Cycle का आविष्कार किसने किया, साइकिल का आविष्कार कब हुआ

| | 3 Minutes Read

इस पोस्ट में हम जानेंगे Cycle Ka Avishkar Kisne Kiya और Cycle Ka Aavishkar Kab Hua Tha साथ ही जानेंगे साइकिल कितने की आती है और साइकिल के बारे में 10 लाइन लिखिए.

साथ ही पोस्ट में जानेंगे की साइकिल कंपनी के नाम, इसके पार्ट्स और साइकिल के बारे में जानकारी दीजिए. इन सब के बारे में इस पोस्ट में विस्तार से जानेंगे.

Cycle Ka Aavishkar Kisne Kiya

Cycle का आविष्कार Germany के वन अधिकारी Mr. Karl Von Drais ने किया था. दुनिया की इस पहली साइकिल का Invention आज से लगभग 200 साल पहले 1817 में हुई थी. Karl Von Drais Biedermeier काल के एक प्रसिद्ध आविष्कारक थे. इन्होने साइकिल के अलावा और भी अविष्कार किए थे.

Cycle Ka Aavishkar Kab Hua Tha

साइकिल का आविष्कार 19वीं सदी के मध्य में हुआ था. पहली साइकिल का आविष्कार 1817 में Karl Von Drais ने एक लकड़ी की पलकी को दो पैडलों और एक Gear Mechanism के साथ संयुक्त किया था. हालांकि यह पहली साइकिल थी, लेकिन इसका उपयोग सड़कों पर करना संभव नहीं था.

इसके बाद वास्तविक Cycle का आविष्कार 1860 में फ्रेंच इंजीनियर पियर मिचो की द्वारा किया गया था. उन्होंने दो पंखे वाली चार व्हील्स वाली एक संयुक्त वाहन का निर्माण किया जिसे वह वेलोसिपेड (Velocipede) नामकीता. इसके बाद 1885 में जॉन केमिंस ने स्टील के स्पोक्स और रबर टायर्स के साथ मॉडर्न साइकिल का आविष्कार किया था.

भारत में साइकिल का आविष्कार कब हुआ

भारत में साइकिल का आविष्कार 1942 में हुआ था. साइकिलों के निर्माण की प्रक्रिया और तकनीक में सुधार 20वीं शताब्दी से भारत में उपलब्ध करवाइ गई थी. ग्रामीण क्षेत्रों में साइकिलों का विशेषकर बड़ा प्रचार हुआ था. यह आसानी से उपयोग किया जाने वाला सस्ता साधना था.

साइकिल का आविष्कार किस देश में हुआ

साइकिल का आविष्कार पहली बार जर्मनी में किया गया था.

Cycle Ki Khoj Kisne Ki

साइकिल की खोज कर्ल ड्रैसे नामक जर्मन इंजीनियर द्वारा की गई थी.

Cycle Ke Bare Mein
  1. साइकिल एक यातायात का साधन होता है जिसे कही भी आना जाना किया जा सकता है.
  2. साइकिल को चलाने के लिए इसमें पेडल और मोड़ने या घुमाने के लिए हैंडल होता है.
  3. साइकिल की मदद से कम दुरी की जगह पर जल्दी पंहुचा जा सकता है.
  4. साइकिल कई तरह के कलर में आती है.
  5. साइकिल पर बैठने के लिए इसमें सीट लगी होती है.
  6. साइकिल चलाने के लिए किसी भी तरह के ईंधन की आवश्यकता नहीं होती है.
  7. साइकिल में गति नियंत्रण के लिए ब्रेक लगे होते है जिसकी मदद से रुका जा सकता है.
  8. साइकिल को बच्चे से लेकर बड़े तक सभी प्रकार के लोग चलाते है.
  9. साइकिल चलाने से पर्यावरण को किसी भी तरह का नुकसान नहीं होता है और ना ही प्रदुषण फैलता है.
  10. 3 जून 2018 से प्रत्येक वर्ष इसी दिनांक को विश्व साइकिल दिवस के रूप में मनाया जाता है.
साइकिल का आविष्कार कब हुआ

दुनिया में सबसे पहले साइकिल का आविष्कार जर्मनी में साल 1817 में हुआ था.

साइकिल की खोज किसने की थी

सबसे पहले साल 1817 में साइकिल बनी थी जिसका नाम ड्रेसियेन रखा गया था. यह पूरी तरह से लकड़ी से बनी हुई साइकिल थी.

साइकिल का आविष्कार कब हुआ और किसने किया

दुनिया की पहली पैडल वाली साइकिल का आविष्कार साल 1863 में फ़्रांस के एक मैकेनिक Pierre Lallement ने किया था.

Cycle Ke Parts Ke Naam

मड गार्ड, पैडल, पहिया, बालबेयरिंग, ब्रेक, गियर, घंटी, वॉल्व, टायर, चालक जंजीर, ट्यूब आदि.

उम्मीद करते हैं आपको हमारी पोस्ट Cycle Ka Aavishkar Kisne Kiya और Cycle Ka Aavishkar Kab Hua Tha पसंद आई होगी.

अगर आपको हमारा यह Article पसंद आया तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर करें और अगर इस Article से जुड़ा कोई सवाल हो तो उसे नीचे दिए Comment Box में पूछ सकते हैं.

Author:

Hello!! दोस्तों मेरा नाम Sameer है. मैं lipibaddh.com का Writer हूँ. मुझे हिंदी में Inventions से जुड़ी जानकारी पर Blogs लिखना पसंद है. मैं इन Blogs की मदद से आप तक सभी नए पुराने Inventions/ आविष्कार की जानकारी पहुंचाना चाहता हूँ. मेरा आपसे निवेदन है की आप इसी तरह मेरा सहयोग देते रहें और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों के साथ मेरे लिखे Content को शेयर करें. मैं आप सभी के लिए Latest जानकारियाँ उपलब्ध करवाता रहूँगा.

Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *