Train का आविष्कार किसने किया – ट्रैन कैसे चलती है, ट्रैन की जानकारी

इस पोस्ट में हम जानेंगे की Train Ka Avishkar Kisne Kiya और Train Kaise Chalti Hai साथ ही जानेंगे ट्रैन कितने प्रकार के होते है और ट्रैन में सीसी का मतलब क्या होता है.

Train Ka Avishkar Kisne Kiya और Train Kaise Chalti Hai

साथ ही पोस्ट में जानेंगे की ट्रैन के बारे में जानकारी और ट्रैन में कंप्लेंट कैसे करे. इन सब के बारे में इस पोस्ट में विस्तार से जानेंगे.

Train Kya Hai

ट्रैन परिवहन का एक साधन होती है जिसकी मदद से यात्रियों और माल को एक जगह से दूसरी जगह तक लाया और लेजाया जा सकता है. यह एक तरह की पहिया गाड़ी होती है जो लोहे की पटरियों पर चलती है.

Train Kise Kahate Hain

ट्रैन कई सारी बोगियों के जोड़ और कई सारे लोहे के पहियों से मिलकर बनी होती है. यह एक सरकारी परिवहन का संसाधन होता है जिसकी मदद से आप सफर कर सकते है.

Train Ka Avishkar Kisne Kiya

ट्रैन का आविष्कार यूके के रहने वाले एक इंजीनियर रिचर्ड त्रेवीथिक (Richard Trevithick) ने किया था. Richard Trevithick ने 21 फरवरी 1804 को सबसे पहले भाप इंजन की मदद से रेल को खींचा था.

हालांकि कुछ ख़ास कारणों की वजह से यह आविष्कार ज्यादा सफलता प्राप्त नहीं कर सका, परन्तु दूसरे कई लोगो को ट्रैन बनाने की इंस्पिरेशन मिली थी.

इसके बाद तो कई इंजीनीयर द्वारा ट्रैन बनाने का प्रयोग किया और 27 सितम्बर 1825 को George Stephenson नामक इंजीनियर ने विश्व की पहली सफल रेल बनायीं.

Train Ki Jankari

ट्रैन एक परिवहन का साधन होता है जो किसी भी इंसान और सामान को एक स्थान से दूसरे स्थान तक लाने और ले जाने के काम में आता है. इसमें कई तरह के कोच लगे होते है जिनमे बहुत सारी सीटे होती है. इसमें स्लीपर, एसी, जनरल, 2S, Ac First Class, EC, 2Ac तरह के कोच होते है.

ट्रेन कितने प्रकार के होते हैं

भारत में 14 तरह की ट्रैन होती है जो निम्न प्रकार है:

  1. Tejas Express
  2. Duronto Express
  3. Rajdhani Express
  4. Shatabdi Express
  5. Gatimaan Express
  6. Garib Rath Express
  7. Monorail
  8. Jan Shatabdi Express
  9. Local Trains
  10. Double-Decker Express
  11. Suburban Railway
  12. Luxury Trains
  13. Metro
  14. Toy Trains

Train Kaise Chalti Hai

ट्रैन लोहे की पटरी पर चलती है यह बात तो आप सभी जानते है पर आपको बता दे ट्रैन के पहिये पटरियों को पकड़ के रखते है जिस वजह से ट्रैन पटरियों पर चल पाती है.

ट्रैन के पहिये पटरी के ऊपर होते है और पटरी उन पहियों के बिच मे, जिससे ट्रैन के पहियों की पकड़ पटरी पर बनी रहती है और उस पर चल पाती है जिस तरह पटरियों की दिशा होगी ट्रैन भी वैसे ही आगे की ओर बढ़ती है.

Train Ka Time

सभी ट्रेन एक टाइम टेबल को फॉलो करती है और उसी के अनुसार स्टेशन पर आती जाती रहती है. सभी स्टेशनो पर सभी ट्रेनों के आने और जाने का समय भिन्न होता है.

आप चाहे तो ट्रैन के नंबर से भी उसका पूरा टाइम टेबल निकाल सकते है इसके लिए आप निचे दी गयी लिंक की मदद ले सकते है : Indian Railway Time Table

कभी कबार कुछ गड़बड़ियों के चलते ट्रैन के समय में थोड़ा परिवर्तन देखने को मिल सकता है. अधिक जानकारी के लिए आप इन्क्वाइरी की मदद ले सकते है.

Train Ki Speed

भारत में कई तरह की ट्रैन है जिनकी स्पीड भी कम ज्यादा होती है. कॉन्वेंशनल रेल 160 km/h से कम की स्पीड से चलती है जबकि सैमी हाई स्पीड रेल 160 से 200 km/h से ज्यादा की गति से चलती है. हाई स्पीड रेल 200 km/h से भी तेज गति से चलती है.

Train Ka Number Kya Hai

हमारे देश में बहुत सारी ट्रेने दौड़ती है जिनके नाम और नंबर भी अलग-अलग होते है. AC Duronto नाम की यह ट्रैन मुंबई सेंट्रल से चलती है तो इंदौर तक जाती है जिसका नंबर (2227/12228) यह है.

इसके अलावा Ujjaini EXP नाम की यह ट्रैन उज्जैन से चलती है तो देहरादून इसका आखिरी स्टेशन होता है इस ट्रैन का नंबर (14309/14310) है.

इसके अलावा आप यहाँ दी गयी वेबसाइट की मदद से सारी ही ट्रैन के नाम, नंबर और उनके चलने की जगह से Last Stop तक देख सकते है.

click here : Train Number and Name with Start Station to Last Station

Train Me 2s Ka Matlab

ट्रैनो में 2S का मतलब Second Seating होता है. यह सबसे निचले स्तर की सीट होती है. सरल शब्दों में ट्रैन में 2S का मतलब जनरल क्लास होता है.

परन्तु जनरल और 2S में सबसे बड़ा अंतर यह होता है की जनरल का टिकट लेने पर आपको सीट नंबर और उसके बारे में नहीं बताया जाता है. वही 2S में आपको जनरल क्लास के डिब्बों में सीट दी जाती है.

Train Me CC Ka Matlab

ट्रैन में CC का मतलब Chair Car होता है. यह Sleeper Class (SL) से ऊपर लेवल के सीट होते है. CC कोच दो प्रकार के होते है पहला Ac Chair Car और दूसरी केवल Chair Car

Train Me RAC Ka Matlab

ट्रैन में RAC का फुल फॉर्म Reservation Against Cancellation होता है. कई बार ऐसा होता है की हम सीट का रिजर्वेशन कराते है पर सीट कन्फर्म नहीं हो पाती और आपके PNR Status में RAC देखने को मिलता है.

इसका मतलब यह होता है की अगर किसी का टिकट कैंसिल होता है या कन्फर्म नहीं हो पाता तब उस व्यक्ति को बैठने के लिए पूरी सीट मिलती है. अगर आपको RAC की जगह Waiting list दिख रहा है तो इस स्तिथि में रिजर्वेशन वाले कोच में नहीं बैठ सकते.

Train Me Sleeper Ka Matlab

ट्रैन में स्लीपर क्लास में आप बैठने के साथ सोकर भी यात्रा कर सकते है. ज्यादातर लोग लम्बी दुरी के सफर के लिए स्लीपर क्लास कोच का इस्तेमाल करते है. इसमें आप आराम से सोते हुए अपना सफर पूरा कर सकते है.

Train Me WL Ka Matlab

ट्रैन के टिकट में दिखाई देने वाला WL का मतलब Waiting List होता है. इसका मतलब जब तक उस व्यक्ति का टिकट क्लियर नहीं हो जाता तब तक वह बोर्डिंग नहीं कर सकता है.

कोई भी यात्री ट्रैन के चलने के 30 मिनट पहले तक Waiting List टिकट रद्द कर सकता है. अगर उस यात्री का टिकट कन्फर्म नहीं होता तो वह अपने आप से ही कैंसिल हो जाता है.

Train Me 2A Ka Matlab

ट्रैन में 2A कोच सेकंड एसी पैसेंजर यात्रा रिजर्वेशन क्लास को दर्शाता है.

Train Me D2 Ka Matlab

ट्रैन के जिस कोच का नंबर D की रेंज जैसे D1, D2, D3……D6, DL1 होता है वे सभी 2S के कोच होते है. इसमें लिमिटेड सीट्स होती है और लिमिटेड यात्री भी. अगर इसमें 60 सीटे होती है तो 60 से अधिक लोग इस कोच में सफर नहीं कर सकते है.

Train Me Complaint Kaise Kare

ट्रैन से जुडी कोई भी समस्यां या परेशानी के लिए आप भारतीय रेलवे के हेल्पलाइन नंबर 139 पर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते है और ट्रैन से जुडी अन्य जानकारी भी प्राप्त कर सकते है.

Train – FAQs
रेलगाड़ी का दूसरा नाम क्या है

रेलगाड़ी को हिंदी में “लौहपथ गमिनी” भी कहा जाता है. क्योकि यह लोहे के रास्तो पर चलती है.

उम्मीद करते है आपको हमारी यह पोस्ट Train Ka Avishkar Kisne Kiya और Train Kaise Chalti Hai पसंद आई होगी.

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर कर दीजिए और इस आर्टिकल से जुड़ा कोई भी सवाल हो तो उसे आप नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं.

Questions & Answer:
दोल ग्यारस या वामन एकादसी क्या है

दोल ग्यारस या वामन एकादसी क्या है,DolGyaras Ekadasi की पूजन विधि,महत्व

EducationKya Kaise
Tulsi Ke Patte Khane Se Kya Hota Hai और Tulsi Ka Patta खाने के फायदे और नुकशान

तुलसी के पत्ते खाने से क्या होता है – Tulsi Ka Patta खाने के फायदे और नुकशान

HealthKya Kaise
TLC Badhne Se Kya Hota Hai और TLC Badh Jaaye to Kya Karen

TLC बढ़ने से क्या होता है, बढ़ जाए तो क्या करें, बढ़ने के लक्षण, कारण

Health
Author :
प्रिये पाठक, आपका हमारी वेबसाइट Lipibaddh.com पर स्वागत है, इस वेबसाइट का काम लोगों को हिंदी भाषा में देश, विदेश एवं दैनिक जीवन में काम आने वाली जरुरी चीजों के बारे में जानकरी देना है.
Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *