आप इसी तरह मेरा सहयोग देते रहें और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों के साथ मेरे लिखे Content को शेयर करें. मैं आप सभी के लिए Latest जानकारियाँ उपलब्ध करवाता रहूँगा.

Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *