Blood Infection कैसे होता है, ब्लड इंफेक्शन कैसे ठीक करें, लक्षण

| | 3 Minutes Read

क्या आप भी Blood Infection से जुड़े सवालों के जवाब ढूंढ रहे हैं, अगर हाँ, तो आप सही जगह हैं. आज मैं आपको इस Article में बताऊंगा Blood Infection Kaise Hota Hai और Blood Infection Kaise Thik Hota Hai.

इसके साथ ही मैं आपको Blood Infection से जुड़े और भी सवालों के जवाब दूंगा जैसे कि Blood Infection के लक्षण, Blood Infection कितने दिन में ठीक होता है, Blood Infection में क्या खाना चाहिए इत्यादि की पूरी जानकारी विस्तार में जानेंगे.

Blood Infection Kaise Hota Hai

1. Blood Infection कई तरह से इंसानों में फ़ैल सकता है. इसमें HIV, Hepatitis B और C, Dengue इत्यादि जैसे रोग होते हैं.

2. खाद्य संक्रमण से भी रक्त संक्रमण हो सकता है. यहां इंसान खाद्य पदार्थों से संक्रमित होता है. यह साल्मोनेला और ई. कोली जैसे कीटाणुओं के संक्रमण से होता है.

3. कुछ बीमारियाँ जैसे कि मलेरिया, डेंगू, परिनामक कीटाणुओं के संक्रमण से रक्त संक्रमण होता है.

4. अस्पताल या क्लिनिक में उपचार प्राप्त करते समय भी संक्रमण हो सकता है. इसमें अगर Doctor एक ही Syring कई मरीजों के लिए इस्तेमाल करता है तो  Blood Infection हो सकता है.

5. नासूर, चोट, सर्जरी इत्यादि के दौरान संक्रमण से रक्त संक्रमण हो सकता हैं.

6. दंतो की संक्रमण से भी संक्रमण होता है और कभी-कभी ये संक्रमण रक्त में प्रवेश कर सकते हैं.

Blood Infection Kaise Thik Hota Hai

1. रक्त संक्रमण का मुख्य इलाज एंटीबायोटिक्स होता है. एंटीबायोटिक्स व्यक्ति को नस के माध्यम से दिए जाते हैं.

2. रक्त संक्रमण के कारण शरीर में तरल पदार्थ की कमी होती है. इसलिए, व्यक्ति को IV तरल पदार्थ दिए जाते हैं ताकि शरीर में खून की संख्या और तरल पदार्थ की स्थिति सुधार सके.

3. रक्त संक्रमण के कारण रक्तचाप गिरता है. इसलिए, ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने के लिए दवाएं दी जाती हैं.

4. रक्त संक्रमण के कारण ऑक्सीजन का स्तर भी कम होता है. ऑक्सीजन थेरेपी की मदद से ऑक्सीजन सपोर्ट दिया जाता है.

5. रक्त संक्रमण के गंभीर मामलों में, सर्जन द्वार संक्रमण को विशेष स्थान को निकालना या शोधित करना अनिवार्य होता है.

6. अगर रक्त संक्रमण के कारण शरीर के किसी अंग में नुकसान होता है, तो उस अंग के खून की सफाई करना जरूरी है. जैसे कि: Dialysis (किडनी के लिए), Ventilator (सांस लेने के लिए) इत्यादि.

Blood Me Infection Ke Lakshan

1. बुखार एक आम संकेत है कि शरीर में संक्रमण है. यदि बुखार अधिक दिन तक बना रहे और कोई लक्षण भी दिखे तो इसका करण संक्रमण होता है.

2. कंपकंपी या झनझनाहट बुखार के साथ होता है और संक्रांति के संकेत होते हैं.

3. असामान्य या असमान्य थकन संक्रमन के लक्षण होते हैं. व्यक्ति शरीर में थकावत महसुस करते हैं.

4. सर दर्द संक्रमण के एक लक्षण होते हैं.

5. कमजोरी और शरीर में सुस्ती भी संक्रमण के लक्षण होते हैं.

6. रक्त में संक्रमण के कुछ कारण लीवर को प्रभावित करते हैं. इससे पीलिया जैसी समस्या हो सकती है. 

7. खून में खून की कमी (एनीमिया) हो सकती है. इसमें कमजोरी, थकन, शरीर का पिला रंग होना इत्यादि शामिल है.

8. यदि संक्रमण एक चोट या नासूर से हुआ है, तो संक्रमित जगह पर सुजान भी हो सकती है.

9. कुछ रक्त में संक्रमण के कारण पेट या पाचन तंत्र पर प्रभाव पड़ता है, जिससे उलटी और दस्त की समस्या हो सकती है.

Blood Infection Kitne Din Me Thik Hota Hai

ब्लड इन्फेक्शन का सही समय पर इलाज शुरु होने के बाद 7 से 10 दिन का समय लगता है. इन्फेक्शन का पता चलने के लगभग एक घंटे के भीतर एंटीबायोटिक उपचार की प्रक्रिया शुरू कर देनी चाहिए.

यदि सही समय पर इलाज नहीं किया गया तो स्थिति खराब हो सकती है. इससे शरीर के अंग काम करना बंद कर देते हैं. साथ ही इससे और भी कई समस्याएं पैदा होती हैं.

Blood Infection Ko Kaise Thik Kare

1. रक्त संक्रमण के लक्षण दिखने पर एक चिकित्सक से सम्पर्क करें. चिकित्सक रक्त परीक्षण और अन्य परीक्षण करके संक्रमण का पता लगाएंगे और उचित इलाज प्रदान करेंगे.

2. रक्त संक्रमण का इलाज एंटीबायोटिक दवाओ के द्वारा होता है. चिकित्सक दवाओ की प्रकृति, संक्रमन के कितनुओं के प्रकार, और रोग के गंभीरराय की आधार पर एंटीबायोटिक चयन करेंगे.

3. गंभीर रक्त संक्रमण के मामलों में, चिकित्सक अस्पताल में भर्ती होने की सलाह दे सकते हैं. अस्पताल में व्यवस्थित दवाओ और देखबहाल प्रदान किया जा सकता है.

4. रक्त संक्रमण के कारण शरीर में इलेक्ट्रोलाइट असंतुलन हो सकता है, इसलिए IV तरल पदार्थ दिए जाते हैं.

5. कुछ संक्रमण के मामलों में सर्जरी के लिए सर्जरी की जरूरत होती है.

6. रक्त संक्रमण के लक्षणों को शांत करने और रोग के प्रभाव को कम करने के लिए, व्यवस्थित रोगसूचक उपचार किया जाता है. इसमे बुखार, कंपकंपी, और किसी भी लक्षण को कम करने वाली दवाओ का इस्तमाल किया जा सकता है.

7. रक्त संक्रमण के कारण खून की कमी हो सकती है, क्योंकि आयरन या रक्त आधान की जरूरत होती है.

8. रक्त संक्रमण को रोकने के लिए रक्त संक्रमण का व्यवस्थित नियमन किया जाता है. इसमें टीकाकरण, सुरक्षित सेक्स, और सुरक्षा उपायों का पालन महत्वपूर्ण है.

Blood Infection Me Kya Khana Chahiye

1. प्रोटीन आपके शरीर के संक्रमण से पैदा करें और बीमारप्रति प्रतिरोध बनाने में मदद करता है. इस तरह प्रोटीन युक्त भोजन जैसे कि दूध, दही, पनीर, दाल, अंडा, मछली, सोयाबीन, और मटन खाना फ़ायदेमंद हो सकता है.

2. फल और सब्जियाँ आपको विटामिन, खनिज, और एंटीऑक्सीडेंट प्रदान करती हैं जो आपके शरीर के स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण हैं. खट्टे फल (जैसे की नारंगी, मौसंबी, और आंवला) और हरी सब्जी (जैसी की पालक, मेथी, और ब्रोकोली) संक्रांति के खिलाफ प्रतिरक्षक काम करती हैं.

3. विटामिन सी शरीर के प्रतिरोध तंत्र को बड़ा बनाता है. इसके लिए आप कच्चे आंवला, नींबू का रस, और संतरे का रस का सेवन कर सकते हैं.

4. एंटीऑक्सीडेंट (जैसे कि विटामिन ई और सेलेनियम) भी आपके शरीर को संक्रमण से लड़ने में मददगार होते हैं. इसके लिए आप नट्स (मेवा), अलसी (अलसी), और चिया सीड्स का सेवन कर सकते हैं.

5. डिहाइड्रेशन को रोकने और शरीर को साफ रखने के लिए अधिक पानी पीना जरूरी है. इसे आपके शरीर के संस्कार को काम करने में मदद मिलती है.

6. गरम पानी और हर्बल चाय, जैसी अदरक और तुलसी वाली चाय, आपके शरीर को गर्मी देने में मदद करते हैं और स्वास्थ्य को सुधारने में सहायक हो सकते हैं.

7. कोई भी ताला हुआ, मसाला युक्त, या बहुत तीखा, मसालादार, या चटपटा खाने से बचे. आपको पक्का और स्वादिष्ट भोजन खाना चाहिए जो आपके शरीर को पोषण देने में मदद करे.

उम्मीद करते हैं आपको हमारी पोस्ट Blood Infection Kaise Hota Hai और Blood Infection Kaise Thik Hota Hai पसंद आई होगी.

अगर आपको हमारा यह Article पसंद आया तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर करें और अगर इस Article से जुड़ा कोई सवाल हो तो उसे नीचे दिए Comment Box में पूछ सकते हैं.

Author:

Hello!! दोस्तों मेरा नाम Shalini है. मैं lipibaddh.com की Writer हूँ. मुझे हिंदी में Health और Drinks Blogs लिखना पसंद है. मैं इन Blogs की मदद से आप तक सभी अगल-अलग Drinks और Health से जुड़ी जानकारी पहुंचाना चाहती हूँ. मेरा आपसे निवेदन है की आप इसी तरह मेरा सहयोग देते रहें और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों के साथ मेरे लिखे Content को शेयर करें. मैं आप सभी के लिए Latest जानकारियाँ उपलब्ध करवाती रहूँगी.

Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *