Calendar का आविष्कार किसने किया, कलैंडर के प्रकार, Date

| | 2 Minutes Read

इस पोस्ट में हम जानेंगे Calendar Ka Avishkar Kisne Kiya और Calendar Ki Khoj Kisne Ki.

साथ ही जानेंगे कैलेंडर की शुरुवात कब हुई, अंग्रेजी Calendar का इतिहास, Calendar कितने प्रकार के होते है, कैलेंडर क्या होता है इत्यादि की पूरी जानकारी विस्तार में जानेंगे.

Calendar Ka Avishkar Kisne Kiya

Christmas को एक दिन तय करने के लिए 15 अक्‍टूबर 1582 को अमेरिका के Aloysis Lilius ने Gregorian कैलेंडर शुरू किया था. इस कैलेंडर के हिसाब से जनवरी साल का पहला महीना है और साल का अंत दिसंबर में Christmas के गुजरने के बाद होता है.

विविध समय और तिथियों की प्रबंधन के लिए कैलेंडर का आविष्कार अनेक सभ्यताओं द्वारा किया गया है. इसका उपयोग समय की गणना, महत्वपूर्ण तिथियों के स्मरण और आवधियों की प्रबंधन के लिए होता है. कैलेंडर के आविष्कार के साथ-साथ कई व्यक्तियों और समूहों ने यह सिस्टम सुधारा और विकसित किया है.

यह विविध संस्कृतियों और सामाजिक परियोजनाओं के अनुसार अलग-अलग तरीकों से आविष्कृत होता गया और विश्वभर में विभिन्न प्रकार के कैलेंडर प्रचलित है.

आधुनिक ग्रेगोरियन कैलेंडर, जिसका उपयोग आजकल अधिकतर दुनिया में होता है. पोप ग्रेगोरी के द्वारा 1582 में प्रमुख बदलावों के साथ आविष्कृत किया गया था. यह कैलेंडर पहले जुलियन कैलेंडर के सिस्टम पर आधारित था, लेकिन उसमें सत्रहवीं शताब्दी के बाद होने वाले तारीखीन त्रुटियों को सुधारने के लिए कई सुधार किए गए थे.

कैलेंडर के विकास में कई सामाजिक, धार्मिक और वैज्ञानिक प्रतिष्ठित व्यक्तियों का योगदान रहा है.

Calendar Ki Khoj Kisne Ki

विभिन्न समाजों और सभ्यताओं ने अपने-अपने आवश्यकताओं के अनुसार विभिन्न प्रकार के कैलेंडर विकसित किए हैं, लेकिन एक विशिष्ट व्यक्ति की तरह कैलेंडर की खोज नहीं हुई है. कैलेंडर का विकास विभिन्न समयों में विभिन्न सांस्कृतिक और वैज्ञानिक आवश्यकताओं के आधार पर हुआ है.

विभिन्न समयों में विभिन्न सभ्यताएँ कैलेंडर का उपयोग अपने वैज्ञानिक, धार्मिक, और सामाजिक आयोजनों के लिए करती आई हैं. उदाहरण स्वरूप, ईसा मसीह के जन्म के आधार पर ईसवी सन कैलेंडर विकसित हुआ, हिब्रू कैलेंडर धार्मिक आयोजनों के लिए प्रयुक्त होता है, और हिजरी कैलेंडर इस्लामिक समुदाय के लिए उपयुक्त होता है.

कैलेंडर की खोज कई सभ्यताओं के वैज्ञानिक और धार्मिक ज्ञान के परिणामस्वरूप हुई है और विभिन्न समयों में उसका विकास हुआ है. इसलिए, Calendar की खोज किसी विशिष्ट व्यक्ति के नाम से जुड़ी नहीं होती है, बल्कि यह समृद्ध इतिहास, विज्ञान, और संस्कृति के आदान-प्रदान से जुड़ी है.

Date Ka Avishkar Kisne Kiya

तिथियों और समय की प्रबंधन के लिए तिथि का आविष्कार किसी विशिष्ट व्यक्ति द्वारा नहीं किया गया है. तिथि की प्रणालियों का विकास विभिन्न समयों में विभिन्न समुदायों और सभ्यताओं के आधार पर हुआ है.

तिथियों के आविष्कार और प्रबंधन में प्राचीन समयों से ही विभिन्न सभ्यताएँ शामिल हैं, जो अपने वैज्ञानिक, धार्मिक, और समाजिक आयोजनों के लिए तिथियों का उपयोग करती थीं. उन्होंने चांद्रमा की चाल का अध्ययन किया और उसके आधार पर तिथियों का निर्धारण किया.

विभिन्न समयों में विभिन्न सभ्यताएँ तिथियों के आधार पर अपने आयोजनों को प्रबंधित करने के तरीके विकसित करती आई हैं. उदाहरण स्वरूप, Hebrew Calendar में तिथियों का महत्वपूर्ण योगदान है, जिन्हें धार्मिक आयोजनों के आधार पर प्रबंधित किया जाता है.

तिथियों की प्रबंधन का आविष्कार विभिन्न व्यक्तियों और समुदायों द्वारा हुआ है, और उसका विकास समय के साथ हुआ है.

Date Ka Matlab Kya Hota Hai

“Date” शब्द का मतलब होता है विशिष्ट दिन, माह, और वर्ष का संकेत जिससे किसी घटना, समय, या आयोजन की पहचान की जाती है. यह दिन की संख्या, महीने का नाम, और वर्ष के संख्यात्मक रूप में प्रकट किया जा सकता है.

उपयोगानुगुण, “DATE” शब्द साल, माह, और दिन का संकेत करता है, जिससे हम विभिन्न घटनाओं, आयोजनों, और समय अंतरालों की पहचान कर सकते हैं. तिथि का प्रयोग लोगों की दैनिक जीवन में आयोजनों की योजना बनाने, स्थितिगतीकरण करने, और कार्यों को अनुकूलित करने के लिए किया जाता है.

कैलेंडर कितने प्रकार के होते हैं

कैलेंडर कई तरह के होते है जिसमे अकेले भारत में ही कई तरह के कैलेंडर जैसे हिन्दू पंचांग, बंगाली, उर्दू, इंग्लिश कैलेंडर आदि है. पुरे विश्व में लगभग 50 तरह के कैलेंडर होंगे.

सबसे पुराना कैलेंडर कौन सा है

विश्व का सबसे पुराना कैलेंडर ग्रिगेरियन कैलेंडर है, जिसकी शुरुवात लगभग 1582 में हुई थी. यह कैलेंडर सूर्य चक्र पर आधारित था.

उम्मीद करते हैं आपको हमारी पोस्ट Calendar Ka Avishkar Kisne Kiya और Date Ka Avishkar Kisne Kiya पसंद आई होगी.

अगर आपको हमारा यह Article पसंद आया तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर करें और अगर इस Article से जुड़ा कोई सवाल हो तो उसे नीचे दिए Comment Box में पूछ सकते हैं.

Author:

Hello!! दोस्तों मेरा नाम Sameer है. मैं lipibaddh.com का Writer हूँ. मुझे हिंदी में Inventions से जुड़ी जानकारी पर Blogs लिखना पसंद है. मैं इन Blogs की मदद से आप तक सभी नए पुराने Inventions/ आविष्कार की जानकारी पहुंचाना चाहता हूँ. मेरा आपसे निवेदन है की आप इसी तरह मेरा सहयोग देते रहें और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों के साथ मेरे लिखे Content को शेयर करें. मैं आप सभी के लिए Latest जानकारियाँ उपलब्ध करवाता रहूँगा.

Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *