Stethoscope का आविष्कार किसने किया, स्टेथोस्कोप के कार्य

| | 3 Minutes Read

इस पोस्ट में हम जानेंगे की Stethoscope Ka Avishkar Kisne Kiya Tha और Stethoscope Kaise Kaam Karta Hai साथ ही जानेंगे स्टेथोस्कोप क्या होता है और स्टेथोस्कोप के बारे में बताइए.

साथ ही पोस्ट में जानेंगे की स्टेथोस्कोप के पार्ट्स, उपयोग, किसने बनाया और स्टेथोस्कोप से क्या मापा जाता है. इन सब के बारे में इस पोस्ट में विस्तार से जानेंगे.

Stethoscope Ka Avishkar Kisne Kiya

Stethoscope का आविष्कार French डॉक्टर René Laennec ने किया था. उनके द्वारा 1816 में इस आविष्कार को किया था. इन्होंने सबसे पहले दो बच्चों को एक बम्बू की लकड़ी के टुकड़े और पिन के साथ खेलते हुए देखा था वे दोनों बच्चे लकड़ी के दोनों तरफ अपने कान लगाकर सुन रहे थे.

उन्होंने देखा जब एक लड़का पिन से लकड़ी के एक हिस्से को खरोंचता है तो लकड़ी के दूसरी तरफ वाले हिस्से में उससे जोरदार आवाज सुनाई देती है. बस इसी तरह उन्होंने एक स्टेथोस्कोप का आविष्कार किया था.

इनके द्वारा बनाया गया यह स्टेथोस्कोप की मदद से केवल एक कान से दिल की धड़कन को सुना जा सकता था. बाद में समय के साथ-साथ इसमें कई तरह के परिवर्तन हुए. अब इसकी मदद से दोनों कानो से दिल की धड़कन को सुना जा सकता है.

Stethoscope Ki Khoj Kisne Ki

स्टेथोस्कोप की खोज का श्रेय René Laennec को दिया जाता है जिन्होंने सबसे पहले बाम्बू लकड़ी की मदद से एक लड़की के दिल की धड़कन को सुना था.

Stethoscope Ke Part

  • Diaphragm
  • Bell
  • Stem
  • Chest Piece
  • Rubber Tube
  • Binaural Spring
  • Eartube
  • Earpieces
Stethoscope Kaise Kaam Karta Hai

Stethoscope एक चिकित्सकीय उपकरण है जो किसी भी जीव (इंसान, जानवर, पक्षी) की आंतरिक ध्वनि (फेफड़े, हृदय और आंत) को सुनने के लिए इस्तेमाल किया जाता है. कई बार हृदय की गति और दिल की धड़कन की वजह से भी समस्याएं हो जाती है, इसलिए सबसे पहले स्टेथोस्कोप से दिल की धड़कन सुनी जाती है.

स्टेथोस्कोप ध्वनि के परावर्तन के सिद्धांत पर काम करता है. जिसमें रोगी के दिल की धड़कन की ध्वनि, ध्वनि के बहुविध परावर्तन के कारण ही डॉक्टर के कान में पहुंच पाती है.

सबसे पहले स्टेथोकोप को हाथ में लेकर इसके earpiece को कानों में लगाया जाता है वही हमें दिल की धड़कन सुनाई देती है. अब इसके डायाफ्राम को मरीज की छाती पर रखा जाता है और छाती के आसपास की आवाज को सुना जाता है.

Stethoscope Ka Upyog

स्टेथोस्कोप का उपयोग हृदय, फेफड़े और आंतों के द्वारा आने वाली धड़कन को सुनने में किया जाता है. Stethoscope दिल की धड़कन को सुनने में मदद करता है ताकि उस हिसाब से मरीज की समस्याएं को समझा जा सके.

Stethoscope Kya Hai

Stethoscope या परिव्राजक एक ऐसा उपकरण है जिसकी मदद से किसी भी बीमार या रोगी इंसान की दिल की धड़कन या रक्त संचार का पता लगाया जाता है. यह एक चिकित्सकीय उपकरण है जो डॉक्टर द्वारा रोगियों की दिल की धड़कन को मापने के लिए इस्तेमाल किया जाता है.

Stethoscope Kise Kahate Hain

डॉक्टर द्वारा किसी भी मरीज की दिल की धड़कन को नापने और उसकी गति का पता लगाने के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला उपकरण स्टेथोस्कोप कहलाता है.

Stethoscope Kisne Banaya

स्टेथोस्कोप को एक फ्रेंच डॉक्टर René Laennec द्वारा साल 1816 में बनाया गया था.

Stethoscope Se Kya Mapa Jata Hai

स्टेथोस्कोप से दिल की धड़कन को सुना और मापा जाता है.

उम्मीद करते है आपको हमारी यह पोस्ट Stethoscope Ka Avishkar Kisne Kiya Tha और Stethoscope Kaise Kaam Karta Hai पसंद आई होगी.

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर कर दीजिए और इस आर्टिकल से जुड़ा कोई भी सवाल हो तो उसे आप नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर के पूछ सकते हैं.

Author:

Hello!! दोस्तों मेरा नाम Sameer है. मैं lipibaddh.com का Writer हूँ. मुझे हिंदी में Inventions से जुड़ी जानकारी पर Blogs लिखना पसंद है. मैं इन Blogs की मदद से आप तक सभी नए पुराने Inventions/ आविष्कार की जानकारी पहुंचाना चाहता हूँ. मेरा आपसे निवेदन है की आप इसी तरह मेरा सहयोग देते रहें और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों के साथ मेरे लिखे Content को शेयर करें. मैं आप सभी के लिए Latest जानकारियाँ उपलब्ध करवाता रहूँगा.

Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *